सीतापुर  

(Search results - 9)
  • अंतिम संस्कार के दौरान भी बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी मौजूद थे। गांव पुलिस छावनी में तब्दील हो गया था। अंतिम संस्कार के बाद पुलिस पीड़िता के चाचा को वापस रायबरेली जेल ले गई।

    News5, Aug 2019, 8:56 AM IST

    कुलदीप सिंह सेंगर के गांव में पुरुष छोड़ने लगे हैं घर

    रविवार को ही सीबीआई की टीम ने उन्नाव में कुलदीप सिंह सेंगर के भाई बहन समेत कई रिश्तेदारों के वहां पर छापा मारा। इस दौरान सीबीआई ने कई दस्तावेज भी बरामद किए। वहीं सीबीआई की टीम ने कई ग्रुप बनाकर गांव वालों से पूछताछ भी की। लेकिन अब गांव वाले सीबीआई के खौफ के कारण गांव को छोड़ रहे हैं।

  • यह है मामला: पीड़िता ने आरोप लगाया था कि 2017 में नौकरी दिलाने के बहाने कुलदीप सेंगर ने अपने घर पर उसके साथ रेप किया था। घटना के करीब सालभर बाद अप्रैल 2018 में लड़की ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निवास के बाहर आग लगाकर जान देने की कोशिश की थी।

    News30, Jul 2019, 11:12 AM IST

    उन्नाव गैंगरेप के आरोपी भाजपा विधायक कुलदीप की बदली जा सकती है जेल, कई मोबाइल जांच के घेरे में

    सीतापुर जेल में बंद भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की जेल बदली जा सकती है। उन्हें इलाहाबाद या फिर अन्य जेल में शिफ्ट किया जा सकता है। फिलहाल पुलिस कुछ सदिंग्ध मोबाइल नंबरों की जांच कर रही है जो उस दिन सीतापुर जेल के आसपास सक्रिय थे।

  • News15, Jul 2019, 9:55 AM IST

    यूपी, बिहार और असम में बाढ़ से भारी तबाही, लेकिन बारिश के लिए अब तक तरस रही दिल्ली

    जहां राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली बारिश की बूंदों के लिए तरस रही है वहीं देश के कई हिस्सों में ज्यादा बारिश की वजह से प्रलय की स्थिति पैदा हो गई है। यूपी बिहार औऱ असम के कई इलाकों में इतना ज्यादा पानी बरसा है कि वहां बाढ़ आ गई है। 
     

  • Women voters in Sitapur UP

    News6, May 2019, 6:10 PM IST

    सीतापुर में महिला मतदाताओं का मतदान प्रतिशत बढ़ा

    उत्तर प्रदेश के सीतापुर में महिला मतदाताओं में बहुत ज्यादा जागरूकता दिखी। यहां मतदान में सभी धर्मों की महिलाओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। 

  • Man-eater dogs killed five-year-old boy in Sitapur district in uttar Pradesh

    News15, Mar 2019, 9:24 AM IST

    सीतापुर में आदमखोर कुत्तों का आंतक, पांच साल के बच्चे को नोंच-नोंचकर मार डाला

    राजधानी लखनऊ से सटे सीतापुर जिले में आदमखोर कुत्तों का आंतक फिर शुरू हो गया है। आदमखोर कुत्तों ने एक पांच साल के मासूम बच्चे को नोंच-नोंचकर मार डाला। इस घटना के बाद इस इलाके में भय व्याप्त हो गया है। 

  • sitapur

    News11, Jan 2019, 1:38 PM IST

    रिश्वत लेते वन विभाग का कर्मचारी कैमरे में कैद

    यहां पर काम करने वाला एक चौकीदार रिश्वत लेते कैमरे में कैद हो गया। बताया जा रहा कैमरे में कैद चौकीदार सीतापुर के कार्टरगंज रेंज में तैनात है। देखें वीडियो।
     

  • Subodh Kumar Singh

    News8, Dec 2018, 11:10 AM IST

    बुलंदशहर हिंसा मामले में एसपी समेत 3 पुलिस अफसरों का तबादला

    एसपी कृष्ण बहादुर सिंह की जगह सीतापुर के एसपी प्रभाकर चौधरी को बुलंदशहर का नया एस एसपी बनाया गया है। सीओ सत्य प्रकाश को पुलिस ट्रेनिंग सेंटर मुरादाबाद, जबकि एसआई सुरेश कुमार को ललितपुर भेजा गया है।

  • yogi trouble

    News6, Oct 2018, 12:30 PM IST

    बेलगाम खाकी की बगावत ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी की मुश्किलें बढ़ाई

    यूपी में पुलिसवालों की बगावत का दायरा बढ़ रहा है। कल तक विवेक तिवारी के हत्यारोपी सिपाही के समर्थन में सिपाहियों के विद्रोह की खबरें आ रही थीं। लेकिन अब तीन थाना प्रभारियों(एसएचओ) पर हुई कार्रवाई से पता चलता है, कि विद्रोह कहां तक पहुंच चुका है। इससे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। 

  • modi

    Nation24, Jul 2018, 12:12 PM IST

    मीडिया के एक तबके द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बदनाम करने की साजिश का पर्दाफाश

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में देश भर के गांवों में सौभाग्य विद्युतीकरण योजना का लाभ पाने वाले लोगों से संवाद किया था। इस कड़ी में पीएम मोदी ने यूपी के सीतापुर के रेउसा ब्लॉक के भरथ गांव के लोगों से भी बात की थी और योजना से उन्हें हुए लाभ की जानकारी ली थी। हालांकि मीडिया के एक धड़े ने कार्यक्रम से एक दिन पहले ही कुछ रिपोर्टरों को इस गांव में भेजा और पांच-छह कथित असंतुष्ट गांववालों के बात की। उनकी कोशिश यह साबित करने की थी कि गरीब गांववालों के घर में जबरन बिजली के कनेक्शन लगाए गए और फिर उन्हें अनापशनाप बिल भेज दिया गया। इनमें एक मामला एक लाख रुपये से ऊपर के बिल का भी था। हालांकि पूरी रिपोर्ट के दौरान यह नहीं बताया गया कि 10 दिन पहले ही गांव में कैंप लगाकर प्रत्येक ग्रामीण के बिल से जुड़ी समस्याएं दूर कर दी गईं थीं। ऐसे में अपने एजेंडे के तहत खबरें दिखा रहे समाचार चैनलों पर कैसे भरोसा किया जा सकता है?