Abhinav Khare  

(Search results - 34)
  • बता दें कि सिंधिया के स्वागत में भाजपा कार्यालय में राज्य के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष बीडी शर्मा, पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और भारतीय जनता पार्टी के कई बड़े नेता मौजूद थे।

    Views27, Mar 2020, 11:29 AM IST

    एमपी में खत्म होने की कगार पर है कांग्रेस, दोहरा रहा है इतिहास

    सिंधिया परिवार हमेशा से ही भारतीय जनता पार्टी के पूर्ववर्ती भारतीय जनसंघ का प्रमुख संरक्षक रहा है।  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के साथ भी उनका बहुत अच्छा संबंध रहा है। जिवाजीराव सिंधिया ज्योतिरादित्य सिंधिया के दादा थे और वह अंतिम मराठा राजा थे और इसके साथ ही उनके जवाहर लाल नेहरू के साथ अच्छे रिश्ते थे। 1961 में जीवाजी राव और 1964 में नेहरू की मौत के बाद राजमाता विजया राजे सिंधिया ने भ्रष्ट वंशवादी पार्टी में वापस रहने का कोई कारण नहीं देखा।

  • gogoi

    Views26, Mar 2020, 1:11 PM IST

    बेवजह हो रहा है रंजन गोगोई के राज्यसभा नामांकन का विरोध

    मैं अपनी राय इस मामले में दूं, इससे पहले हम लोगों को राज्यसभा में मनोनीत सदस्यों की भूमिका और नियुक्ति के बारे में समझना होगा। हालांकि उनकी नियुक्ति को लेकर सोशल मीडिया में कई तरह के बयान आए थे। अनुच्छेद (0 (1) (क) जब भारत के संविधान के अनुच्छेद (0 (3) के साथ पढ़ा जाता है, यह प्रावधान करता है कि राष्ट्रपति 12सदस्यों को संसद के ऊपरी सदन यानी राज्य सभा में नामांकित कर सकता है, जिसमें 250 सदस्य होते हैं।

  • undefined

    News31, Jan 2020, 12:42 PM IST

    अर्थव्यवस्था में दिखाई दे रहे हैं सुधार के संकेत

    इस वर्ष की पहली छमाही के लिए संचयी विकास 4.8 प्रतिशत रहने की भविष्यवाणी की गई है और कहा गया है कि बाद की दूसरी छमाही में इसमें सिर्फ मामूली सुधार संभव है। हालांकि, अर्थव्यवस्था में सुधार के अच्छे संकेत दिखाई देते हैं, लेकिन अभी अर्थव्यवस्था में वित्तपोषण, ऋण, ऋण प्रवाह और खर्च के लिए आमदनी की कमी की समस्याएं गहरी परेशानी पैदा करने वाली लगती हैं।

  • deep dive

    News28, Jan 2020, 7:42 PM IST

    उज्जवल है देश का भविष्य, प्रगति के दे रहा है संकेत

    हमने ये अनुमान लगाया था कि ऑटोमोबाइल, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स, एफएमसीजी, सीमेंट, रियल एस्टेट और फाइनेंशियल सर्विसेज जैसे विभिन्न क्षेत्रों को ये प्रभावित कर रही है। लेकिन देर हो चुकी थी,क्योंकि हमें मंदी का एहसास बाद में हुआ। हालांकि हमारी खपत सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 70 प्रतिशत से अधिक है। लिहाजा हमारी खपत कम होने का असर देश की अर्थव्यवस्था पर दिखाई देने लगा।

  • deep dive

    News15, Jan 2020, 4:31 PM IST

    मुस्लिम चरमपंथियों ने कांग्रेस सांसद शशि थरूर को नरम चरमपंथी के तमगा से नवाजा

    पिछले दिनों हमने थरूर को सीए विरोध प्रदर्शन के दौरान इस्तेमाल की जा रही ला इल्ल इल्लल्लाह चैट के खिलाफ बोलते देखा था। हमने उन्हें ट्वीट करते हुए देखा था कि सीएएस  के लिए हो रहे विरोध प्रदर्शनों को इस्लामी चरमपंथ को भी जन्म नहीं देना चाहिए। शायद यही कारण था कि जब वह शाहीन बाग में अपने साथी जेहादियों के साथ हाथ मिलाने के लिए गए थे तो उसी इसका और हिंदू विरोध के राग का सामना करना पड़ा। यही नहीं थरूर के इस्लाम चरमपंथी दोस्तों ने उन्हें एक नरम चरमपंथी कहा। 

