हिन्दू  

(Search results - 26)
  • Varanasi guru poornima

    News16, Jul 2019, 2:09 PM IST

    महान आध्यात्मिक नगरी काशी में गुरु पूर्णिमा पर सांप्रदायिक सद्भाव का नजारा

     मुस्लिम महिलाओं ने गुरू महंत बालक दास की आरती उतारी और रामनामी दुपट्टा भेंट किया। मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के पूर्वांचल प्रभारी एवं महानगर संयोजक ने गुरू बालक दास को माल्यार्पण कर सलामी पेश की। मुस्लिम समुदाय के लोगों ने गुरूपूर्णिमा पर अपने गुरू को सम्मान देकर यह संदेश दिया कि धर्म और जाति से ऊपर होता है गुरू। गुरू वही है जो सच्चे मन से इंसानियत, मानवता और देशभक्ति का पाठ पढ़ाता हो। जो नफरत फैलाता है, समाज और देश तोड़ने की बात करता है वह किसी का गुरू नहीं हो सकता।
     

  • 8 seats of western UP for Lok sabha election 2019

    News3, Apr 2019, 1:45 PM IST

    पहले चरण में पश्चिमी उत्तर प्रदेश की आठ सीटो पर कांटे की टक्कर

    जात-पात की लीक पर चलने वाले पश्चिमी उत्तरप्रदेश में जहां बीजेपी "मोदी" की विश्वसनीयता और पांच साल की उपलब्धियों पर प्रचार कर रही है, वहीं जातीय गठजोड़ से बना "साथी" बीजेपी के खिलाफ "दलित और गरीब  विरोधी" होने का प्रचार कर रहा है|  पर देखना ये होगा कि इस बार उत्तर प्रदेश में नॉन-अपर कास्ट हिन्दू किसे वोट करेगा जिसका वोट 2014 में बीजेपी की झोली में गिरा था | 

  • Views1, Apr 2019, 6:25 PM IST

    वायनाड सीट हो सकती है राहुल के लिए सुरक्षित, लेकिन कांग्रेस को पड़ सकती है भारी

    वायनाड जिला वायनाड संसदीय क्षेत्र नहीं है। इसमें वायनाड एवं मल्लप्पुरम की तीन-तीन विधानसभा क्षेत्र और कोझिकोड की एक विधानसभा सीट आती है। मल्लपुरम की आबादी में 70.04 प्रतिशत मुस्लिम एवं 27.5 प्रतिशत हिन्दू हैं। यहां 2 प्रतिशत ईसाई भी हैं। 
    अगर वायनाड लोकसभा क्षेत्र के समीकरण को देखें तो यहां 56 प्रतिशत मुसलमान एवं 44 प्रतिशत हिन्दू एवं ईसाई हैं। यहां कुल 13 लाख 25 हजार मतदाता हैं। कांग्रेस के नेतृत्व वाली संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा यानी यूडीएफ में इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग भी शामिल है जिसका यहां अच्छा प्रभाव है। यहां की मुस्लिम आबादी राहुल के लिए इसे सुरक्षित सीट बना देती है।

  • Views25, Mar 2019, 4:44 PM IST

    अब क्या कहेंगे हिन्दू आतंकवाद का शिगूफा खड़ा करने वाले लोग

    न्यायालय के फैसलों और टिप्पणियों को स्वीकार कर हमें मान लेना चाहिए कि पिछले सालों में हिन्दू आतंकवाद, भगवा आतंकवाद का जो मुहावरा गढ़ा गया उसके पीछे केवल राजनीतिक दुर्भावना काम कर रही थी। स्वामी असीमानंद सहित कर्नल पुरोहित, साध्वी प्रज्ञा आदि उसी के शिकार थे। केन्द्र की यूपीए सरकार की पहल पर 26 जुलाई 2010 को मामला एनआईए को सौंपा गया था। स्वामी असीमानंद को उसके बाद में आरोपी बनाया गया।

  • Two communities clash in order to remove Shiva barat

    News4, Mar 2019, 2:37 PM IST

    शिव बारात निकालने को लेकर दो समुदायों में झड़प

     समिति ने एक दिन पहले से जिस रास्ते से शिव बारात निकलेगी उस रास्ते को पूरी तरह सजा दिया गया। किला दरवाजे को भी समिति द्वारा पुतवाया गया। जिसकी शिकायत एसडीपीआई के जिलाध्यक्ष नजम इकबाल ने पुलिस को करते हुए कहा कि शिव बारात के नाम पर हिन्दू समाज के लोगों ने पुरातत्व विभाग की धरोहर से छेडछाड की है। इसी बात को लेकर विवाद हो गया और दोनों समुदायों में झड़प हो गई

  • Dy CM Keshav Pd Maurya

    News31, Jan 2019, 8:15 PM IST

    धर्म संसद ने निकलकर डिप्टी सीएम ने कुछ ऐसी दी प्रतिक्रिया

    तीर्थराज प्रयाग में  संगम की रेती पर विश्व हिन्दू परिषद द्धारा चल रहे दो दिवसीय धर्म संसद में जहां तमाम साधु संतों का जमावड़ा रहा। विहिप की धर्म संसद में किसी भी राजनीतिक दल के शख्स को मंच साझा नही करने का ऐलान विहिप की तरफ से किया गया था। 

  • Avdhesh Kumar Ram Mandir Supreme court

    Views31, Jan 2019, 5:04 PM IST

    'अयोध्या में गैर विवादित जमीन वापस करने की सरकार की अपील संवैधानिक रुप से उचित है'

