ज्योतिरादित्य  

(Search results - 42)
  • बता दें कि सिंधिया के स्वागत में भाजपा कार्यालय में राज्य के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष बीडी शर्मा, पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और भारतीय जनता पार्टी के कई बड़े नेता मौजूद थे।

    Views27, Mar 2020, 11:29 AM IST

    एमपी में खत्म होने की कगार पर है कांग्रेस, दोहरा रहा है इतिहास

    सिंधिया परिवार हमेशा से ही भारतीय जनता पार्टी के पूर्ववर्ती भारतीय जनसंघ का प्रमुख संरक्षक रहा है।  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के साथ भी उनका बहुत अच्छा संबंध रहा है। जिवाजीराव सिंधिया ज्योतिरादित्य सिंधिया के दादा थे और वह अंतिम मराठा राजा थे और इसके साथ ही उनके जवाहर लाल नेहरू के साथ अच्छे रिश्ते थे। 1961 में जीवाजी राव और 1964 में नेहरू की मौत के बाद राजमाता विजया राजे सिंधिया ने भ्रष्ट वंशवादी पार्टी में वापस रहने का कोई कारण नहीं देखा।

  • बता दें कि सिंधिया के स्वागत में भाजपा कार्यालय में राज्य के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष बीडी शर्मा, पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और भारतीय जनता पार्टी के कई बड़े नेता मौजूद थे।

    News24, Mar 2020, 3:21 PM IST

    एमपी में सरकार बनते ही सिंधिया को दिया शिवराज सरकार ने 'तोहफा', जानें क्या है मामला

    सिंधिया के कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद प्रदेश कांग्रेस इकाई में एक विद्रोह शुरू हो गया और सिंधिया के 22 विधायक ने राज्य की कमलनाथ सरकार से समर्थन वापस ले लिया था।  सिंधिया ने 10 मार्च को कांग्रेस छोड़ी थी और उसके बाद वह भाजपा में शामिल हो गए। 

  • shivraj

    News13, Mar 2020, 8:58 AM IST

    क्या महाराज और शिवराज का मुकाबला कर पाएंगे कांग्रेस के कमलनाथ

    कमलनाथ सरकार पर संकट गहराया हुआ है। पार्टी में सिंधिया के करीबी माने जाने वाले 22 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है और इसके कारण राज्य में कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई है। हालांकि कमलनाथ का दावा है कि उनकी सरकार को कई खतरा नहीं है और कांग्रेस विधायकों को भाजपा ने बंधक बनाया हुआ है। कमलनाथ का ये भी दावा है कि वह सदन में बहुमत साबित कर देंगे।

  • एक तरफ जहां महिलओं ने सिंधिया के स्वागत में डांस  किया तो वहीं दूसरी और बुजुर्गों ने फूलों की माला पहनाई।

    News13, Mar 2020, 8:36 AM IST

    भाजपा में शामिल होते ही सिंधिया के खिलाफ फिर खुला जालसाजी का मामला

    ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने और बुधवार को भाजपा में शामिल होने के बाद राज्य सरकार ने ये फैसला किया है। सिंधिया के भाजपा में जाने के बाद राज्य की कमलनाथ सरकार पर संकट के बादल छाए हुए हैं और राज्य सरकार अल्पमत में आ चुकी है। लिहाजा राज्य सरकार ने पुराने मामले को खोलते हुए सिंधिया की मुश्किलें बढ़ा दी हैं।

  • কমলনাথ মুখ্যমন্ত্রী হওয়ার পর মধ্যপ্রদেশের প্রদেশ কংগ্রেস সভাপতির পদটা তাঁকে দেওয়া হবে আশা করেছিলেন জ্যোতিরাদিত্য। কিন্তু মুখ্যমন্ত্রীর কুর্সিতে কমল নাথএক বছর কাটিয়ে ফেলার পরেও জ্যোতিরাদিত্য সিন্ধিয়া প্রদেশ কংগ্রেস সভাপতির পদ পাননি।

