Gandhi Family  

(Search results - 43)
  • Congress leader Jatin Prasad may leave party today, annoyed with party leadership

    NewsSep 8, 2020, 8:02 AM IST

    क्या पिता की तरह गांधी परिवार से बगावत करेंगे जतिन, पिछले साल भाजपा से हो गई थी डील

    माना जा रहा है कि जतिन प्रसाद को समिति में शामिल न करने के पीछे उनका गांधी परिवार के प्रति बागी होना है। जतिन प्रसाद कांग्रेस के उन नेताओं में से हैं जिन्होंने सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी थी। 

  • <p><strong>इन पदों पर रहे प्रणब मुखर्जी</strong><br />
1969: पहली बार राज्यसभा पहुंचे। उन्हें 1973 में इंदिरा गांधी के मंत्रिमंडल में जगह। वे 1982-84- वित्त मंत्री रहे। प्रणब दा 1991 में योजना आयोग के प्रमुख और 1995 में विदेश मंत्री बने। 2004 में पहली बार लोकसभा चुनाव जीते। 2004-06 में रक्षा मंत्री रहे। 2009-12 तक वित्त मंत्री रहे। मुखर्जी 25 जुलाई 2012 को देश के 13वें राष्ट्रपति बने। 2017 में राजनीति से सन्यास ले लिया।</p>

    NewsAug 31, 2020, 8:12 PM IST

    गांधी परिवार के कारण दो पीएम न बन सके प्रणब दा, कांग्रेस के संकटमोचक को मोदी सरकार ने दी भारत रत्न की उपाधि

    पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न प्रणब मुखर्जी का आज लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया है। उन्होंने राजनीति में करीबी छह दशकों की लंबी पारी खेली और देश वह केन्द्रीय मंत्री के साथ ही राष्ट्रपति के पद पर रहे। आज प्रणब दा ने राजधानी दिल्ली के सैन्य अस्पताल में अंतिम सांसें लीं। 

  • undefined

    NewsAug 29, 2020, 7:58 AM IST

    गांधी परिवार समर्थकों की मांग बागियों को पार्टी से करें 'आजाद'

    इस सप्ताह कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के बाद पार्टी में दो गुट बन गए हैं। एक गुट बागी बनकर पार्टी में लोकतंत्र स्थापित कर अध्यक्ष के लिए चुनाव कराने की मांग कर रहा है। वहीं गांधी परिवार का समर्थक गुट पार्टी की कमान सोनिया गांधी के हाथ में ही देने का पक्षधर है। 

  • undefined

    NewsAug 24, 2020, 4:17 PM IST

    कांग्रेस में दो फाड़, एक तरफ बागी तो दूसरी तरफ गांधी परिवार

    हालांकि ये पहले से ही माना जा रहा था कि कांगेस कार्यसमित‍ि की बैठक आज कुरूक्षेत्र में तब्दील होगी। क्योंकि पार्टी के भीतर दो फाड़ हो गए हैं और बागी गुट पार्टी के भीतर लोकतंत्र स्थापित करने की मांग कर रहा है। वहीं गांधी परिवार का वफादार गुट गांधी परिवार से किसी को अध्यक्ष की कमान सौंपने का पक्षधर है। 

  • undefined

    NewsAug 24, 2020, 8:12 AM IST

    क्या गांधी परिवार की कंट्रोलिंग के लिए सोनिया ने तैयार किया है प्लान बी, दलित को दी जा सकती है पार्टी की कमान

    असल में आज होने वाली कांग्रेस पार्टी की कार्यसमिति की बैठक आपसी खींचतान होने की आशंका है और पार्टी का एक धड़ा गांधी परिवार के बाहर के किसी नेता को पार्टी के अध्यक्ष के पद पर नियुक्त करना चाहता है।  वहीं एक धड़ा पार्टी में गांधी परिवार का नियंत्रण चाहता है।

