संयुक्त राष्ट्र  

(Search results - 78)
  • Myanmar government banned internet in two rohingya dominated state

    News5, Feb 2020, 7:12 AM IST

    म्यांमार में सरकार ने बंद किए इंटरनेट

    म्यांमार की परिवहन और संचार मंत्रालय ने मोबाइल इंटरनेट ट्रैफिक को तीन महीने के लिए राखीन और चिन राज्यों के पांच शहरों में फिर से बंद करने का आदेश दिया है। सैनिकों और मुस्लिम विद्रोहियों के बीच झड़पों को खत्म करने के लिए शांति वार्ता से पहले सितंबर में चार शहरों में एक महीने के लिए इंटरनेट बंद कर दिया गया था।

  • undefined

    News21, Dec 2019, 8:31 AM IST

    जानें क्यों जनमत संग्रह बयान पर ममता ने लिया यू-टर्न

    गुरुवार को ही ममता बनर्जी ने कहा था कि एनआरसी और नागरिकता संशोधन कानून के लिए संयुक्त राष्ट्र की देखरेख में जनमत संग्रह कराना चाहिए। हालांकि इसके बाद उनकी तीखी आलोचना होने लगी थी। भाजपा के साथ ही विपक्षी दल भी उन्हें घेरने लगे थे। वहीं भाजपा ने कहा कि पश्चिम बंगाल में ममता सरकार के खिलाफ जनमत होना चाहिए। 

  • undefined

    News2, Oct 2019, 4:13 PM IST

    चिनपिंग की पीएम मोदी की मुलाकात से पहले इमरान जाएंगे ड्रैगन की शरण में

    चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग अक्टूबर में भारत की यात्रा में आ रहे हैं। चिनफिंग प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से चेन्नई के महाबलीपुरम में अनौपचारिक मुलाकात करेंगे। हालांकि इससे पहले पाकिस्तान के पीएम इमरान खान चीन के दरवाजे पर अपना दुखड़ा सुनाने फिर जाएंगे। हालांकि पाकिस्तान कश्मीर के मुद्दे को चीन के सामने पहले भी उठा चुका है और हालांकि चीन ने उसका साथ दिया है। लेकिन इस बार इमरान खान स्वयं वहां जाकर मदद की गुहार लगाएंगे।

  • maleeha lodhi pakistan

    News1, Oct 2019, 9:34 AM IST

    यूएन में इमरान को मिली मात की गाज गिरी मलीहा पर

    अब तो ये तय हो गया है कि पाकिस्तान को यूएन में बड़ी शिकस्त मिली है। इमरान खान सरकार बौखलाई हुई है। क्योंकि उसे यूएन में किसी का भी समर्थन नहीं मिला है। जबकि पाकिस्तान और इमरान खान ने यूएन में कश्मीर के मुद्दे को उठाने की पूरी कोशिश की। लेकिन भारतीय रणनीति के तहत पाकिस्तान विफल रहा है। वहीं पाकिस्तान में अब इमरान खान को भी पाकिस्तानियों का साथ नहीं मिल रहा है। 

  • Bushra Bibi

    News1, Oct 2019, 7:50 AM IST

    "पिंकी जादूगरनी" के जिन्न की गिरफ्त में हैं इमरान खान नियाजी!

    फिलहाल पाकिस्तान में इमरान खान की कुर्सी अब खतरे में दिखाई दे रही है। क्योंकि पाकिस्तानी सेना की कठपुतली अमेरिका और संयुक्त राष्ट्र के सामने कश्मीर के मुद्दे को सही तरीके से नहीं उठा सके और उन्होंने परमाणु युद्ध तक की धमकी दे दी थी। जिसके बाद पाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किरकिरी हो रही है। वहीं पाकिस्तान की जनता भी इमरान खान से नाराज है। इसका नजारा इमरान खान के पाकिस्तान के आगमन पर देखने को मिला। जहां इमरान खान को उनकी पार्टी ने एक हीरो के तौर पर पेश करने का प्लान बनाया था। लेकिन एयरपोर्ट पर न तो कार्यकर्ता पहुंचे न ही जनता। 

  • imran khan

    News29, Sep 2019, 1:59 PM IST

    दुनिया के सामने बेइज्जत होकर पाकिस्तान लौट रहे इमरान खान पीएम मोदी की नकल कर बनेंगे नकली ‘हीरो’

