नेहरु  

(Search results - 23)
  • shyama

    News6, Aug 2019, 3:10 PM IST

    'जहां बलिदान हुए मुखर्जी, वह कश्मीर अब भारत का है'

    जम्मू कश्मीर में धारा 370 और उसके विशेष राज्य का दर्जा खत्म करना भारतीय जनता पार्टी के लिए राजनीति से ज्यादा भावनात्मक मुद्दा था। क्योंकि यह मुद्दा उन्हें अपनी विचारधारा के पुरोधा श्यामा प्रसाद मुखर्जी से विरासत में हासिल हुआ था। यह वही डॉ. मुखर्जी हैं जिनका नाम  संसद में बहस के समय गृहमंत्री अमित शाह सहित कई बीजेपी नेताओं ने बार बार लिया। आईए आपको बताते हैं कि केन्द्र सरकार के वर्तमान कदम से श्यामा प्रसाद मुखर्जी का क्या रिश्ता था। आखिर क्यों उनके इस सपने को पूरा करने के नाम पर भाजपा ने इतना बड़ा रिस्क लिया। 
     

  • News23, Jul 2019, 5:27 PM IST

    जेएनयू जैसे प्रतिष्ठित संस्थान में रैगिंग, बिहारी होना जुर्म बताकर कर दी पिटाई

    देश के सबसे प्रतिष्ठित संस्थानों में एक नई दिल्ली के जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय में क्षेत्रीय भेदभाव का मामला सामने आया है। इस घटना में एक छात्र के साथ मात्र इसलिए गलत व्यवहार किया क्योंकि वह बिहार का रहने वाला था। 
     

  • വിവാദങ്ങൾ വിട്ടൊഴിയാത്ത രാഷ്ട്രീയജീവിതം -  മഹാവിജയത്തിന്‍റെ പടയോട്ടത്തിനിടെ ഇരുണ്ട ഇടനാഴികളുമുണ്ടായിരുന്നു അമിത് ഷായുടെ രാഷ്ട്രീയ ജീവിതത്തിൽ

    News1, Jun 2019, 12:23 PM IST

    तो इसलिए पीएम मोदी ने अमित शाह को बनाया है गृहमंत्री, जानिए 5 प्रमुख वजहें

    इस बार की मोदी सरकार का सबसे नाटकीय घटनाक्रम रहा अमित शाह का मंत्रिमंडल में होना। जब शपथ दिलाई जा रही थी तो पीएम मोदी के बाद अमित शाह का नंबर तीसरा था। लेकिन जब पोर्टफोलियो की घोषणा हुई तो शाह दूसरे नंबर पर दिखाई दिए। उन्हें गृहमंत्री बनाया गया जो प्रधानमंत्री के बाद दूसरे नंबर का सबसे अहम पद है। दरअसल अमित शाह को गृहमंत्री बनाने की कुछ खास वजहें हैं। आईए जानते हैं

  • PM Modi cultivated Purvanchal region now focused Awadh through stormy rally

    Views23, May 2019, 10:40 PM IST

    इस बार की जीत से नेहरु और इंदिरा के बाद मोदी ने बनाया यह रिकॉर्ड

    302 सीटें हासिल करके बीजेपी ने इतिहास रच दिया है। 2019 की जीत बीजेपी के लिए ऐतिहासिक इसलिए भी है क्योंकि नेहरु और इंदिरा के अलावा किसी की भी पूर्ण बहुमत सरकार दोबारा चुनकर नहीं आई थी। इस मायने से पीएम मोदी का नाम इतिहास में दर्ज हो गया क्योंकि उन्होंने जनता का पूरा भरोसा दोबारा हासिल किया। यह एक प्रधानमंत्री के तौर पर यह नरेन्द्र मोदी की बड़ी निजी सफलता है। 

