2022  

(Search results - 34)
  • <p>उत्तर प्रदेश के पशुधन विभाग में करोड़ों के घोटाले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ी कार्रवाई की है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले में दो सीनियर IPS डीआईजी रूल्स और मैनुअल दिनेश दुबे और डीआईजी PAC अरविंद सेन को सस्पेंड कर दिया है।</p>

    News26, Aug 2020, 8:07 AM

    यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले सियासी दलों का होगा टेस्ट, योगी सरकार ने दिए संकेत

    राज्य में ये चुनाव अगले साल के पहले तीन महीने में होते हैं तो ये राज्य सरकार और विपक्षी दलों के लिए एक टेस्ट होंगे। क्योंकि 2022 में विधानसभा चुनाव होने हैं और जो इन  चुनावों में अच्छा प्रदर्शन करेगा। उसके लिए विधानसभा चुनाव  की राह आसान होगी। 

  • ನವಜೋತ್‌ ಸಿಂಗ್ ಸಿಧು

    News3, Jun 2020, 6:44 PM

    पंजाब में कैप्टन के खिलाफ खड़े हो सकते हैं सिद्धू, आप डाल रही है डोरे

    पंजाब में कांग्रेस की राजनीति में फिलहाल सिद्धू अलग थलग पड़े हुए हैं और कैप्टन अमरिंदर सिंह के रहते हुए सिद्धू को कांग्रेस में वो जगह नहीं मिल सकती है।  जिसकी हसरतें उन्होंने पाली हैं। सिद्धू पार्टी से नाराज चल रहे हैं और इस बात को उन्होंने अभी तक खुल नहीं किया है। लेकिन पार्टी ने सिद्धू की नाराजगी कम करने लिए दिल्ली विधानसभा  चुनाव में स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल किया था। 

  • undefined

    News15, Mar 2020, 10:57 AM

    भाजपा को 22 से घेरेगी सपा, फिलहाल शिवपाल पर नहीं हुआ फैसला

    सपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक आगामी चुनाव के लिए रणनीति तैयार की गई है। जिसके तहत पार्टी जिला स्तर पर ब्लाक स्तर पर भाजपा सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेगी।  पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा राज्य सरकार ने झूठे वादे करके लोगों को धोखा दिया है। सपा ने  फैसला किया है कि पार्टी के नेता और कार्यकर्ता 22 तारीख को विरोध प्रदर्शन करेंगे।

  • undefined

    News2, Mar 2020, 12:06 PM

    मार्च में राजनैतिक दल का ऐलान करेगी भीम आर्मी, बसपा को दिया पहला झटका

    उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को लखनऊ के डालीबाग में नजरबंद किया है। लेकिन भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर ने कहा है कि 15 मार्च को वह राजनीतिक पार्टी का ऐलान करेंगे। हालांकि चंद्रशेखर ने ये नहीं बताया कि वह इसकी घोषणा कहां करेंगे इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी।

  • undefined

    News27, Jan 2020, 7:07 PM

    दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा के लिए अच्छी खबर, अकाली दल ने किया फैसला

    फिलहाल शिअद पंजाब में 2022 को होने वाले विधानसभा चुनाव मिलकर लड़ेंगे। क्योंकि दोनों के बीच काफी पुराना गठबंधन है। वहीं शिअद ने केन्द्र की भाजपा सरकार को समर्थन दिया है और लोकसभा चुनाव भी शिअद भाजपा के साथ मिलकर लड़े थे। शिअद के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि दोनों दल राज्य में विधानसभा चुनाव मिलकर लड़ेंगे। 

  • पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

    News3, Nov 2019, 1:34 PM

    उपचुनाव की सफलता के बाद पार्टी को मजबूत करने में जुटे अखिलेश

    फिलहाल अखिलेश ने सबसे पहले संगठनात्मक ढांचे को मजबूत बनाने की कवायद शुरू की है। राज्य में हुए विधानसभा उपचुनाव में सपा 11 में से 3 सीटें जीतने में कामयाब रही। जबकि भाजपा खाते में 8 सीटें आई वहीं बसपा एक भी  सीट नहीं जीत पाई। जिसके बाद पार्टी को लग रहा कि करीब ढाई साल बाद होने वाले चुनाव में  मुख्य मुकाबला भाजपा और सपा के बीच में ही होगा। लिहाजा अभी से पार्टी चुनाव में जुट गई है।