    इमरान खान दुनिया के सामने अपनी बेइज्जती कराकर आज शाम पांच बजे पाकिस्तान लौटेंगे। जहां पर पीटीआई के कार्यकर्ता उनका स्वागत करेंगे और उन्हें एक हीरो के तौर पर पेश करेगी। इमरान खान भारत के पीएम नरेन्द्र मोदी की नकल करेंगे। क्योंकि शनिवार शाम को भारत पहुंचे पीएम मोदी का दिल्ली एयरपोर्ट पर जबरदस्त स्वागत किया गया था।

  • undefined

    News28, Sep 2019, 6:07 PM IST

    जब भारत ने इमरान खान से कहा ‘नियाजी’ तो जानें क्यों शर्म से झुक गया पाक पीएम का सिर

    संयुक्‍त राष्‍ट्र में भारत की तरह से प्रथम सचिव विदिशा मैत्रा ने भारत का पक्ष रखा। उन्होंने पाकिस्तान को आतंकवाद के मामले में घेरा। जिसको लेकर पाकिस्तान खुद को बचाने की कोशिश करता रहा। मैत्रा ने पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर हो रहे अत्याचार का जिक्र करते हुए बलूचिस्तान, सिंध समेत कई हिस्सों में पाकिस्तान सेना को संयुक्त राष्ट्र संघ में दुनिया के सामने बेनकाब किया। लेकिन इसी दौरान मैत्रा ने पाक पीएम इमरान खान का पूरा नाम इमरान खान नियाजी कहा तो पाकिस्तान का सिर शर्म से झुक गया।

  • undefined

    News27, Sep 2019, 10:28 AM IST

    यूएन में इमरान खान के भाषण से पहले खौफ में हैं पाकिस्तानी और सेना

    इमरान खान अपने बड़बोले बयानों के जाने जाते हैं। वह कब क्या बोल दें उन्हें इसकी समझ नहीं हैं। पिछली बार जब वह अमेरिका गए थे तो उन्होंने साफ तौर पर स्वीकार किया था कि पाकिस्तान में कई आतंकी गुट हैं। दो दिन पहले ही उन्होंने स्वीकार की किया कि अलकायदा को ट्रेनिंग पाकिस्तान ने ही दी थी। इसके लिए उन्होंने अमेरिका नाम भी लिया था। हालांकि अमेरिका ने इमरान खान के बयान को कोई तवज्जो नहीं दी। लेकिन पाकिस्तान में इमरान के भाषण को लेकर काफी चर्चा हुई। बताया जाता है कि इमरान के भाषण को लेकर पाकिस्तानी सेना भी उनसे नाराज है।

  • Imran Khan's lawyer said, there is no strong evidence to prove genocide in Kashmir

    News25, Sep 2019, 8:50 AM IST

    बेइज्जत हो चुके इमरान ने यूएन में कश्मीर पर की रूदाली

    इमरान खान ने न्यूयॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र के हेडक्वार्टर में पत्रकारों क सामने एक बार फिर अपना दुखड़ा रोया। असल में इमरान खान अपना वजूद बचाने के लिए कश्मीर का मुद्दा जिंदा रखना चाहते हैं। जब पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर हो रहे अत्याचार लिए वह अपने देश में ही कोई कदम नहीं उठा रहे हैं।

  • imran khan

    News20, Sep 2019, 8:16 AM IST

    पाक को नहीं मिला कश्मीर पर साथ पर बलूचिस्तान ने पीएम मोदी से कहा कि यूएन में उठाएं हमारी आवाज

    पाकिस्तान के बलूच नेता और मानवाधिकार कार्यकर्ता अशरफ बलूच ने पीएम नरेन्द्र से गुजारिश की है कि वह अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर बलूचिस्तान की आजादी की मांग उठाए। उन्होंने कहा कि बलूचिस्तान में पाकिस्तान द्वारा हो रहे अत्याचारों को वैश्विक स्तर पर उठाकर पाकिस्तान को बेनकाब रहें। बलूच नेता ने जन्मदिन पर पीएम मोदी को शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने लिखा है कि ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी जन्मदिन की शुभकामनाएं। कृपया बलूचिस्तान के शोषित लोगों को मत भूलिएगा।

