1984  

(Search results - 32)
  • rahul Sam Pitroda

    News13, May 2019, 3:21 PM IST

    राहुल गांधी को डर, पित्रोदा का 'हुआ तो हुआ' बयान पंजाब में न बिगाड़ दे खेल

    पंजाब के फतेहगढ़ साहिब में एक रैली के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बोले- पित्रोदा को शर्म आनी चाहिए, अपने बयान के लिए सार्वजनिक रूप से माफी मांगें।

  • Sikhs community staged protest to apologising Rahul Gandhi in Chandigarh on sam remark

    News11, May 2019, 5:07 PM IST

    सैम के बयान पर माफी न मांगने पर राहुल गांधी के खिलाफ सिखों ने किया प्रदर्शन

    बीजेपी नेता और चंडीगढ़ लोकसभा सीट से फिर से चुनाव लड़ रही किरण खेर ने राहुल गांधी पर हमला किया। अपने ट्विट के जरिए खेर ने कहा कि कांग्रेस के नेताओं को ‘हुआ तो हुआ’ के बयान पर शर्म आनी चाहिए और हमें सरदार जी की बहादुरी के लिए सलाम करना चाहिए। 

  • Sam pitroda again on back foot after his remark on 1984 sikh riots

    News10, May 2019, 9:24 AM IST

    कांग्रेस को मुश्किल में डाल अपने बयान से पलटे राहुल गांधी के करीबी सैम

    अकसर अपने बयान से कांग्रेस को मुसीबत में डालने वाले इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष सैम पैत्रोदा एक बार अपने बयान को लेकर मुसीबत में फंस गए हैं और इस बयान के बाद कांग्रेस पार्टी की मुश्किलें बढ़ गयी हैं। पैत्रोदा का बयान तब आया है जब दिल्ली में छटे चरण में 12 मई को और पंजाब में सातवें चरण में 19 मई को मतदान होना है। इससे जाहिर है कि इससे कांग्रेस की दिक्कतें बढ़ेंगी। सैम ने गुरुवार को बयान दिया था कि 1984 के सिख दंगों का अब क्या है।

  • Sajjan Kumar

    News15, Apr 2019, 3:58 PM IST

    1984 सिख नरसंहार मामले में कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को नहीं मिली जमानत, अगस्त तक जेल में रहना होगा

    सीबीआई ने सज्जन कुमार की ओर से दायर जमानत याचिका को खारिज करने का किया था अनुरोध। एजेंसी ने कहा था, अगर सुप्रीम कोर्ट सज्जन कुमार को जमानत देता है, तो लंबित मामलों की ठीक से जांच नहीं हो सकेगी।

  • News13, Apr 2019, 4:28 PM IST

    दुनिया के सबसे ऊंचे जंग के मैदान में भारतीय सेना के अद्भुत शौर्य की गाथा है 'ऑपरेशन मेघदूत'

    सियाचिन ग्लेशियर पर कब्जा करने की पाकिस्तान की साजिश को नाकाम करने के लिए भारतीय सेना ने 13 अप्रैल 1984 को एक बड़ा अभियान छेड़ा था। इसे 'ऑपरेशन मेघदूत' का नाम दिया गया। इस तरह का सैन्य अभियान दुनिया के सबसे दुर्गम युद्धक्षेत्र में पहली बार चलाया गया। 

  • Sajjan Kumar

    News8, Apr 2019, 3:05 PM IST

    1984 सिख दंगा मामलाः सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई से सज्जन कुमार पर चल रहे मामले की स्थिति रिपोर्ट मांगी

    - सीबीआई ने सज्जन कुमार की ओर से दाखिल जमानत याचिका का विरोध किया है। शीर्ष कोर्ट ने सीबीआई से पूछा अगर सज्जन कुमार को जमानत दी जाती है तो क्या वह परेशानी का सबब बनेंगे? 
     

  • Sajjan Kumar

    News7, Mar 2019, 6:54 PM IST

    सिख दंगा मामले में कांग्रेस नेता सज्जन कुमार की मुश्किल बढ़ी, पति और बेटा गंवाने वाली गवाह अपने बयान पर कायम

    पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद दिल्ली में हुए 1984 के सिख विरोधी दंगा मामले में अहम गवाह चाम कौर अपने बयान पर कायम हैं। उन्होंने कहा कि वह फिर कहना चाहती है कि कांग्रेस नेता सज्जन कुमार ही दंगाइयों को निर्देश दे रहे थे। 

  • News2, Feb 2019, 6:08 PM IST

    ऋषि कुमार शुक्ला बने सीबीआई के नए प्रमुख, कमलनाथ ने एमपी के डीजीपी पद से था हटाया

    चयन समिति में शामिल कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन ने कम अनुभव होने का हवाला देकर जताई थी शुक्ला के चयन पर असहमति। 1984 बैच के आईपीएस अधिकारी शुक्ला का कार्यकाल दो साल का होगा।

