Apg  

(Search results - 5)
  • Learn why the dragon is becoming the 'Baisakhi' of the pauper Pakistan

    News31, Oct 2019, 8:55 AM IST

    जानें क्यों ड्रैगन बन रहा है कंगाल पाकिस्तान की ‘बैसाखी’

    फिलहाल चीन की पूरी कोशिश है कि पाकिस्तान को फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स यानी एफएटीएफ की ग्रे सूची से निकाला जाए और उसे ब्लैक लिस्ट होने से बचाया जाए। इस महीने चीन, मलेशिया और तुर्की के कारण पाकिस्तान ब्लैक लिस्ट में जाने से बच गया है। जबकि अगर ये तीन देश पाकिस्तान का साथ नहीं देते तो पाकिस्तान ब्लैक लिस्ट में होता। 

  • News20, Oct 2019, 1:20 PM IST

    पाकिस्तान ने की चीन से उइगर मुस्लिमों की किस्मत की डील, तभी ड्रैगन ने दिया बड़ा इनाम

    पाकिस्तान को एफएटीएफ ब्लैकलिस्ट करने का फैसला करीब करीब कर चुका था। लेकिन पाकिस्तान के आका चीन और उसके दो दोस्त तुर्की और मलेशिया ने उसे बचा लिया है। क्योंकि एफएटीएफ की एशिया पैसिफिक ग्रुप ने पाकिस्तान को ब्लैकलिस्ट में पहले से ही रख दिया था। लेकिन पाकिस्तान के इन दोस्तों ने उसे बचा लिया। हालांकि ग्रे लिस्ट में रहने की वजह से पाकिस्तान को अगले चाल महीने में 2.66 लाख करोड़ पाकिस्तानी रूपये का नुकसान तो होगा ही।

  • News14, Oct 2019, 8:15 AM IST

    आज पाकिस्तान के लिए हो सकता है काला सोमवार, एफएटीएफ कर सकता है ब्लैकलिस्ट

    एफएटीएफ की इकाई एशिया पैसिफिक ग्रुप ने पहले ही पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट में डाल दिया है। उसकी रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान आतंकी फंडिंग को रोकने में विफल रहा है। लिहाजा उसने तीन महीने पहले ही पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट में डाल दिया था। जिसके बाद पाकिस्तान की मुश्किलें बढ़नी तय हैं। लिहाजा आज का दिन पाकिस्तान के लिए काफी अहम है।

  • imran khan speech in pakistan

    News7, Oct 2019, 7:54 AM IST

    टेरर फंडिंग पर पाकिस्तान ने नहीं लिया आतंकियों के खिलाफ एक्शन, खुद लिख रहा है बर्बादी की स्क्रिप्ट

    एपीजी ग्रुप की रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान आतंकियों को आर्थिक मदद देनी नहीं रोकी है। असल में पाकिस्तान सरकार ने एफटीएफए को एक रिपोर्ट सौंपी थी। जिसमें उनसे 15 महीने पहले ये बताया था कि वह किस प्लान की तहत अपने देश में आतंकवादियों को रोकने के लिए एक्शन लेगा। लेकिन अब पाकिस्तान के चेहरा बेनकाब हो गया है।

  • News27, Aug 2019, 12:45 PM IST

    इमरान खान ने माना वेनेजुएला बनने की कगार पर है पाकिस्तान, जहां 30 हजार रुपये किलो बिक रहा है टमाटर

    असल में पाकिस्तान रुपये में लगातार गिरावट देखी जा रही है। वहीं शेयर में लगातार गिरावट देखने को मिल रही है। पिछले एक साल में अमेरिकी डॉलर के सामने पाकिस्तानी रुपया 25 फीसदी से ज्यादा गिर गया है। वहां कराची शेयर बाजार में निवेशकों का 1 लाख करोड़ पाकिस्तानी रुपया डूब चुका है। अब अगर फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट में डालता है तो वहां की अर्थव्यवस्था बिल्कुल बदहाली के कगार पर पहुंच जाएगी।