  • undefined

    News27, Oct 2019, 12:01 PM

    कार्यकर्ताओं में जोश भरने को फिर साइकिल में पैडल मारेंगे अखिलेश

    असल में अखिलेश यादव को ये बात समझ में आ गई है कि अब आने वाले विधानसभा चुनाव में असल लड़ाई भाजपा और  सपा की है। क्योंकि उपचुनाव में जिस तरह से जनता ने नतीजे दिए हैं। वह किसी भी हाल में भाजपा के पक्ष में नहीं है। क्योंकि भाजपा सत्ताधारी पार्टी है और उसके बाद भी उसे एक सीट का नुकसान हुआ है जबकि सपा को तीन सीटें मिली हैं। उसकी कुल सीटों में दो सीटों का इजाफा हुआ है।

  • अजय कुमार लल्लू

    News9, Oct 2019, 9:15 AM

    ओबीसी के फार्मूले पर 2022 के लिए मैदान में उतरी कांग्रेस, कभी दिहाड़ी मजदूरी करने वाले लल्लू पर खेला दांव

    असल में अजय कुमार लल्लू को कांग्रेस में एक जुझारू नेता के तौर पर जाना जाता था। उनके राजनैतिक जीवन में एक वक्त ऐसा भी आया कि उन्हें अपना घर चलाने के लिए दिल्ली में दिहाड़ी मजदूरी भी करनी पड़ी। यही नहीं कांग्रेस ने लल्लू पर दांव इसलिए भी खेला क्योंकि वह पिछड़ी जाति से आते हैं। जिस पर सभी राजनैतिक दल दांव खेल रहे हैं। भाजपा ने हाल ही में प्रदेश की कमान स्वतंत्र देव सिंह को दी है। वह भी पिछड़ी जाति से आते हैं।

  • undefined

    News16, Sep 2019, 8:55 AM

    प्रियंका बना रही हैं योगी सरकार के खिलाफ कांग्रेस का रोडमैप

    लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली हार के बाद प्रियंका गांधी का फोकस उत्तर प्रदेश में है। वह राज्य में सक्रिय हो रही हैं और संगठन को भी सक्रिय करने की जुगत में है। लिहाजा इसके लिए उन्होंने एक टीम बनाई है जो उत्तर प्रदेश के हर जिले से कांग्रेस संगठन का फीडबैक ले रही है। फिलहाल राज्य में जिला और शहर ईकाईयों को लोकसभा चुनाव के बाद भंग कर दिया था। लिहाजा इन्हें जल्द ही सक्रिय किया जाएगा।

  • Cbi raid in Akhilesh Yadav close former minister in amethi

    News10, Sep 2019, 2:22 PM

    हाथ न हाथी अब अखिलेश करेंगे अकेले साइकिल की सवारी

    पांच महीने पहले हुए लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद अखिलेश यादव ने आगामी चुनावों में किसी भी राजनैतिक दल के साथ नहीं करने का फैसला किया है। पार्टी की कमान अपने हाथों में लेने के बाद अखिलेश यादव ने विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के साथ और लोकसभा चुनाव के लिए उन्होंने बहुजन समाज पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल के साथ गठबंधन किया था। 

  • yogi with maya

    News2, Sep 2019, 2:48 PM

    यूपी में 2022 से यूपी में राजनैतिक दलों की हैसियत बताएंगे उपचुनाव

    राज्य में 13 विधानसभा सीटों पर जल्द ही उपचुनाव होने हैं। एक सीट के लिए चुनावा आयोग ने तारीख की घोषणा कर दी है। जबकि 12 सीटों पर जल्द ही चुनाव की घोषणा होनी है। ऐसे में सभी राजनैतिक दलों ने अपने अपने प्रत्याशियों के नामों का ऐलान कर दिया। इस मामले में सबसे पहले बसपा ने इन सीटों के लिए प्रत्याशियों की घोषणा की है जबकि सपा ने एक सीट पर नाम घोषित किया है जबकि भाजपा ने किसी को प्रत्याशी नहीं बनाया है।