  • Shobha Karandlaje gave a befitting reply to Malala Yousafzai

    News16, Sep 2019, 8:17 PM IST

    मलाला यूसुफजई को दिया शोभा करंदलाजे ने करारा जवाब

    नोबेल शांति पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई ने एक बार फिर ट्वीट कर कश्मीर का मामला उठाया है। मलाला संयुक्त राष्ट्र संघ से कश्मीर में शांति स्थापित करने की अपील है। वहीं भाजपा नेता शोभा करंदलाजे ने मलाला को करारा जवाब देते हुए कहा कि मलाला पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर हो रहे अत्याचार पर आवाज उठानी चाहिए। मलाला ने कहा कि कश्मीर में संचार की सुविधाएं बंद हैं इसके कारण वहां की आवाज दुनिया से कटी हुई है। इस पर शोभा करंदलाजे कहा कि मलाला को पाकिस्तान के अल्पसंख्यकों की आवाज को उठाना चाहिए। 

  • Distance between Imran and army has started increasing in Pakistan!

    News6, Sep 2019, 8:37 AM IST

    यूएन की बैठक से पहले कश्मीर दहलाना चाहता है पाकिस्तान

    पाकिस्तान जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद बौखला गया है। पाकिस्तान ने इसे अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बनाने की हरसंभव कोशिश की। लेकिन वह विफल रहा। पाकिस्तान को किसी भी देश का साथ नहीं मिला। उसके केवल चीन का साध मिला। वह भी चीन ने अपने हितों को साधते हुए पाकिस्तान का साथ दिया। अब पाकिस्तान जम्मू कश्मीर में आतंकी घटनाओं को अंजाम देना चाहता है। 

  • Rahul Gandhi

    News28, Aug 2019, 11:46 AM IST

    राहुल गांधी को यूएन में पाकिस्तान ने बनाया हथियार तो डैमेज कंट्रोल में जुटी कांग्रेस

    हालांकि इससे पहले राहुल गांधी की राज्य के राज्यपाल सत्यपाल मलिक से सोशल मीडिया पर तीखी बहस भी हो चुकी थी। लेकिन राहुल गांधी कुछ विपक्षी दलों के साथ श्रीनगर गए। हालांकि उन्हें एयरपोर्ट से बाहर नहीं निकलने दिया और बाद में वापस दिल्ली भेज दिया। दिल्ली आकर राहुल गांधी ने कश्मीर के हालात पर एक ट्वीट किया। जिसमें उन्होंने वहां के हालत को खराब बताया और कहा कि वहां की जनता परेशान है।

  • undefined

    World21, Aug 2019, 2:13 PM IST

    चीन की औकात में नहीं है भारत से सीधे संघर्ष में उलझना, ये हैं सात प्रमुख कारण

    कश्मीर मामले पर चीन ने पाकिस्तान का समर्थन करते हुए भारत के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में मामला उठवा दिया। लेकिन भारतीय संसद द्वारा कश्मीर के विभाजन और धारा 370 की समाप्ति पर चीन सीधे तौर पर कुछ भी कहने से अभी तक बचता दिख रहा है। हालांकि इस मुद्दे पर पाकिस्तान में खलबली मची हुई है। लेकिन चीन पूरे कश्मीर विवाद से सीधे तौर पर खुद को अलग रखने की कोशिश कर रहा है। उसने कुछ छुट पुट बयान जारी तो किए हैं, लेकिन यह बयान भी चीन के किसी बड़े नेता द्वारा जारी नहीं किया गया है। इसकी वजह यह है कि चीन कभी भी भारत से सीधा संघर्ष मोल नहीं ले सकता। आपको याद होगा कि डोकलाम से भी चीन की फौज को बैरंग वापस लौटना पड़ा था। आखिर क्यों चीन भारत से उलझना नहीं चाहता? क्या है उसकी मजबूरी? 
     

  • un meeting

    News16, Aug 2019, 10:46 PM IST

    यूएन में भी मिली पाक और चीन को बड़ी शिकस्त, यूएन को भारत नेे ये दिया जवाब

    संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद चीनी की अनौपचारिक क्लोज डोर मीटिंग खत्म हो गई है। इस बैठक को पाकिस्तान के दबाव में चीन ने बुलाया था। हालांकि ये पहले से ही तय हो गया था कि इस बैठक में भी पाकिस्तान को मात खानी पड़ेगी वैसी ही हुआ। पाकिस्तान इस मामले को उछाल कर अपने पक्ष में माहौल बनाना चाहता था जबकि वह इसका न तो स्थायी और न ही अस्थायी सदस्य है।