शिवराज सिंह चौहान  

(Search results - 52)
  • undefined

    NewsSep 21, 2020, 6:51 PM IST

    जानें क्यों शिवराज चौहान ने कहा मैं एमपी का टेंपरेरी सीएम हूं, क्या खतरे में है कुर्सी

    राज्य के सीएम शिवराज सिंह ने कयामपुर सीतामऊ सिंचाई योजना व हैदरा करनाली डैम मंजूरी का ऐलान किया और कहा कि वह जनता के बीच में रहने वाले सेवक हैं। वहीं राज्य के पूर्व सीएम कमलनाथ एयरकंडीशंड कमरों में बैठकर सरकार चलाते थे। उन्होंने कहा कि राज्य में भाजपा सरकार विकास कार्य कर रही है और इसके जरिए जनता को लाभ मिलेगा।

  • <p>yogi</p>

    NewsJul 11, 2020, 6:30 PM IST

    मध्य प्रदेश में कल लगेगी मंत्रियों की लाटरी, शिवराज बांटेंगे विभाग

    असल में राज्य में नौ दिनों के बाद भी मंत्रियों को उनके विभागों का दायित्व नहीं मिला था। इसको लेकर राज्य में सियासी हलचल थी। वहीं  माना जा रहा था कि सात जुलाई को दिल्ली से लौटने के बाद चौहान कैबिनेट के सहयोगियों का बंटवारा कर देंगे। 

  • undefined

    NewsJul 11, 2020, 6:38 AM IST

    आखिर मध्य प्रदेश में कहां फंसा है मंत्रियों के विभागों के बंटवारे में पेंच, या फिर शिवराज खेल रहे हैं खेल

    राज्य में कैबिनेट के विस्तार हुए आठ दिन से ज्यादा गुजर गए हैं और शिवराज सिंह सरकार के मंत्रियों के विभागों का बंटवारा नहीं हो सका है। हालांकि सरकार की तरफ से कहा जा रहा है कि जल्दी ही मंत्रियों को उनके विभागों का वितरण किया जाएगा। राज्य में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के अतिरिक्त उनके कैबिनेट में 33 मंत्री हैं और इसमें से 25 कैबिनेट मंत्री हैं जबकि आठ मंत्री राज्यमंत्री हैं।

  • <p>yogi</p>

    NewsJul 6, 2020, 7:09 AM IST

    सावन महीने की शुरूआत में मंत्रियों को गुड न्यूज दे सकते हैं शिवराज

    असल में राज्य में कैबिनेट विस्तार के तीन दिनों के बाद भी राज्य में मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा नहीं हो सका है। वहीं इसी बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रविवार को दिल्ली पहुंचे।

    Enable GingerCannot connect to Ginger Check your internet connection
    or reload the browser
    Disable in this text fieldEditLog in to edit with Ginger3Log in to edit with Ginger
  • undefined

    NewsJul 2, 2020, 1:50 PM IST

    शिवराज के राज में सिंधिया बने 'महाराज'

    असल में राज्य में होने वाले विधानसभा उपचुनाव की झलक कैबिनेट विस्तार में देखने को मिली है। इसमें सबसे ज्यादा फायदा ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनके समर्थकों को मिला है। जबकि पार्टी ने पुराने नेताओं को कैबिनेट से दूर रखकर सिंधिया समर्थकों को शामिल किया है।

  • <p>Shivraj Singh Chauhan, Madhya Pradesh, Corona in Madhya Pradesh, Corona epidemic, Corona infection, Economy in Corona, Madhya Pradesh economy, Labor reform<br />
&nbsp;</p>

    NewsJun 28, 2020, 2:30 PM IST

    मध्य प्रदेश में अगले हफ्ते हो सकता है शिवराज सरकार का कैबिनेट विस्तार, विधानसभा उपचुनाव पर नजर

    बताया जा रहा है कि कैबिनेट में राज्य भाजपा के सभी धड़ों से नेताओं को जगह मिल सकती है। वहीं हाल ही में कांग्रेस से आए ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबी नेताओं को कैबिनेट में शामिल किया जाएगा। ताकि कांग्रेस से आए नेताओं को खुश किया जा सके और उपचुनाव में पार्टी को इसका फायदा मिले।