  • gandhi and godse

    Views16, May 2019, 3:29 PM IST

    जानिए कब हुआ था आजाद भारत का पहला नरसंहार

    अभिनेता से राजनेता बने कमल हासन ने महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे के बहाने पूरे हिंदू समुदाय पर निशाना साधा है। लेकिन हासन ने यह नहीं बताया कि गांधी जी की हत्या के बाद उनके तथाकथित अहिंसक अनुयायियों ने कितने क्रूर तरीके से हिंसा फैलाई थी। जिसमें हजारों बेकसूर लोगों की जान चली गई थी। यह आजाद भारत का पहला नरसंहार कहा जाता है। लेकिन इसे सरकारी हस्तक्षेप के कारण दबा दिया गया। 

  • Close bureaucrats disclosed truth of Rajiv Gandhi visit on INS virat

    Views13, May 2019, 12:01 PM IST

    राजीव गांधी का ‘विराट’ सच

    यह तर्क तो गले नहीं उतरता कि राजनीति में जो दिवंगत हो गए उनके कार्य और व्यवहार की चुनाव में चर्चा नहीं होनी चाहिए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जैसे ही राजीव गांधी के नाम पर चुनाव लड़ने के साथ उन पर आईएनएस विराट का छुट्टी मनाने के लिए उपयोग करने तथा बोफोर्स  का जिक्र किया उसके विरोध में यही तर्क दिया जा रहा है। 

  • PM Priyanka

    News10, May 2019, 1:16 PM IST

    जानिए क्यों प्रियंका गांधी कर रही हैं पीएम मोदी पर सीधा हमला?

    कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को राजनीति में उतरे भले ही जुम्मा जुम्मा चार दिन हुए हैं। लेकिन उनके तेवर देखकर लगता है कि वह अपना राजनीतिक मुकाम बनाने के लिए बहुत हड़बड़ी में हैं। भले ही वह किसी भी लोकसभा क्षेत्र से चुनाव नहीं लड़ रही हैं, लेकिन उनके बयानों का निशाना सीधा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर ही रहता है। क्योंकि ऐसा करके ही वह ज्यादा से ज्यादा खबरों में बनी रह सकती हैं। 

  • economy

    News3, May 2019, 11:35 AM IST

    भारतीय अर्थव्यवस्था: फर्श से अर्श का सफर

    जब देश आजाद हुआ तो देश की आर्थिक हालत जर्जर थी। लेकिन अब हमारी अर्थव्यवस्था ने पूरी दुनिया में एक मुकाम हासिल किया है। जानिए भारतीय अर्थव्यवस्था ने कैसे ब्रिटिश और नेहरु काल से होते हुए मनमोहन सिंह और नरेन्द्र मोदी के काल तक फर्श से अर्श तक का सफर तय किया।  

  • sonia rahul

    News29, Apr 2019, 2:10 PM IST

    'कांग्रेस' एक सिमटती हुई कहानी

    देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस का इतिहास बेहद गौरवपूर्ण तो है। लेकिन अब यह इतिहास में ही सिमटती जा रही है। आजादी के बाद से अब तक देखें तो साल 2014 में कांग्रेस का प्रदर्शन सबसे बदतर रहा है। ऐसे में क्या सचमुच देश 'कांग्रेस मुक्त' होने की दिशा में आगे बढ़ रहा है। 

  • Views26, Apr 2019, 2:08 PM IST

    वाराणसी में जंग शुरु होने से पहले तय हो चुकी है जीत

    प्रियंका वाड्रा अगर वाराणसी से चुनाव मैदान में उतरतीं तो उनकी पराजय निश्चित थी। लेकिन अगर वह पीएम मोदी को ठीक चुनौती भी नहीं दे पाती तो इसका संदेश बहुत बुरा जाता। उनके पहले ही चुनाव में पराजय का दंश लेना उनके एवं कांग्रेस के लिए ऐसा आघात होता जिससे उबरना कठिन हो जाता। कांग्रेस अपने इतने बड़े तुरुप के पत्ते की छवि बुझे हुए कारतूस जैसी बनाने का जोखिम नहीं उठा सकती थी।