  • undefined

    News15, Jan 2020, 3:36 PM IST

    मासूम बच्चों को सीएए विरोध की अग्निकुंड में झोंक रहे हैं राजनीतिज्ञ

    भारत एक लोकतांत्रिक देश है जहां फ्रीडम ऑफ स्पीच वास्तव में एक मौलिक अधिकार है। लेकिन, क्या हमें उन मासूम बच्चों को इस्तेमाल करने का अधिकार है, जो शायद राजनीति के अर्थ को अपने प्रचार तंत्र के रूप में इस्तेमाल करना भी नहीं समझते हैं? मुझे नहीं लगता। उनका दिमाग अभी अपने बढ़ते चरण में है और अगर हम पहले से ही इसे जहर दें तो यह सही नहीं है।

  • ddep dive

    News6, Jan 2020, 9:26 PM IST

    हिंदुत्व और मूर्ति पूजा के खिलाफ हैं फैज की कविताएं, तो भारत में व्यवहारिक कैसे

    फैज़ अहमद फ़ैज़ एक पाकिस्तानी कवि हैं। पाकिस्तान जैसे अत्याचारी राष्ट्र में मूर्तियों को तोड़ना बिल्कुल सामान्य बात है, लेकिन भारत में ऐसा नहीं करना हो सकता है। मूर्तिपूजन हिंदू धर्म का एक अभिन्न अंग है और ऐसी कविताएं हिंदू धर्म का अपमान करने के लिए अलावा कुछ नहीं हैं। हालांकि फैज की मूल कविताएं पाकिस्तानी तानाशाहों के खिलाफ थी जो इस्लाम के नियमों का पालन करने में विफल रहे।

  • Justice,hyderabad,crime,punishment,deep dive, abhinav khare,rape,encounter

    News10, Dec 2019, 6:24 PM IST

    महिला अपराधों में कोर्ट से बाहर न्याय तर्कसंगत नहीं, पर कैसे मिले सजा

    हैदराबाद एनकाउंटर केस मेरे लिए बहुत ही भ्रामक रहा है। निर्भया के माता-पिता ने इस मुठभेड़ की सराहना की है क्योंकि उनका मानना है कि न्याय कम से कम किसी के लिए परोसा गया है, जबकि वे अभी भी इसका इंतजार कर रहे हैं। कई लोग महसूस करते हैं कि जब हमारी न्याय प्रणाली विफल हो जाती है, तो हमें बलात्कारियों को दंडित करने के लिए ऐसे मजबूत कदम उठाने की जरूरत हो जाती है।

  • Uddhav thackeray, maharashtra, deep dive, abhinav khare,development plan

    News7, Dec 2019, 3:29 PM IST

    राजनैतिक द्वेष के कारण विकास योजना को दरकिनार करती उद्धव सरकार

    महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने दो दिसंबर को घोषणा की कि उनकी सरकार मुंबई से अहमदाबाद तक प्रमुख बुलेट ट्रेन परियोजना की समीक्षा करेगी। यह अनुमान लगाया जा रहा है कि इस परियोजना के धन को किसानों को कर्ज माफी देने की तैयारी में है। सच्चाई ये है कि कुल बजट यानी 1.1 लाख करोड़ रुपये है और महाराष्ट्र सरकार इस परियोजना में करीब 5 हजार करोड़ रुपये भुगतान करने वाली थी।

  • NRC,deep dive,abhinav khare, nrc, india

    News5, Dec 2019, 9:57 PM IST

    बेजा हो रहा है एनआरसी बिल का विरोध

    इस बिल में कहा गया है कि हमारे पड़ोसी देशों आए जैसे अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान के सभी हिंदू, बौद्ध, सिख, पारसी और ईसाई अवैध अप्रवासी नहीं माने जाएंगे। भारत की नागरिकता प्राप्त करने के लिए, प्रत्येक व्यक्ति को नियम कानून के  एक प्रक्रिया से गुजरना होगा। इसमें व्यक्ति को या तो भारत में निवास करना जरूरी होगा या ग्यारह वर्षों के लिए भारत सरकार के साथ काम करना होगा। 

