// Temp comment this bcz its will help stop page_view double calls // Temp comment this bcz its will help stop page_view double calls

Mysterious news

कहां है वो चमत्कारी मंदिर, जहां भूत-प्रेत भी मांगते हैं रहम की भीख?

Image credits: Getty

राजस्थान में ये चमत्कारी मंदिर

मेहंदीपुर बालाजी हनुमानजी के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है। ये मंदिर राजस्थान के दौसा जिले में स्थित है। खास बात ये है कि इस मंदिर में भूत-प्रेत से पीड़ित लोगों की भीड़ लगी रहती है।
 

Image credits: Facebook

यहां आते हैं भूत-प्रेत से पीड़ित लोग

मंदिर की सीमा में प्रवेश करते ही ऊपरी हवा से पीडि़त व्यक्ति झूमने लगता हैं और लोहे की सांकलों से स्वयं को मारने लगता है। भूत-प्रेत भी यहां रहम की भीख मांगते नजर आते हैं।
 

Image credits: Getty

डर सकता है कोई भी इंसान

यहां का दृश्य देखकर कोई भी आदमी डर से कांपने लगता है। चारों और भूत-प्रेत बाधा से पीड़ित लोग लोहे की जंजीरों से बंधे हुए नजर आते हैं, तो कईं मंदिर परिसर में ही लोट लगाते दिखते हैं।
 

Image credits: Getty

जितना प्रसिद्ध उतना रहस्यमयी

ये मंदिर जितना प्रसिद्ध है उतना ही रहस्यमयी भी है। मंदिर से कई मान्यताएं जुड़ी हैं। आरती शुरू होते ही भूत-प्रेत से पीड़ित लोग झूमने लगते हैं। ये दृश्य कमजोर दिल वाले नहीं देख सकते।

Image credits: Facebook

1 हजार साल पुरानी है प्रतिमा

मान्यता है कि हनुमानजी का ये मंदिर करीब एक हजार साल पुराना है। इस मंदिर में स्थित बजरंग बली की बालरूप मूर्ति किसी कलाकार ने नहीं बनाई बल्कि यह स्वंयभू और चमत्कारी है।

 

Image credits: Facebook

प्रसाद घर लाने की मनाही

कहते हैं कि मेहंदीपुर बालाजी का प्रसाद कभी घर नहीं लाना चाहिए। जो व्यक्ति ऐसा करता है, उसके घर में भी भूत-प्रेत बाधा होने लगती है। इसलिए ये गलती कोई भी नहीं करता।
 

Image credits: Facebook

इन नियमों का पालन जरूरी

जो भी व्यक्ति मेंहदीपुर बालाजी मंदिर आता है, उसे एक सप्ताह तक अंडा, मांस, शराब, लहसुन और प्याज छोड़ना पड़ता है। ये नियम यहां आने वाले सभी भक्तों के लिए होता है।
 

Image credits: facebook
Find Next One