  • Yogi will dochange the move, character and face of the government through cabinet reshuffle in

    News23, Aug 2019, 8:17 PM

    विपक्षी उपचुनाव में उलझे तो भाजपा चली ‘मिशन 2022’ की राह

    योगी सरकार सभी समीकरणों को साधने हुए और 2022 के विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए कैबिनेट का विस्तार किया है। इस विस्तार के जरिए योगी आदित्यनाथ ने नेताओं और मंत्रियों को ये संदेश दिया है कि जो कार्य करेगा उसे सम्मान भी दिया जाएगा। लिहाजा इसी लिए जिन मंत्रियों का रिपोर्ट कार्ड खराब था उन्हें कैबिनेट से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया जबकि कुछ मंत्रियों के विभागों को बदलकर संदेश दिया गया कि वो सुधर जाएं।

  • शुक्रवार को मीडिया से चर्चा करते हुए योगी ने कहा कि सोनभद्र की घटना दुर्भाग्‍यपूर्ण है। 1955 से 1989 तक यह जमीन आदर्श सोसायटी के नाम पर थी। 1989 में बिहार के एक आईएएस के नाम पर कर दिया जो गलत था। हालांकि वे इस पर कब्जा नहीं कर पाए। 2017 इसे ग्राम प्रधान को बेच दिया गया।  उधर, मामले को लेकर विपक्षी दलों ने विधानसभा के अंदर जमकर हंगामा किया है। विपक्षी सदस्‍य विधानसभा अध्‍यक्ष हृदय नारायण दीक्षित के आसन तक पहुंच गए। उस समय मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ मामले पर अपना बयान दे रहे थे।

    News19, Jul 2019, 12:52 PM

    सोनभद्र नरसंहार को लेकर धरने पर बैठीं प्रियंका गांधी, विधानसभा में भी हंगामा

    आज सबसे पहले प्रियंका गांधी वाराणसी पहुंचीं, जहां उन्होंने बीएचयू के ट्रामा सेंटर में भर्ती इस नरसंहार में घायलों का हाल जाना। प्रियंका ने घायलों को हरसंभव मदद देने का वादा भी किया। इसके बाद प्रियंका पूरे लाव लश्कर के साथ सोनभद्र के लिए निकली। लेकिन उन्हें मिर्जापुर में ही रोक लिया गया और जिले में 144 की धारा की जानकारी देते हुए आगे नहीं जाने दिया।

  • Raj babbar will removed from congress state president in uttar Pradesh, Priyanka Gandhi indicated

    News15, Jul 2019, 5:36 PM

    प्रियंका के यूपी प्रभारी बनने के बाद राजबब्बर की होगी छुट्टी

    प्रियंका ने कहा कि पिछले कई सालों से यूपी में कांग्रेस के संगठन को मजबूत बनाने के लिए कुछ नहीं किया गया। जिन नेताओं को जिम्मेदारी दी गयी, उन्होंने सिर्फ और सिर्फ कमरों में बैठकर पार्टी को मजबूत किया है। यूपी मे राजबब्बर करीब तीन साल से ज्यादा वक्त से प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाले हुए हैं। उन्हीं के नेतृत्व में पार्टी ने यूपी विधानसभा में अब तक सबसे खराब प्रदर्शन किया है जबकि लोकसभा चुनाव में पार्टी महज एक सीट ही जीत पायी है।

  • after Rahul Gandhi resignation congress Priyanka Gandhi power give Uttar Pradesh charge

    News15, Jul 2019, 3:55 PM

    राहुल गांधी के इस्तीफे के बीच कांग्रेस में बढ़ा प्रियंका का कद, बनी यूपी प्रभारी

    असल में राज्य में लोकसभा का चुनाव प्रियंका के नेतृत्व में ही लड़ा गया था। हालांकि पार्टी ने परिवारवाद के आरोपों से बचने के लिए मध्य प्रदेश के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को पश्चिमी उत्तर प्रदेश का प्रभारी नियुक्त किया था। लेकिन प्रचार का जिम्मा केवल प्रियंका के ऊपर ही थी। यहां तक कि अमेठी और रायबरेली में राहुल गांधी और सोनिया गांधी महज अपने नामांकन के दौरान ही दिखे।