    अयोध्या मामले में नरेन्द्र मोदी सरकार उच्चतम न्यायालय में पहली बार उपस्थित हुई है। हालांकि ऐसे अनेक अवसर थे जिसमें केन्द्र सरकार अपने वकीलों के माध्यम से उपस्थित हो सकती थी। ऐसा किया जाता तो मामला किसी परिणामकारी मुकाम पर पहुंच चुका होता। हम इसमें राजनीति तलाश सकते हैं। जिस तरह संघ, विहिप एवं साधु-संत तथा आम हिन्दू अयोध्या मामले के न्यायालय में लंबा खींचने और उसमें केन्द्र के निरपेक्ष रहने पर नाखुशी और आक्रोश व्यक्त कर रहा है उसे नजरअंदाज करना केन्द्र के लिए जोखिम भरा है। किंतु इस पहलू पर बहस करने की जगह हम केन्द्र के मौजूदा कदम पर विचार करें। 

  • Russian adopted Hinduism

    News22, Jan 2019, 6:52 PM IST

    रूस से आये 13 यहूदियों ने अपनाया हिन्दू धर्म, विदेशों में करेंगे हिंदू धर्म का प्रचार

    हिंदू धर्म और संस्कृति से आकर्षित हो कर रूस के 13 लोगों ने आज हिंदू धर्म को अपनाया. इन लोगों का कहना है कि सभी धर्मों में से हिंदू धर्म अच्छा है. अब ये लोग अपने देशों में जाकर हिंदू धर्म का प्रचार करें. इन लोगों ने भिवानी के जहरगिरी मंदिर में अपने धर्म को बदलकर हिंदू धर्म को अपनाया है.

  • kumbh

    News15, Jan 2019, 10:44 AM IST

    कुंभ में मकर संक्रांति के दिन स्नान को लेकर संतों ने क्या कहा ?

    मकर संक्रांति के मौके पर हिन्दू धर्म के साधु-संन्यासी पहले शाही स्नान के लिए पहुंचे स्नान के समयकाल में अमृत और साध्य योग रहेगा। इस काल में किए गए स्नान, दान से अधिक पुण्य मिलेगा। शास्त्रों के अनुसार सूर्यास्त के बाद किसी भी समय मकर संक्रान्ति होने पर संक्रान्ति का पुण्य काल दूसरे दिन सूर्योदय से मध्याह्न तक रहता है।

  • News15, Jan 2019, 10:28 AM IST

    प्रयागराज में उमड़ा आस्था का सैलाब, पहले शाही स्नान पर संतों ने लगाई आस्था की डुबकी

    तीर्थराज प्रयाग में महाकुंभ 2019 के पहले शाही स्नान मकर संक्रांति के मौके पर हिन्दू धर्म के साधु-संन्यासी पहले शाही स्नान के लिए पहुंचे हैं

  • Giriraj Singh

    News5, Jan 2019, 11:51 AM IST

    राम मंदिर को लेकर किए गए गिरिराज सिंह के इस ट्वीट से गर्मायी सियासत

    गिरिराज सिंह ने कहा था कि देश का दुर्भाग्य है कि हिन्दुओं को प्रताड़ित होना पड़ा। आजादी के तुरंत बाद हिन्दू-मुस्लिम के नाम पर देश का बंटवारा हुआ। उस समय अगर कांग्रेस हिन्दुओं के आस्था का केंद्र प्रभु श्री राम का मंदिर बनवा दी होती तो आज यह दुर्दशा नहीं होती।

  • Threat to siddhu in Agra

    News5, Dec 2018, 4:16 PM IST

    सिद्धू के सर पर एक करोड़ का ईनाम

    आगरा में नवजोत सिंह सिद्धू का सिर कलम करने पर एक करोड़ का इनाम रखा है। यह ऐलान हिन्दू युवा वाहिनी के लोगों ने किया है। इस दक्षिणपंथी संगठन के लोगों ने सिद्धू के आगरा आने पर बोटी बोटी काट देने की धमकी भी दी है।

  • bhu

    News27, Nov 2018, 10:24 AM IST

    महामना मदन मोहन मालवीय के पौत्र गिरधर मालवीय बने बीएचयू के नए कुलाधिपति

    महामना पंडित मदन मोहन मालवीय की इस बगिया के कुलाधिपति बनने की दौड़ में कई नाम शामिल थे लेकिन अंत में सहमति उनके पौत्र जस्टिस गिरधर मालवीय के नाम पर बनी।

  • Is not Indian secularism continuing with colonial anti-Hindu agenda

    Views16, Nov 2018, 6:16 PM IST

    क्या भारत में औपनिवेशिक काल की हिंदू विरोधी मानसिकता वर्तमान धर्मनिरपेक्ष नीतियों में झलक रही है?

    हिंदूओं को इस समस्या का समाधान केवल तभी मिल सकता है जब हिंदू इसके खिलाफ आवाज उठाए और उन धर्मनिरपेक्षवादियों को बाहर निकालें जिनके पास स्पष्ट रूप से एक हिंदू विरोधी एजेंडा है।  अन्यथा भारत में हर हिंदू मंदिर, प्रत्येक हिन्दू त्यौहार और कुंभ मेले जैसे आयोजनों को धर्मनिरपेक्ष दिशानिर्देश के आधार पर कुछ हिंदू विरोधी गुटों द्वारा प्रभावित किया जाएगा।