  • News13, Jan 2019, 1:40 PM IST

    करतारपुर कॉरिडोर और 1984 पर पीएम मोदी का बड़ा बयान

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिखों के दसवें गुरु गुरु गोविंद सिंह की जयंती के अवसर पर करतारपुर गलियारे और 1984 के सिख नरसंहार को लेकर बड़ा बयान दिया है। पीएम मोदी ने कहा, केंद्र सरकार के अथक प्रयासों से करतारपुर कॉरिडोर बनने जा रहा है। अब गुरु नानक के मार्ग पर चलने वाला हर भारतीय दूरबीन के बजाए अपनी आंखों से गुरुद्वारा दरबार साहिब के दर्शन कर पाएगा। 1947 में जो चूक हो गई थी, ये उसका प्रायश्चित है। प्रधानमंत्री ने कहा, हमारे गुरु का सबसे महत्वपूर्ण स्थल सिर्फ कुछ ही किलोमीटर दूर था, लेकिन उसे भी अपने साथ नहीं लिया गया। यह कॉरिडोर उस नुकसान को कम करने का प्रमाणित परिणाम है। वहीं सिख विरोधी दंगों पर पीएण ने कहा, केंद्र सरकार 1984 में शुरु हुए अन्याय के दौर को न्याय तक पहुंचाने में जुटी है। दशकों तक माताओं, बेटियों, बहनों ने जो आंसू बहाए हैं, उन्हें पोंछने और न्याय दिलाने का काम अब कानून करेगा। 

  • Sajjan Kumar

    News31, Dec 2018, 6:55 PM IST

    1984 सिख विरोधी दंगा मामले में सज्जन कुमार से जुड़ा घटनाक्रम, जानिये कब क्या हुआ

    1984 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद भड़के सिख विरोधी दंगों से जुड़े एक मामले में आजीवन कारावास की सजा पाए पूर्व कांग्रेस नेता सज्जन कुमार ने सरेंडर कर दिया है। दिल्ली हाईकोर्ट ने सज्जन कुमार को इस मामले में 17 दिसंबर को दोषी ठहराते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। 

  • SajjanKumar

    News31, Dec 2018, 6:47 PM IST

    1984 दंगेः सिख नेता बोले, हर दोषी को कानून के कठघरे में लाए जाने तक चैन से नहीं बैठेंगे

    दिल्ली हाईकोर्ट ने सज्जन कुमार को इस मामले में 17 दिसंबर को दोषी ठहराते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। सजा मिलने के बाद कुमार ने कांग्रेस की सदस्यता से त्यागपत्र दे दिया था।

  • Cricket30, Dec 2018, 11:43 AM IST

    कोहली का ऐलान, टीम इंडिया यहीं नहीं रुकने वाली

    टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने तेज गेंदबाजों की तारीफ करते हुए कहा, ‘हमें पता था कि ऑस्ट्रेलिया को लक्ष्य का पीछा करने में परेशानी होगी।

  • bjp form a committee to sabarimala issue

    News18, Dec 2018, 2:49 PM IST

    ‘1984 में कांग्रेसियों ने किया महिलाओं का बलात्कार’

    कांग्रेसी नेताओं और कार्यकर्ताओं पर बीजेपी अध्यक्ष के ताजा हमले से सनसनी फैल गई है। अमित शाह ने साफ कहा है कि 1984 के सिख विरोधी दंगों के दौरान कांग्रेसियों ने महिलाओं पर अमानुषिक अत्याचार किया। उन्होंने यह इल्जाम ट्विटर के जरिए लगाए। 

  • Sajjan Kumar

    News18, Dec 2018, 12:11 PM IST

    सज्जन कुमार ने कांग्रेस से दिया इस्तीफा, राहुल को भेजा इस्तीफा !

    दिल्ली हाईकोर्ट से 1984 के सिख दंगों में दोषी और उम्रकैद की सजा पाने वाले कांग्रेसी दिग्गज सज्जन कुमार ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया। कुमार ने अपना इस्तीफा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को भेजा है। हालांकि अभी तक किसी भी बड़े कांग्रेसी नेताओं ने पुष्टि नहीं की है। लेकिन सूत्रों के मुताबिक कुमार ने इस्तीफा देकर कांग्रेस की मुश्किलें कम करने की कोशिश की है।

  • News17, Dec 2018, 9:33 PM IST

    1984 सिखों का नरसंहारः 34 साल से रिसते ज़ख्म

    31 अक्टूबर, 1984 को प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की उनके अंगरक्षकों द्वारा गोली मारकर की गई हत्या के बाद दिल्ली में सिखों का कत्ल-ए-आम शुरु हो गया। दो नवंबर दिल्ली छावनी के राजनगर में दंगाइयों ने केहर सिंह, गुरप्रीत सिंह, रघुविंदर सिंह, नरेंद्र पाल सिंह और कुलदीप सिंह की बर्बर हत्या कर दी। इस मामले में 21 साल बाद 2005 में सीबीआई ने दर्ज की एफआईआर दर्ज की। इसके लिए पीड़ितों की शिकायत और नानावटी आयोग की सिफारिशों को आधार बनाया गया।  दंगों के 26 साल बाद 13 जनवरी 2010 को आरोपपत्र दाखिल हुआ लेकिन 30 अप्रैल 2013 को कांग्रेस नेता सज्जन कुमार निचली अदालत से बरी हो गए। हालांकि 17 दिसंबर, 2018 को दिल्ली हाईकोर्ट ने आपराधिक साजिश, दंगा भड़काने में सभी 6 को दोषी माना और सज्जन कुमार, कैप्टन भागमल, गिरधारी लाल, बलवान खोकर को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। वहीं किशन खोकर और महेंद्र यादव को 10 साल की सजा दी गई।