  • indira gandhi

    Views6, Apr 2019, 3:55 PM IST

    राहुल गांधी की कांग्रेस कैसे अलग है नेहरु और इंदिरा की कांग्रेस से

    हमारे देश में हर तरह के विचारों के समर्थन में खड़ा हो जाने वाले लोग मिल जाएंगे। भारत को तोड़ने की खुलेआम वकालत करने वालों के समर्थक भी हमारे यहां पूरी संख्या में मौजूद हैं।  किंतु इसके आधार पर सही और गलत का निर्णय नहीं हो सकता। सच यह है कि कांग्रेस के घोषणा पत्र में देश की सुरक्षा, उनसे संबंधित कानूनों एवं कश्मीर के बारे में जो वायदे किए गए हैं उनको पूरा पढ़ने के बाद किसी दल निरपेक्ष व्यक्ति के अंदर चिंता का भाव पैदा हो जाएगा।

  • Rahul Priyanka

    News19, Mar 2019, 5:13 PM IST

    अगर प्रियंका गांधी को भी हल्की राजनीति ही करनी है तो राहुल क्या बुरे थे?

    जिस दिन प्रियंका गांधी ने राजनीती में पूर्णतः सक्रिय होने की घोषणा की थी उसी दिन से उनकी तुलना उनकी दादी इंदिरा गांधी से की जा रही थी। हर कोई प्रियंका गांधी की नाक से लेकर उनके चेहरे और सम्पूर्ण वेश-भूषा की तुलना इंदिरा गांधी से करते आये हैं। लेकिन किसी ने यह नहीं बताया कि प्रियंका की वैचारिक क्षमता उनके भाई राहुल से मिलती जुलती है।  

  • Republic Day

    Views26, Jan 2019, 12:14 PM IST

    माना कि मंजिल मिली नहीं, लेकिन रास्ता तो तय हुआ ही है

    आज देश एक और गणतंत्र दिवस मना रहा है। 26 जनवरी 1950 को जब हमारा संविधान तैयार हुआ तब से अब तक गंगा में बहुत पानी बह चुका है। आम तौर पर इंसान के जीवन काल में 69 सालों का वक्फा काफी लंबा होता है। लेकिन सभ्यताओं के इतिहास में सत्तर साल कुछ नहीं होते। आज देश हर मोर्चे पर सफल हो रहा है। हमारे विकास की मिसालें दी जा रही हैं। हालांकि अभी पूर्ण विकास अभी भी दूर है लेकिन मन में संतोष है कि हम लगातार आगे तो बढ़ रहे हैं। 
     

  • PM on cong

    News2, Jan 2019, 10:31 PM IST

    क्या चीन ने नेहरु की तरह पीएम मोदी को भी धोखा दिया


    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नए साल के मौके पर मीडिया से मुखातिब हुए। उन्होंने एक न्यूज एजेन्सी को दिए इंटरव्यू में अपनी सरकार से जुड़े हर सवाल का जवाब दिया। इस इंटरव्यू के दौरान पीएम से भारत चीन संबंधों पर सवाल पूछा गया। 
    प्रश्न था कि क्या चीन के मसले पर आप नेहरु की ही तरह धोखा खा गए। 

    देखिए पीएम ने इस प्रश्न का क्या जवाब दिया- 

  • Ambedkar on pakistan

    Views6, Dec 2018, 6:48 PM IST

    ‘जय भीम-जय मीम’ कहने वालों ने क्या पाकिस्तान पर बाबासाहेब अंबेडकर के विचार पढ़े भी हैं?

    संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर की आज पुण्यतिथि है। आज भले ही उनके कथित अनुयायी  उन्हें अंबेडकरवाद की संकुचित विचारधारा में कैद करने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन अंबेडकर सभी सीमाओं से परे हैं। उनका राष्ट्रवाद असंदिग्ध है। आज ‘जय भीम-जय मीम’ का नारा लगाने वाले शायद इस बात से वाकिफ नहीं हैं कि वह मजहबी कट्टरता और पाकिस्तान को जन्म देने वाले ‘द्विराष्ट्रवाद’ के विचार के कितने बड़े विरोधी थे।