  • undefined

    NewsJul 9, 2020, 9:07 PM IST

    फिर गांधी परिवार ही संभालेगा कांग्रेस की कमान, बढ़ेगा सोनिया का कार्यकाल

     पिछले साल 10 अगस्त को राहुल गांधी द्वारा अपना इस्तीफा वापस लेने से इनकार करने के बाद पार्टी ने सोनिया गांधी को कमान सौंपने का फैसला किया था और उन्हें अंतरिम अध्यक्ष नियुक्त किया था। जबकि राहुल गांधी ने 2019 के लोकसभा चुनाव में हार की जिम्मेदारी लेते हुए अध्यक्ष पद छोड़ दिया था।

  • gandhi family

    NewsJul 9, 2020, 9:36 AM IST

    चीन की फंडिंग, गांधी परिवार के जुड़े संगठन और राजीव गांधी फाउंडेशन की होगी जांच

    पिछले दिनों राजीव गांधी फाउंडेशन भाजपा के निशान पर आ गई थी। कांग्रेस नेता राहुल गांधी चीन को लेकर केन्द्र सरकार को घेर रहे थे। तभी भाजपा ने राजीव गांधी फाउंडेशन को चीन से मिले फंड को लेकर सवाल उठाए। जिसके बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी बैकफुट पर आ गए और उन्होंने केन्द्र सरकार को चीन के बजाए कोरोना में घेरना शुरू कर दिया। 

  • undefined

    NewsMay 28, 2020, 1:42 PM IST

    सिंधिया की राह पर चली बागी अदिति, गांधी परिवार के गढ़ में ढह सकता है कांग्रेस का आखिरी किला

    रायबरेली को गांधी परिवार का गढ़ कहा जाता है। लेकिन यहां से कांग्रेस की एकमात्र विधायक अदिति सिंह भी अब जल्द ही कांग्रेस को अलविदा कह सकती हैं। फिलहाल  अदिति सिंह ने कांग्रेस के पूर्व बागी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का अनुसरण करते हैं अपने ट्वविटर एकाउंट से कांग्रेस नाम और लोगो को हटा दिया है। जबकि सिंधिया ने कांग्रेस को छोड़ने से पहले इस तरह से कांग्रेस नाम और लोगो को हटाया था।

  • undefined

    NewsMay 23, 2020, 1:15 PM IST

    अदिति सिंह को लेकर क्योंकि इतना मजबूर नजर आ रहा है 'गांधी परिवार'

    कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने प्रियंका गांधी वाड्रा के खिलााफ बयान देकर एक तरह से कांग्रेस को खुली चुनौती दे दी है। हालांकि अदिति सिंह ने पहली बार प्रियंका को चुनौती नहीं दी है। पिछले दिनों जब सीएए और एनआरसी का विरोध कांग्रेस महासचिव लखनऊ में कर रही थी तो यूपी सरकार ने विशेष सत्र बुलाया था।  कांग्रेस इसका विरोध कर रही थी जबकि कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने न  केवल सत्र में हिस्सा लिया बल्कि भाषण भी दिया। 

  • बता दें कि सिंधिया के स्वागत में भाजपा कार्यालय में राज्य के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष बीडी शर्मा, पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और भारतीय जनता पार्टी के कई बड़े नेता मौजूद थे।

    ViewsMar 27, 2020, 11:29 AM IST

    एमपी में खत्म होने की कगार पर है कांग्रेस, दोहरा रहा है इतिहास

    सिंधिया परिवार हमेशा से ही भारतीय जनता पार्टी के पूर्ववर्ती भारतीय जनसंघ का प्रमुख संरक्षक रहा है।  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के साथ भी उनका बहुत अच्छा संबंध रहा है। जिवाजीराव सिंधिया ज्योतिरादित्य सिंधिया के दादा थे और वह अंतिम मराठा राजा थे और इसके साथ ही उनके जवाहर लाल नेहरू के साथ अच्छे रिश्ते थे। 1961 में जीवाजी राव और 1964 में नेहरू की मौत के बाद राजमाता विजया राजे सिंधिया ने भ्रष्ट वंशवादी पार्टी में वापस रहने का कोई कारण नहीं देखा।

  • undefined

    NewsFeb 19, 2020, 7:00 AM IST

    बंगला बचाने के लिए कांग्रेस प्रियंका को भेजेगी राज्यसभा!