  • <p><br />
shivaraj singh chauhan</p>

    NewsJun 5, 2020, 1:41 PM IST

    मध्य प्रदेश में कैबिनेट विस्तार को बढ़ी सरगर्मी, मिश्रा और चौहान में हुई मुलाकात

    भोपाल।  मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान के कैबिनेट विस्तार के लिए राज्य में सरगर्मी शुरू हो गई हैं। हालांकि राज्य में अभी एक  कैबिनेट विस्तार प्रस्तावित है और राज्य में होने वाले उपचुनाव को देखते हुए  सरकार पर इसके लिए दबाव है कि जल्द से जल्द कैबिनेट विस्तार किया जाए। वहीं ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक  कैबिनेट विस्तार में जगह मिलने की आस लगाए हुए हैं।

    वहीं आज आज राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा मुख्यमंत्री से मिलने उनके आवास पर पहुंचे और उनकी शिवराज सिंह के साथ बंद कमरे  में बैठक हुई।  जिसके बाद राज्य में कैबिनेट विस्तार की अटकलें तेज हो गई हैं।  सीएम शिवराज कैबिनेट  में नरोत्तम मिश्रा को संकटमोचक  कहा जाता है। लिहाजा राज्य में कयासों का दौर शुरू हो गये हैं। असल में नरोत्तम मिश्रा की शिवराज सरकार में नंबर दो हैसियत है। लिहाजा माना जा रहा है कि उपचुनाव से पहले होने वाले कैबिनेट विस्तार के लिए दोनों नेताओं की आपस में बाचतीत है। वहीं राज्य में कैबिनेट विस्तार को लेकर सरकार पर ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनके समर्थकों का दबाव है। 

    राज्य में जिन 24 सीटों में चुनाव होना है। उसमें से 17 सीटों में चुनाव सिंधिया के गढ़ कहे जाने वाले ग्वालियर और गुना में होने हैं। लिहाजा सिंधिया ज्यादा से ज्यादा अपने समर्थकों को कैबिनेट में जगह दिलाने की कोशिश में हैं।  ताकि राज्य की सत्ता की चाबी उनके हाथ में रहे। वहीं राज्य में शिवराज सरकार ने भी उपचुनावों के लिए तैयारी शुरू कर दी है। विधायकों और नेताओं को अपने क्षेत्रों में सक्रिय रहने को कहा गया है। इसके साथ ही कांग्रेस से भाजपा में आए नेताओं के साथ अच्छे संबंध बनाने को कहा गया है। क्योंकि अभी तक कांग्रेस के नेता और भाजपा के नेताओं के बीच छत्तीस का आंकड़ा था  और उपचुनाव में दोनों को मिलकर चुनाव लड़ना है। लिहाजा पुराने विवादों को भूलने की सलाह पार्टी ने दी है।

    प्रेशर गेम शुरू

    राज्य में कैबिनेट विस्तार में अपने करीबी विधायकों और नेताओं को शामिल करने के लिए नेताओं का प्रेशर गेम शुरू हो गया है। सिंधिया हो या फिर नरेन्द्र सिंह तोमर। सभी  अपने समर्थकों को कैबिनेट  में शामिल करना चाहते हैं। वहीं सरकार के लिए सभी को कैबिनेट में शामिल करना मुश्किल है।  इसके साथ ही सरकार पर भी कैबिनेट विस्तार को लेकर दबाव है। क्योंकि विस्तार के बाद पार्टी में विरोध के स्वर उभर सकते हैं। जो सरकार के लिए नुकसानदेह साबित हो सकते हैं।

  • <p>tulsiram silawat</p>

    NewsApr 30, 2020, 1:12 PM IST

    मध्य प्रदेश में कैबिनेट मंत्री ने सिंधिया से जताई निष्ठा, कार्यालय में लगाई 'महाराज' की तस्वीर

    तुलसीराम सिलावत को 21 अप्रैल को शिवराज सिंह चौहान मंत्रिमंडल में शामिल किया गया था लेकिन वह बुधवार को पहली बार अपने कार्यालय पहुंचे। जहां उन्होंने महात्मा गांधी, स्वामी विवेकानंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को लगाया। लेकिन इनके साथ ही सिलावत ने सिधिया की तस्वीर को भी दिवार पर सुशोभित किया है। पूर्व कांग्रेस नेता सिलावत को सिंधिया का वफादार माना जाता है।

