Madhavrao Scindia  

(Search results - 2)
  • बता दें कि सिंधिया के स्वागत में भाजपा कार्यालय में राज्य के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष बीडी शर्मा, पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और भारतीय जनता पार्टी के कई बड़े नेता मौजूद थे।

    ViewsMar 27, 2020, 11:29 AM IST

    एमपी में खत्म होने की कगार पर है कांग्रेस, दोहरा रहा है इतिहास

    सिंधिया परिवार हमेशा से ही भारतीय जनता पार्टी के पूर्ववर्ती भारतीय जनसंघ का प्रमुख संरक्षक रहा है।  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के साथ भी उनका बहुत अच्छा संबंध रहा है। जिवाजीराव सिंधिया ज्योतिरादित्य सिंधिया के दादा थे और वह अंतिम मराठा राजा थे और इसके साथ ही उनके जवाहर लाल नेहरू के साथ अच्छे रिश्ते थे। 1961 में जीवाजी राव और 1964 में नेहरू की मौत के बाद राजमाता विजया राजे सिंधिया ने भ्रष्ट वंशवादी पार्टी में वापस रहने का कोई कारण नहीं देखा।

  • sindhiya

    NewsDec 16, 2018, 12:06 PM IST

    सिंधिया को राज्य की कमान देने के लिए लाबिंग शुरू, समर्थकों ने दिल्ली में डाला डेरा

    ज्योतिरादित्य सिंधिया ने खुद को राज्य संगठन की कमान देने के लिए आलाकमान पर दबाव बनाना शुरू कर दिया था। कमलनाथ के सीएम बनने के बाद ये तो तय है कि राज्य के संगठन की कमान किसी नेता को दी जाएगी। लेकिन कमलनाथ अपने किसी खास को इस पद पर नियुक्त कर सरकार और संगठन के बीच उभरने वाले मतभेदों को खत्म करना चाहते हैं।