Kingmaker  

(Search results - 4)
  • <p>Amar Singh</p>

    NewsAug 1, 2020, 7:08 PM IST

    नहीं रहे राज्यसभा सदस्य और राजनेता अमर सिंह, कभी दिल्ली की सत्ता के थे किंगमेकर

    अमर सिंह ने आज स्वतंत्रता सेनानी बाल गंगाधर तिलक की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि दी थी और अपने फैंस को ईद अल अजहा की भी बधाई दी थी। वहीं तबीयत खराब होने के बावजूद वह सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय थे। 

  • fir registered against Sonia, Priyanak & owaisi

    NewsJan 6, 2020, 8:29 AM IST

    दिल्ली-20 के जरिए सत्ता का 'किंगमेकर' बनना चाहती है कांग्रेस

    हालांकि लोकसभा चुनाव में भी कांग्रेस का प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा जबकि उस वक्त उसके पास शीला दीक्षित जैसा करिश्माई चेहरा था। लेकिन इस बार विधानसभा चुनाव में उसके पास ऐसा कोई चेहरा नहीं है। जिस पर कांग्रेस पार्टी दांव खेल सकती है। हालांकि अभी कांग्रेस की स्थिति कमजोर है।

  • undefined

    NewsOct 26, 2019, 3:29 PM IST

    भाजपा ने दुष्यंत चौटाला को दिया डबल रिटर्न गिफ्ट, जानें अमित शाह से मिलते ही जेल में बंद पिता कैसे आए बाहर

    गठबंधन सरकार में शामिल होने वाली जननायक जनता पार्टी प्रमुख दुष्यंत चौटाला की हरियाणा सरकार ने सुरक्षा बढ़ा दी है। उनके आवास के साथ ही उनके साथ सुरक्षा का दायरा बढ़ा दिया गया है। जेजेपी ने भाजपा के साथ सरकार बनाने का फैसला किया है। इसके तहत जेजेपी के खाते में उपमुख्यमंत्री और दो कैबिनेट मंत्रियों का पद गया है। माना जा रहा है कि दुष्यंत या उनकी मां नैना चौटाला में से  कोई एक राज्य में उपमुख्यमंत्री हो सकता है। 

  • फिर अचानक एक दिन गीतिका ने कंपनी छोड़ दी और दुबई निकल गई। गीतिका के दुबई जाते ही कांडा बौखला गया और फोन और मैसेज पर गीतिका को टॉर्चर करने लगा। कांडा ने उसे दिल्ली वापस आने पर मजबूर करने लगा लेकिन गीतिका आगे बढ़ चुकी थी। दिल्ली आने के बाद भी कांडा ने गीतिका का पीछा नहीं छोड़ा, इसी वजह से उसका दम घुटने लगा और उस लड़की ने सुसाइड कर लिया। गीतिका ने दो पेज का सुसाइड नोट लिखा जिसमें उसने कांडा पर यौन शोषण, धोखा, धमकाना मौत के लिए उकसाना और हत्या की साजिश जैसे कई गंभीर आरोप लगाए।

    NewsOct 26, 2019, 2:56 PM IST

    कल तक भाजपा के लिए थे किंगमेकर आज हो गए हैं 'अछूत'

    हरियाणा में त्रिशंकु विधानसभा के बाद गोपाल कांडा सबसे  ज्यादा सक्रिय थे। कांडा राज्य के नेतृत्व के बजाए भाजपा के केन्द्रीय  नेतृत्व के संपर्क में थे। यहां तक कि गोपाल कांडा ने सभी निर्दलीय विधायकों को एक कर उन्हें दिल्ली ले गए। राज्य में 8 निर्दलीय विधायक चुने गए हैं। जबकि भाजपा को 40 सीटें और कांग्रेस को 31 सीटें  मिली हैं। वहीं जननायक जनता पार्टी को दस सीटें मिली हैं। जो अब भाजपा से गठबंधन कर सरकार में शामिल होने जा रही है।