  • Former chief minister shivraj singh claimed many congress MLA in touch with BJP

    NewsMar 23, 2020, 8:42 PM IST

    'शिवराज' के सिर सजा एमपी का ताज, चौथी बार बने सीएम

    शिवराज सिंह आज थोड़ी देर में राज्य में नए मुख्यमंत्री के पद की शपथ लेंगे। हालांकि माना जा रहा है कि वह अकेले ही शपथ लेंगे और 26 मार्च को कैबिनेट का विस्तार करेंगे। राज्य में कमलनाथ सरकार के इस्तीफा देने के बाद भाजपा की सरकार बनना तय था। लेकिन मुख्यमंत्री के नाम पर पार्टी के भीतर किसी तरह की सहमति नहीं बन पा रही थी। जिसके कारण सीएम के नाम का ऐलान देर से हो सका।

  • undefined

    NewsMar 23, 2020, 6:33 PM IST

    मध्य प्रदेश में चौथी बार शिवराज के सिर सजेगा 'ताज'!

    माना जा रहा है कि भाजपा के वरिष्ठ नेता शिवराज सिंह चौहान आज रात 9 बजे चौथी बार राज्य के मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं। शपथ ग्रहण समारोह भोपाल के राजभवन में आयोजित किया जाएगा। राज्य में 20 मार्च को कांग्रेस सरकार से 22 विधायकों के समर्थन वापस लेने के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ को इस्तीफा देना पड़ा था। 

  • Scindia Thumb

    NewsMar 10, 2020, 9:10 AM IST

    मध्य प्रदेश में अगर भाजपा की सरकार बनी तो शिवराज सीएम, सिंधिया केन्द्र में बनेंगे कैबिनेट मंत्री!

    मीडिया  रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि राज्य के सियासी हालत को देखते हुए मंगलवार शाम भाजपा  विधायक दल की बैठक हो सकती है और इसमें शिवराज सिंह चौहान विधायक दल का नया नेता चुना जा सकता है। इससे पहले कांग्रेस के बागी विधायक सरकार से समर्थन वापस लेने का ऐलान करेंगे। जिसके बाद राज्य में भाजपा की सरकार का रास्ता साफ होगा।

  • शिवराज सिंह चौहान का बयान

    NewsMay 21, 2019, 2:52 PM IST

    शिवराज सिंह चौहान का बयान

    एग्जिट पोल के नतीजों पर बोले शिवराज "कमलनाथ जी तो ये भी स्वीकार नहीं कर रहे कि किसानों का कर्जा माफ नहीं हुआ है, आज नहीं  मान रहे लेकिन 23 को मानना पड़ेगा"।

  • undefined

    NewsMay 8, 2019, 5:14 PM IST

    शिवराज पर कमलनाथ का हमला

    मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर जमकर हमला बोला। उन्होंने आरोप लगाया कि किसान कर्ज़माफी पर सवाल खड़ा करके शिवराज सिंह सफेद झूठ बोल रहे हैं। 

  • Congress reply to shivraj

    NewsMay 7, 2019, 6:09 PM IST

    शिवराज को कांग्रेस का जवाब

    भोपाल: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुरेश पचौरी के नेतृत्व में मध्य प्रदेश कांग्रेस का दल पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निवास किसान कर्ज़ माफ़ी के प्रमाण पत्र दे रहा है। 
    दरअसल, शिवराज सिंह चौहान हर सभा में किसानों की क़र्ज़ माफी पर सवाल खड़े करते हैं जिसके चलते कांग्रेस ने ये फैसला किया है। 

  • Shivral Lalten

    NewsMay 6, 2019, 3:40 PM IST

    बिजली कटौती के विरोध में शिवराज की लालटेन यात्रा

    मध्य प्रदेश मे सरकार बदलने के साथ बिजली जाने का सिलसिला चालू हो गया है। जिसके विरोध में एमपी के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लालटेन यात्रा निकाली। 
    शिवराज यह यात्रा निकालकर कमलनाथ सरकार में हो रही बिजली कटौती का विरोध कर रहे थे।