डीआरडीओ  

(Search results - 16)
  • kali weapon

    Nation20, Aug 2019, 4:23 PM IST

    जानिए क्यों भारत के गुप्त हथियार 'काली' का नाम सुनते ही थर्राने लगते हैं चीन और पाकिस्तान

    'काली' यह नाम भारतीयों के लिए अजनबी नहीं है। क्योंकि इस नाम से हम संहार और युद्ध की देवी की उपासना सदियों से करते आए हैं। लेकिन इसके अलावा एक 'काली' और है, जिसका नाम सुनते ही चीन और पाकिस्तान थर्राने लगते हैं। यह भारत का एक गुप्त हथियार है, जिसे भारतीय एजेन्सियों बार्क और डीआरडीओ ने मिलकर विकसित किया है। भले ही कश्मीर मामले को लेकर पाकिस्तान और चीन दोनों गुस्ताखियां करने पर उतारु हैं। लेकिन हम भारतीयों को घबराने की जरुरत नहीं है।  क्योंकि काली हमारे इन दोनों बड़े दुश्मनों को एक साथ संभाल सकता है।
     

  • DRDO Qrsam

    News5, Aug 2019, 8:24 AM IST

    दुश्मन के टैंकों और जहाजों का होगा तुरंत नाश, डीआरडीओ ने किया मिसाइल का सफल परीक्षण

    रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन यानी डीआरडीओ ने ओडिशा के बालासोर में जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल का सफल परीक्षण किया है। यह त्वरित कार्रवाई करने में सक्षम मिसाइल है, जो कि दुश्मन के टैकों और विमानों को तुरंत नष्ट कर देगी। 
     

  • salute to Kalam  : Before his demise he gave idea on missile re use, now the Modi Government is doing the work

    News27, Jul 2019, 1:24 PM IST

    कलाम को सलाम: निधन से पहले मिसाइलों के दोबारा उपयोग की तकनीक का दिया था आइडिया, अब मोदी सरकार कर रही है काम

    इस बात का खुलासा सतीश रेड्डी ने किया है। रेड्डी उस वक्त रक्षा मंत्री के वैज्ञानिक सलाहकार थे। उनकी जब एपीजे अब्दुल कलाम से मुलाकात हुई तो उन्होंने रेड्डी से मिसाइलों को दोबारा उपयोग में लाने की प्रणामी पर काम करने को कहा था। उन्होंने अपनी मौत के महज एक महीने पहले इस प्रणाली पर काम करने को कहा था। रेड्डी पहली बार बतौर एक युवा वैज्ञानिक 1986 में कलाम से मिले थे।

  • nag missile

    News20, Jul 2019, 8:24 AM IST

    देखिए कैसे भारत का 'नाग' पल भर में तबाह कर देगा चीन और पाकिस्तान के टैंक

    भारत की टैंक रोधी नाग मिसाइल का सफल परीक्षण राजस्थान के पोरखण रेंज में संपन्न हो गया। इस मिसाइल का गर्मियों का ट्रायल 7 से 18 जुलाई तक चला है। साल के अंत तक इसका उत्पादन शुरु हो जाएगा। नाग मिसाइल दुश्मन के टैंक को एक ही पल में तबाह करने में सक्षम है। 
     

  • MRSAM Missile

    News18, May 2019, 1:21 PM IST

    भारतीय नौसेना की बड़ी कामयाबी: सतह से ही गिरा देगी दुश्मन के जहाज और मिसाइलें

    भारतीय नौसेना ने बड़ी उपलब्धि हासिल की है। अब उसके पास यह ताकत आ चुकी है कि हवाई रास्ते से हमला करने आ रहे दुश्मन के जहाज और मिसाइल को सतह से ही तबाह कर दे। इसके लिए नौसेना ने सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल का परीक्षण किया, जो कि पूरी तरह सफल रहा। 

  • News15, Apr 2019, 2:25 PM IST

    1000 किलोमीटर तक मार करने वाली 'निर्भय' मिसाइल का सफल परीक्षण

     पाकिस्‍तान, चीन समेत कई देश इस मिसाइल की जद में है। यह मिसाइल कुछ सेकेंड में ही दुश्‍मन देशों के किसी भी इलाके को नेस्‍तानाबूद करने में सक्षम है। यह मिसाइल 200 से 300 किलोग्राम तक वॉरहेड ले जा सकती है।

  • Views7, Apr 2019, 8:33 PM IST

    पाकिस्तान और देशविरोधियों पर आंख मूंदकर यकीन करने वाले इस तमाचे को हमेशा याद रखें

    एक अमेरिकी पत्रिका की झूठी रिपोर्ट को आधार बनाकर पाकिस्तान ने दावा किया कि उसका कोई एफ16 विमान भारत ने नहीं गिराया है। हमारी पत्रकार बिरादरी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के ट्वीट को तो फॉलो करती ही है। बस, धड़ाधड़ समाचार फ्लैश कर दिया गया। हमने यह भी नहीं सोचा कि यह पाकिस्तान की कुटिल नीति हो सकती है। हमारे लिए अमेरिकी पत्रिका, इमरान खान सच और अपनी वायुसेना झूठी हो गई।   इसी तरह  नासा ने मिशन शक्ति को बेहद खतरनाक बताते हुए कहा था कि इसकी वजह से अंतरिक्ष की कक्षा में करीब 400 मलबे के टुकड़े फैल गए हैं। लेकिन डीआरडीओ अध्यक्ष जी सतीश रेड्डी ने स्वयं सामने आकर नासा के वक्तव्य को तथ्यों के साथ खारिज कर दिया। आखिर कब तक हम अपनों की बात खारिज करके दूसरों पर भरोसा करते रहेंगे। 
     

