Lord Shiva  

(Search results - 27)
  • <p>loard shiv</p>

    NewsJul 13, 2020, 7:36 AM IST

    आज सावन का दूसरा सोमवार, क्या आप भगवान शिव के बारे में जानते हैं ये बातें

    भगवान शिव अर्थात पार्वती के पति शंकर जिन्हें महादेव, भोलेनाथ, आदिनाथ भी कहा जाता है। भगवान शिव को 'आदिदेव' भी कहा जाता है। क्योंकि 'आदि' का अर्थ प्रारंभ। यानी इस ब्राह्मांड की रचना भगवान शिव ने की है। भगवान शिव का धनुष पिनाक, चक्र भवरेंदु और सुदर्शन, अस्त्र पाशुपतास्त्र और शस्त्र त्रिशूल है। वहीं रुद्राक्ष और त्रिशूल को भी शिव का चिह्न माना गया है। कुछ लोग डमरू और अर्द्ध चन्द्र को भी शिव का चिह्न मानते हैं. वहीं शिवलिंग अर्थात शिव की ज्योति का की भी पूजा की जाती है।

  • <p>শিব হলেন হিন্দু ধর্মাবলম্বীদের সর্বোচ্চ দেবতা। সনাতন ধর্মের শাস্ত্রসমূহে তিনি পরমসত্ত্বা রূপে ঘোষিত।&nbsp;</p>

    NewsJul 6, 2020, 7:14 AM IST

    सावन का पहला सोमवार आज, तीन सदी के बाद आया है ऐसा संयोग

    सावन के महीने में शिवभक्त शिवालयों में जाकर भगवान शिव  की पूजा अर्चना करते हैं और भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए गंगा जल और दूध ने ने स्नान कराते हैं और उसके बाद विधिवत तौर पर पूजा अर्चना करते हैं। वहीं महाकालेश्वर ज्योतिर्लिग की पूजन परपंरा में शनि प्रदोष का विशेष महत्व है। 

  • lord shivas black dog

    SpiritualitySep 15, 2019, 8:27 AM IST

    भैरव का प्रतीक कुत्ता भी है शिव का गण, जानिए कैसे मिला उसे यह स्थान

    भगवान शिव अनाथों के नाथ हैं। संसार में जिसका कोई सहारा नहीं होता उसे महादेव अवश्य अपने चरणों में स्थान देते हैं। यहां तक कि पशु पक्षियों की गिनती भी शिव के गणों में की जाती है। ऐसी ही एक कथा है काले श्वान यानी कुत्ते की। जिसे भगवान शिव ने अपने गणों में शामिल करके अपने प्रतिरुप भैरव का वाहन नियुक्त किया है। 
     

  • mansa devi

    SpiritualitySep 14, 2019, 9:31 AM IST

    जानिए कौन है भगवान शिव की लाडली बिटिया, जिसका आदेश मानते हैं दुनिया के सभी सांप

    भगवान शिव के परिवार का जब भी चित्रण किया जाता है तो देवी पार्वती और गोद में गणेश के साथ कार्तिकेय को दिखाया जाता है। जिससे ऐसा लगता है कि भोलेनाथ के मात्र दो पुत्र ही हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि भगवान शिव के एक पुत्री भी है। उनका नाम है मनसा देवी। जो अपने पिता की बेहद लाडली मानी जाती हैं। मनसा देवी को भगवान शिव ने नागलोक का साम्राज्य प्रदान किया है। 
     

  • yogi adityanath and meennath

    SpiritualitySep 13, 2019, 9:00 AM IST

    जानिए कैसे हुए थी योगी आदित्यनाथ के नाथ पंथ की शुरुआत

    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नाथ पंथ से पीठाधीश्वर भी हैं, जिनके पूरी दुनिया में लाखो शिष्य हैं। यह परंपरा स्वयं आदिनाथ यानी भगवान शिव से ज्ञान प्राप्त करके दादा गुरु मत्स्येन्द्रनाथ यानी मीननाथ ने शुरु की थी। जो कि महायोगी गुरु गोरखनाथ जैसे कई नाथ गुरुओं से होती हुई योगी आदित्यनाथ तक पहुंची है। आईए जानते हैं कैसे हुई नाथ संप्रदाय की शुरुआत-
     