  • hyderabad rape, case, media, deep dive, abhinav khare, rape victim

    News5, Dec 2019, 7:58 PM IST

    क्या संदेश देना चाहते हैं अपराधियों का साथ देने वाले मीडिया संस्थान

    मीडिया हाउस, द क्विंट के पास इस तरह के अपराधियों को चित्रित करने का पुराना ट्रैक रिकॉर्ड है। कुछ समय पहले उन्होंने ओसामा बिन लादेन का भी बचाव किया था। अब जब  हैदराबाद बलात्कार मामले में जब बलात्कारियों का बचाव करने वाले लेख आया तो यह बहुतों के लिए आश्चर्यजनक नहीं था। उन्होंने चारों आरोपियों के परिवारों का साक्षात्कार लिया था। उन्होंने यह भी लिखा कि कैसे मुख्य आरोपी मोहम्मद आरिफ अपने परिवार के लिए एकमात्र कमाने साधन और कैसे उसने अपनी माँ के ऑपरेशन के लिए मेहनत से पैसे इकट्ठा कर रहा था।

  • How much truth is there in not being tolerant of criticism of Modi government

    News3, Dec 2019, 10:12 PM IST

    कितनी सच्चाई है मोदी सरकार की आलोचना के प्रति सहिष्णु न होने में

    अब गृहमंत्री अमित शाह ने उन्हें और आलोचना करने वालों को सही जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में किसी को भी पिछली सरकारों के विपरीत, आलोचना के लिए कभी दंडित नहीं किया गया। वास्तव में, सभी अखबारों के लेख और राय के टुकड़े हमारे प्रधानमंत्री की हमेशा आलोचनात्मक रहे हैं। मज़ेदार बात है कि जब अमित शाह ने कहा कि वह एक खुले मंच से उनसे खुलकर अपने विचार व्यक्त करने में सक्षम थे, यह दर्शाता है कि भय का कोई वातावरण मौजूद नहीं है और राहुल बजाज ने अपनी सीट से इस पर ताली बजाई!

  • deep dive, abhinav khare,Sadhvi Pragya Thakur, MP, Bhopal, parliamnent, controversial remark,nathuram godse

    News2, Dec 2019, 11:00 PM IST

    विवाद जो पीछा नहीं छोड़ते हैं साध्वी के

    लोकसभा में सिर्फ एक सांसद हैं जो हमेशा अपने कामों के लिए नहीं बल्कि अपने विवादों के लिए सुर्खियों में रहती हैं, वो हैं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर। वह मालेगांव विस्फोटों में आरोपी है, लेकिन उसके खिलाफ सबूत की कमी ने उसे लोकसभा चुनाव लड़ने की अनुमति दी और उसने कांग्रेस के दिग्गज दिग्विजय सिंह को 3.64 लाख के बड़े अंतर से हराया।

  • abhinav khare

    News30, Nov 2019, 1:18 PM IST

    शिवसेना भाजपा विरोधी क्लब में शामिल

    महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन सुबह हटा दिया जाता है और देवेंद्र फड़नवीस महाराष्ट्र में सीएम के पद के लिए अपना दावा करते हैं और अजीत पवार उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेते हैं। तो, वास्तव में क्या हुआ?  भारतीय जनता पार्टी को एनसीपी द्वारा सरकार बनाने के लिए संपर्क किया गया था। बीजेपी को कर्नाटक में हुई एक ऐसी घटना की याद दिलाई गई क्योंकि वे उस झमेले से सिर्फ पेंच हैं। भाजपा अभी भी महाराष्ट्र में सबसे बड़ी पार्टी थी, इस प्रकार जनता के जनादेश को बहुत स्पष्ट कर दिया।

  • abhinav khare

    News28, Nov 2019, 7:56 PM IST

    सत्ता के खातिर एनआरसी बिल का विरोध कर रही हैं ममता

    यह देश में एनआरसी को लागू करने के अमित शाह के दावे के प्रति एक संवेदनशील प्रतिक्रिया की तरह दिखता है। ये अप्रवासी अक्सर बदमाश होते हैं जो बहुत सी गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल होते हैं। अप्रवासी होने के नाते वे खुद को अपराधी बना लेते हैं, इसलिए वे कोई और अपराध करने से नहीं डरते। यही नहीं वह विभिन्न तरह के अपराध बलात्कार, हत्या, चोरी और यहां तक कि अंग व्यापार में भी लिप्त रहते हैं। वे आतंकवादी गतिविधियों में भी शामिल हैं।