  • Priyanka Gandhi Vadra

    News28, Mar 2019, 8:09 AM IST

    अब प्रियंका गांधी बोलीं, देश में दियासलाई से लेकर मिसाइल तक सबकुछ कांग्रेस की देन

    अमेठी दौरे पर पहुंची प्रियंका ने कहा, हमें डीआरडीओ पर गर्व है। अगर नेहरूजी ने इसकी स्थापना न की होती तो ऐसा नहीं हो पाता। 

  • MP ATGM

    News14, Mar 2019, 7:14 PM IST

    पाकिस्तान को बर्बाद करने के लिए डीआरडीओ कर रहा है कुछ इस तरह तैयारी

    जहां सीमा पर पाकिस्तान की गुस्ताख हरकतें बढ़ती जा रही हैं। वहीं भारत में उसे सबक सिखाने की तैयारी भी तेज हो रही है। पिछले कुछ दिनों में डिफेन्स रिसर्च एंड डेवलपमेन्ट ऑर्गेनाइजेशन यानी डीआरडीओ ने एक के बाद एक लगातार ऐसे कई घातक हथियारों का परीक्षण किया। जिनका इस्तेमाल किया जाए तो पाकिस्तानी फौज बर्बाद हो जाएगी। 

  • News11, Oct 2018, 2:11 PM IST

    सैन्य प्रतिष्ठानों तक ब्रह्मोस कर्मियों की पहुंच पर कड़ी पाबंदियां लगाने की तैयारी

    सरकार के एक वरिष्ठ सूत्र ने 'माय नेशन' को बताया, 'यह देखने में आया है कि ब्रह्मोस के कई कर्मचारियों के पास रक्षा प्रतिष्ठानों तक जाने के लिए कार्ड होते हैं, जबकि ये लोग डीआरडीओ के कर्मचारी नहीं हैं। इन कार्डों से ये लोग रक्षा मंत्रालय और दूसरे रक्षा प्रतिष्ठानों में आते-जाते रहते हैं।'

  • whole world is about to steal the information of BrahMos

    News10, Oct 2018, 8:01 PM IST

    जानिए क्यों भारत के ब्रह्मोस के पीछे पड़ी है पूरी दुनिया

    भारत की सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस से पाकिस्तान और चीन ही नहीं अमेरिका भी घबराया हुआ है। इस बात का सबूत देती हैं दो घटनाएं। जिसमें से एक घटना दो दिन पहले की है और दूसरी आज यानी बुधवार की है। इन दोनों घटनाओं से खुलासा होता है, कि कैसे चीन,पाकिस्तान और अमेरिका ब्रह्मोस से जुड़ी जानकारियां हासिल करने के लिए बेताब हैं। 

  • Rahul gandhi

    News1, Oct 2018, 6:58 PM IST

    राफेल पर फिर फंसे राहुल

    निविदा में शामिल सभी बड़े खिलाड़ियों, जैसे कि टाटा, महिंद्रा, गोदरेज, सार्वजनिक क्षेत्र की बीईएल, एचएएल, स्नेक्मा-एचएएल में से डीआरडीओ को सफ्रान के साथ कावेरी जेट इंजन विकसित करने की परियोजना का सबसे बड़ा अनुबंध प्राप्त होगा। 

  • News8, Sep 2018, 1:41 PM IST

    वायुसेना की बढ़ेगी ताकत, तेजस में हवा में ईंधन भरने का परीक्षण सफल

    देश में बना हल्का लड़ाकू विमान तेजस एक और कसौटी पर खरा उतरा है। हवा में तेजस की रीफ्यूलिंग का सफल परीक्षण किया गया है। आईएल-78 एमकेई टैंकर से तेजस एमके-1 में ईंधन भरा गया। यह डीआरडीओ, एचएएल की जबरदस्त कामयाबी है। इससे एक बार उड़ान के बाद तेजस की मारक क्षमता बढ़ जाएगी। वायुसेना 123 तेजस खरीदने पर विचार कर रही है। 
     

  • News29, Aug 2018, 4:55 PM IST

    सरकार के इस कदम से और मजबूत होगी देश की सुरक्षा

    अस्त्र मिसाइल को रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने मुख्य लड़ाकू विमानों जैसे सुखोई-30 और एलसीए तेजस के लिए विकसित किया है। यह दुश्मन देशों के विमानों को 60-70 किलोमीटर की दूरी से मार गिराने के लिए हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल प्रणाली है। 

  • News25, Aug 2018, 4:38 PM IST

    प्रख्यात मिसाइल वैज्ञानिक जी सतीश रेड्डी बने डीआरडीओ के प्रमुख

    रेड्डी अभी  रक्षा मंत्री के वैज्ञानिक सलाहकार के पद पर हैं। इसके अलावा वह डीआरडीओ की सामरिक मिसाइल प्रणाली इकाई के भी प्रमुख हैं। यानी वह अग्नि सीरीज की मिसाइलों और देश की दूसरी परमाणु क्षमता वाली मिसाइल प्रणालियों का विकास करने वाली इकाई के इंचार्ज हैं।