  • Music is created by lord shiva himself that is identity of india

    SpiritualityAug 31, 2019, 7:53 AM IST

    स्वयं भगवान शिव से उत्पन्न है भारतीय जीवन का आधार 'संगीत'

    संगीत से भारत का बहुत बड़ा नाता है। भारतीय शास्त्रीय संगीत पूरे विश्व की अद्भुत कला विरासत है। संगीत का हमारे जीवन से इतना लगाव इसलिए है क्योंकि ध्वनियों के संयोजन की पद्धति सबसे पहले भारत में निकाली गई यानी उसका व्याकरण रचा गया। सुर बनाए गए और उन्हें ताल देने के लिए वाद्य तैयार किए गए। संगीत की उत्पत्ति महादेव से मानी जाती है। 
     

  • undefined

    SpiritualityAug 30, 2019, 8:48 AM IST

    संस्कृत है दुनिया की पहली भाषा और सनातन धर्म से है सभी संस्कृतियों की शुरुआत

    कुछ लोग सनातन संस्कृति की शुरुआत को सिंधु घाटी की सभ्यता से जोड़कर देखते हैं। जो गलत है। वास्तव में संस्कृत और कई प्राचीन भाषाओं के इतिहास के तथ्यों के अनुसार प्राचीन भारत में सनातन धर्म के इतिहास की शुरुआत ईसा से लगभग 13 हजार पूर्व हुई थी अर्थात आज से 15 हजार वर्ष पूर्व। इस पर विज्ञान ने भी शोध किया और वह भी इसे सच मानता है।
     

  • takshak

    NewsAug 27, 2019, 6:56 PM IST

    यही सांप है भगवान शिव के गले का कंठहार, उम्र है 900 साल?

    लखीमपुर खीरी के मैलानी कस्बे के एक घर से वन विभाग ने एक ऐसे सांप का रेस्क्यू किया है, जिसे तक्षक कहा जा रहा है। इस सांप के बारे में कहा जाता है कि इसकी प्रजाति 900 साल तक जिंदा रहती है। हालांकि वैज्ञानिक तौर से इसकी कोई पुष्टि नहीं कर रहा है। लेकिन मान्यताएं हैं कि इस प्रजाति की सांप सबसे ज्यादा जिंदा रहता है। 

  • mata

    Mysterious newsAug 12, 2019, 1:07 PM IST

    सृष्टि निर्माण की रहस्यमय आदिकथा

    प्राचीन शास्त्रों में लिखी गई कहानियां मात्र गल्प कथाएं नहीं हैं। उनका एक विशेष वैज्ञानिक आधार भी है। माय नेशन आपके लिए लेकर आया है देवी भागवत की एक कथा, जिसे हम वर्तमान वैज्ञानिक और सामाजिक संदर्भ में समझने की कोशिश करेंगे। यह अपनी तरफ का एक अनूठा प्रयास है। 
     

  • undefined

    SpiritualityAug 12, 2019, 11:19 AM IST

    इन 12 ज्योतिर्लिंगों के स्मरण मात्र से कट जाते हैं सभी पाप, माय नेशन पर करिए दर्शन

    पूरे भारतवर्ष में भगवान शिव से जुड़े हुए 12 पवित्र तीर्थस्थल हैं। कहा जाता है कि इनके स्मरण मात्र से मनुष्य के सभी पाप नष्ट हो जाते हैं। आईए आपको भी माय नेशन पर दर्शन कराते हैं 12 पवित्र ज्योतिर्लिंगों का और साथ में बताते हैं इनकी महिमा

