सूक्ष्म  

(Search results - 5)
  • MyNation in 100 seconds - HINDI

    News4, Oct 2019, 7:40 PM

    आरबीआई द्वारा रेपो रेट में कटौती से संजय निरुपम की कांग्रेस से नाराजगी तक, देखिए माय नेशन के 100 सेकेंड्स में

    रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने शुक्रवार को रेपो रेट में 0.25% कटौती का ऐलान किया। रेपो रेट से जुड़े सभी तरह के कर्ज अब सस्ते हो जाएंगे

  • Maya ahilesh Rahul

    Views1, May 2019, 5:40 PM

    बीजेपी के विजय रथ से विपक्ष में भगदड़, देखिए सात सूक्ष्म संकेत

    चार चरण के मतदान संपन्न हो चुके हैं। हालांकि 23 मई के बाद ही देश की राजनीतिक तस्वीर स्पष्ट हो पाएगी। लेकिन इस दौरान जिस तरह से विपक्ष प्रतिक्रिया दे रहा है। वह साफ तौर पर बताता है कि चुनाव खत्म होने से पहले ही उसकी हिम्मत जवाब दे गई है। देखिए किस तरह विपक्षी खेमा दे रहा है संकेत:

  • ballia hatya

    News2, Jan 2019, 1:16 PM

    बलिया में महिला की गला रेतकर निर्मम हत्या, खेत में पड़ा मिला शव

    सूचना पाकर डॉग स्क्वायड व फोरेंसिक टीम के साथ मौके पर पहुंची। पुलिस अधीक्षक ने घटना स्थल का सूक्ष्म निरीक्षण करने के बाद मृतक के मायका व ससुराल पक्ष के लोगों से पूछताछ की। वहीं मृतक के पिता ने ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगाया है।
     

  • PM MODI

    News2, Nov 2018, 6:22 PM

    पीएम मोदी का उद्यमियों को दिवाली गिफ्ट, 59 मिनट में मिलेगा 1 करोड़ का लोन

    पीएम  मोदी ने  कहा कि देश के किसी कोने में बैठे उद्यमी को मात्र 59 मिनट में एक करोड़ रुपये तक के कर्ज की मंजूरी इस वक्त भी दी जा रही है। जीएसटी पंजीकृत हर एमएसएमई को एक करोड़ रुपये तक के नए कर्ज या इन्‍क्रीमेंटल लोन की रकम पर ब्याज में 2 प्रतिशत की छूट दी जाएगी।

  • God and Allah is not Parbrahm parmeshwar

    Views15, Oct 2018, 4:03 PM

    ‘परमब्रह्म परमेश्वर’ से अलग हैं ‘गॉड’ और ‘अल्लाह’

    प्राचीनकाल में जब ईसाईयत और इस्लाम का कोई अस्तित्व नहीं था, तब सर्वोच्च सत्य के बारे में वैदिक धर्म की समझ बहुत ही परिपक्व थी। हिंदू परंपरा में परमसत्य को ब्रह्म के नाम से जाना जाता है। यह सबसे सूक्ष्म, अदृश्य, जागृत जैसे समस्त संसार का आधार है। ऋषियों ने उद्घोषणा की, कि ब्रह्म वह नहीं है जिसे आंखें देखती हैं, बल्कि ब्रह्म वह है जिसकी वजह से आंखें देख पाती हैं। ब्रह्म वह नहीं है जिसे मस्तिष्क सोचता है, बल्कि ब्रह्म वह है जिसकी वजह से मस्तिष्क सोच पाने में सक्षम हो पाता है। यह बात अब्राहमिक धर्मों के भगवान के लिए नहीं कही जा सकती।