    News12, Mar 2020, 9:29 PM IST

    राहुल को हुई सिंधिया की चिंता, जानें क्या बोले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष

     सिंधिया ने कांग्रेस को अलविदा कर भाजपा का दामन थाम लिया है। सिंधिया के साथ की मध्य प्रदेश के 22 विधायकों ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है। जिसके बाद मध्य प्रदेश कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई है। सिंधिया कांग्रेस में काफी अरसे से उपेक्षित चल रहे थे। हालांकि पिछले दिनों उन्होंने कांग्रेस नेतृत्व को अपनी नाराजगी बताई थी।

  • undefined

    News12, Mar 2020, 3:31 PM IST

    मध्य प्रदेश के बाद हरियाणा में बगावत की आहट, सोनिया के करीबी नेता ने दिखाए बागी तेवर

    कांग्रेस पहले से ही मध्य प्रदेश को लेकर मुश्किल में हैं वहीं अब हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और सोनिया गांधी के करीबी माने जाने वाले भूपेंद्र हुड्डा ने पार्टी के सामने बड़ी शर्त रख दी है। जिसको लेकर कांग्रेस आलाकमान अप पसोपेश में है।

  • undefined

    Nation11, Mar 2020, 5:14 PM IST

    कांग्रेस से नाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया हुए भाजपा में शामिल, जानिए उनके परिवार का इतिहास

    स्वागत है आपका माय नेशन में, मेरा नाम है अमल चौधरी और आज हम बात करेंगे मध्य प्रदेश में चल रहे सियासी उठापटक की और इस सबके बीच बात करेंगे ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनके परिवार के इतिहास के बारे में भी जो इस वक्त न केवल मध्य प्रदेश बल्कि पूरे देश में चर्चा का विषय बना हुआ है.

  • sanjay Nirupam

    News11, Mar 2020, 3:01 PM IST

    निरूपम ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं पर निकाली भड़ास, की रिटायरमेंट की वकालत

    सिंधिया के पार्टी  छोड़ने के बाद कलह एक बार फिर उभर कर रही है। निरुपम ने कहा कि कि पार्टी को अपने सीनियर नेताओं को जबरन रिटायरमेंट दे देना चाहिए। क्योंकि पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की अनदेखी के कारण ही सिंधिया ने पार्टी को अलविदा कहा। निरुपम ने एक बार फिर राहुल गांधी को कमान सौंपे जाने की वकालत की।

  • Scindia Thumb

    News10, Mar 2020, 9:10 AM IST

    मध्य प्रदेश में अगर भाजपा की सरकार बनी तो शिवराज सीएम, सिंधिया केन्द्र में बनेंगे कैबिनेट मंत्री!

    मीडिया  रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि राज्य के सियासी हालत को देखते हुए मंगलवार शाम भाजपा  विधायक दल की बैठक हो सकती है और इसमें शिवराज सिंह चौहान विधायक दल का नया नेता चुना जा सकता है। इससे पहले कांग्रेस के बागी विधायक सरकार से समर्थन वापस लेने का ऐलान करेंगे। जिसके बाद राज्य में भाजपा की सरकार का रास्ता साफ होगा।

  • kamal nath

    News10, Mar 2020, 9:09 AM IST

    मध्य प्रदेश में कमलनाथ की 'हिटलरशाही' से जाएगी कांग्रेस की सत्ता

    कमलनाथ ने दिल्ली में सोनिया गांधी से मुलाकात की। लेकिन सोनिया गांधी ने भी अपने हाथ पीछे खींच लिए हैं। क्योंकि सोनिया गांधी का मानना है कि राज्य में जो भी हो रहा है। उसकी सबसे बड़ी वजह कमलनाथ ही हैं। क्योंकि पिछले एक साल के दौरान कमलनाथ ने राज्य में सरकार अपने मत मुताबिक चलाई। वहीं संगठन को भी अपने इशारे पर चलाया। जिसके कारण राज्य में बगावत हुई है।