     

     

  • undefined

    SpiritualityAug 12, 2019, 11:07 AM IST

    महादेव के संपूर्ण परिवार से करिए मुलाकात

    देवताओं में केवल भगवान शिव ही ऐसे हैं, जिनका अपना भरा पूरा परिवार है। उनके परिवार में बेटे बेटियों के अतिरिक्त पोते पोतियां भी हैं। ऐसा किसी और देवता के साथ देखने को नही मिलता है। इसलिए भारतीय सनातन संस्कृति में केवल भगवान शिव ही सर्व गुण संपन्न माने गए हैं। आईए आपको मिलवाते हैं भगवान शिव के परिवार से-

     

     

  • undefined

    SpiritualityAug 12, 2019, 10:59 AM IST

    किस तरह रुद्राक्ष पहनने से भगवान शिव होंगे खुश, जानिए यहां

    रुद्राक्ष भगवान शिव को बहुत प्रिय है। आधुनिक चिकित्सा विज्ञान ने भी रुद्राक्ष पहनने के कई तरह के फायदे गिनाए हैं। आईए आपको बताते हैं कि रुद्राक्ष कितने तरह के होते हैं और इसको कैसे धारण करें। साथ ही जानिए अलग तरह के रुद्राक्ष को धारण करने के लिए अलग अलग मंत्र-

     

     

  • undefined

    SpiritualityAug 12, 2019, 10:49 AM IST

    सावन में किन चीजों को घर में लाने से बदलता है भाग्य

    सावन को भगवान शिव का प्रिय महीना माना जाता है। इस महीने में भगवान शिव की भक्ति करने से वह जल्दी प्रसन्न होते हैं और अपने भक्तों को धन संपत्ति तथा सुख समृद्धि का वरदान देते हैं। दुनिया में कुछ चीजें ऐसी हैं जो भगवान शिव से संबंधित मानी जाती हैं। सावन के महीने में इन वस्तुओं को पास रखने से भगवान शिव की कृपा जल्दी प्राप्त होती है। आईए आपको बताते हैं कि आखिर क्या है ये वस्तुएं

  • lord shiva

    SpiritualityJul 30, 2019, 1:26 PM IST

    आज श्रावण मास की शिवरात्रि के दिन ऐसे करें भोलेनाथ को खुश

    आज त्रयोदशी तिथि है। हर महीने की त्रयोदशी तिथि भगवान शिव को समर्पित होती है और उसे शिवरात्रि कहा जाता है। लेकिन विशेष बात यह है कि आज श्रावण मास की त्रयोदशी है। यह महीना भगवान भोलेनाथ को अतिप्रिय है। 
     श्रावण मास की त्रयोदशी यानी शिवरात्रि को भगवान शिव की पूजा करने का विशेष फल मिलता है। आज हम आपके लिए लेकर आए हैं शिव पुराण का विशेष ज्ञान। जिसके मुताबिक आप अपनी राशि के मुताबिक भगवान विश्वनाथ की पूजा करके उन्हें प्रसन्न कर सकते हैं। तो जानिए किस राशि के लोगों को किस विधि से भगवान शिव का पूजन करना चाहिए-

  • lord shiva

    SpiritualityJul 29, 2019, 9:26 PM IST

    भगवान शिव के पूजन के समय इन 7 नियमों का जरुर रखें ध्यान

    सावन का महीना चल रहा है। पूरा देश भोलेनाथ की भक्ति में डूबा हुआ है। लेकिन भोलेनाथ की भक्ति के कुछ नियम भी हैं, जिन्हें आपको जरुर जानना चाहिए। क्योंकि इन नियमों का पालन करते हुए ही भगवान शिव के पवित्र लिंग की उपासना की जाती है। आईए आपको बताते हैं कि आखिर क्या है शिव जी की पूजा के दौरान रखी जाने वाली यह अहम सावधानियां-