    असल में जिन राज्यों में कांग्रेस सत्ता में है वह प्रियंका गांधी को राज्यसभा में भेजना  चाहते हैं। क्योंकि इन राज्यों के पास प्रियंका का उच्च सदन में भेजने का जरूररी बहुत है। लिहाजा राज्य में प्रियंका समर्थकों ने ये मुहिम चलाई है। कांग्रेस में प्रियंका गांधी के समर्थकों का कहना है कि प्रियंका गांधी के राज्यसभा में आने से पार्टी उच्च सदन में मजबूत होगी और वह केन्द्र सरकार को आसानी से कठघरे में खड़ा कर सकेंगी।

  • Amit Shah, Delhi Election, Delhi Assembly Election, Delhi BJP, Manoj Tiwari, Assembly Election

    NewsFeb 6, 2020, 9:25 PM IST

    दिल्ली में चुनाव के लिए थमा प्रचार, भाजपा और आप अव्वल तो कांग्रेस पीछे छूटी

    विधानसभा चुनाव के प्रचार के आखिरी दिन आज सभी पार्टियों ने अपनी पूरी ताकत लगा दी। हालांकि इस मामले में भाजपा सबसे आगे रही। वहीं आप ने भी अपने कार्यकर्ताओं को प्रचार में उतारा था। राजधानी दिल्ली में आज  जगह-जगह रोड शो, जनसभा, भाषण और सभाएं आयोजित की गई थी और कोई भी इस प्रचार के अंतिम दिन इस मौके को नहीं छोड़ना चाहता था।

  • undefined

    NewsFeb 4, 2020, 11:46 AM IST

    दिल्ली का दंगल: पीएम मोदी की दूसरी रैली तो गांधी परिवार भी करेगा चुनाव प्रचार

    दिल्ली में आठ फरवरी को मतदान होना है और छह फरवरी को चुनाव प्रचार खत्म हो जाएगा। इससे पहले कांग्रेस चुनावी प्रचार में बढ़त लेने के लिए आज मैदान में उतरेगी। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा चुनाव प्रचार करेंगे। हालांकि अभी तक कांग्रेस चुनाव में कहीं भी नजर नहीं आ रही थी। कांग्रेस के नेता भी मान रहे थे कि मुख्य मुकाबला भाजपा और आप में है।

  • amit shah

    NewsJan 30, 2020, 8:18 AM IST

    क्या भाजपा की फौज को टक्टर दे पाएगी कांग्रेस, प्रचार में पिछड़ी

    भाजपा ने अपनी चुनावी रणनीति में बदलाव किया है। उसने अपने सभी बड़े नेताओं को चुनाव प्रचार में उतारा है। वहीं बाहरी प्रदेशों से भी बड़े नेताओं को दिल्ली में बुलाया है। जो अपने -अपने क्षेत्रों के लोगों से बातचीत कर भाजपा के पक्ष में माहौल बनाएंगे। वहीं भाजपा अब दिल्ली में पूरी तरह से आम आदमी के मुकाबले खड़े हो गई है।  क्योंकि दिल्ली के शाहीन बाग में चल रहे धरना प्रदर्शन ने दिल्ली विधानसभा चुनाव का रूख बदला है। 

  • undefined

    NewsJan 28, 2020, 6:59 PM IST

    दिल्ली विधानसभा चुनाव: राहुल से ज्यादा प्रियंका की है मांग, पर अभी तक गांधी परिवार है प्रचार से दूर

    दिल्ली विधानसभा के प्रचार के लिए दिल्ली में राहुल गांधी से ज्यादा कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की डिमांड है। कांग्रेस ने इन दोनों को स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल किया है। लेकिन अभी तक गांधी परिवार के किसी भी सदस्य ने प्रचार शुरू नहीं किया है। दिल्ली में आठ फरवरी को मतदान होना है। दिल्ली में सभी राजनैतिक दल प्रचार में जुटे हैं। चाहे आप हो या फिर भाजपा। सभी में आगे चल रहे हैं। लेकिन कांग्रेस के बड़े नेता अभी तक चुनाव प्रचार से दूर दिख रहे हैं।