  • undefined

    News2, Mar 2020, 5:45 AM IST

    क्या सरकार बचाने के लिए सिंधिया के साथ आएंगे कमलनाथ

    मध्यप्रदेश से राज्यसभा की तीन सीट खाली हो रही हैं।  इसमें एक सीट भाजपा के खाते में जाना तय है जबकि दो सीटें कांग्रेस के खाते में जाएंगी। लेकिन कांग्रेस की मुश्किल ये है कि इन दो सीटों पर दावेदारों की कमी नहीं है। पिछले दिनों कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों का दावा था कि आलाकमान ने सिंधिया को राज्यसभा में भेजने का आश्वासन दिया है।

  • Kamalnath withdraw Security from rss Headquarter, Digvijay Singh Request To CM to Restore it

    News18, Feb 2020, 6:36 AM IST

    तो क्या दिग्गी राजा और कमलनाथ खत्म कर देंगे सिंधिया का सियासी कैरियर

    राज्य में राज्यसभा की तीन सीटें खाली हो रही हैं। इसमें एक सीट पर दिग्विजय सिंह दावेदार हैं तो एक सीट पर सिंधिया अपनी दावेदारी कर रहे हैं। हालांकि एक सीट भाजपा के खाते में जाएगी। वहीं कांग्रेस के खाते के दो सीटों में दावेदार ज्यादा है। अब तो एक सीट के लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को भी बड़ा दावेदार माना जा रहा है।  इसके जरिए कमलनाथ समर्थक सिंधिया को मात देना चाहते हैं।

  • Jyotiraditya Scindia

    News17, Feb 2020, 6:48 AM IST

    जानें कौन उठा रहा है कमलनाथ और सिंधिया के बीच के वार का फायदा

    असल में सिंधिया और कमलनाथ के बीच चल रही जंग आज की नहीं है। सिंधिया राज्य में अपने लिए सम्मानजनक पद चाहते हैं। वहीं गुना में लोकसभा चुनाव हार जाने के बाद सिंधिया की आलाकमान के सामने हैसियत भी कम हुई है। लिहाजा वह राज्यसभा की सीट के साथ ही प्रदेश कांग्रेस की कमान अपने हाथ में रखना चाहते हैं।

  • undefined

    News16, Feb 2020, 9:49 AM IST

    कमलनाथ की सिंधिया को दो टूक, एमपी में कांग्रेस के दिग्गजों के बीच बढ़ रहा है विवाद

    फिलहाल राज्य में पार्टी की सरकार बनने के बाद से ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ के बीच मतभेद जारी है। वहीं आज राज्य के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपनी सरकार के खिलाफ आंदोलन शुरू करने की ज्योतिरादित्य सिंधिया की धमकी का जवाब दिया है। कमलनाथ ने कहा कि पार्टी महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया राज्य में ऋण माफ करने के अपने वादे को निभाने के लिए सरकार को मजबूर करने के लिए सड़कों पर उतरने के लिए स्वतंत्र हैं।

  • Jyotiraditya Scindia

    News15, Feb 2020, 1:13 PM IST

    एमपी में ज्योतिरादित्य और कमलनाथ के बीच फिर निकली म्यानों से तलवारें , दस जनपथ तक पहुंचा मामला

    मध्य प्रदेश में कांग्रेस के दो गुट एक बार फिर आमने सामने हैं। एक दिन पहले ही कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा था कि अग राज्य सरकार जनता से किए वादे पूरे नहीं करती है तो वह जनता के पक्ष में सड़कों पर उतरेंगे। हालांकि सिंधिया और कमलनाथ की दुश्मनी जगजाहिर है और दोनों एक दूसरे के खिलाफ मोर्चा खोलते रहते हैं।