Mulayam Singh Yadav  

(Search results - 72)
  • <p>amar singh</p>

    NewsAug 1, 2020, 8:34 PM IST

    ...ऐसे थे अमर सिंह, जब नशे में धुत मणिशंकर अय्यर की कर दी थी जमकर पिटाई

    दिल्ली की सत्ता में कभी अमर सिंह को समाजवादी पार्टी का चेहरा और सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव का दाहिना हाथ माना जाता था। अमर सिंह की सभी दलों में पकड़ थी और वह दिल्ली में सरकार बनाने के लिए किंगमेकर माने जाते थे। 

  • undefined

    NewsMar 25, 2020, 6:51 PM IST

    फिर एकजुट हो सकता है मुलायम परिवार, शिवपाल फिर हो सकते हैं सपाई

    हालांकि होली में एक नजरा देखा गया था जिसमें मुलायम का परिवार दो साल के बाद एक जुट दिखा था। हालांकि कार्यकर्ताओं द्वारा अखिलेश शिवपाल जिंदाबाद के नारे को लेकर अखिलेश यादव नाराज हो गए थे। होली के बाद मुलायम सिंह के पैतृक गांव सैफई में अखिलेश व शिवपाल दोनों एक ही मंच पर दिखे थे।

  • undefined

    NewsJan 19, 2020, 6:40 PM IST

    नेताजी ने दिया था शिवपाल यादव को धोखा, शिवपाल ने किया इशारा

    समाजवादी पार्टी से अलग होकर दो साल पहले पार्टी बनाने वाले शिवपाल सिंह की यादव की पार्टी हालांकि लोकसभा चुनाव में कोई खास करिश्मा नहीं दिखा सकी। लेकिन कई सीटों पर उसने सपा को हराने में अहम भूमिका भी निभाई। शिवपाल सिंह यादव फिरोजाबाद से सपा प्रत्याशी और अपने भतीजे अक्षय यादव के खिलाफ चुनाव लड़े थे। लेकिन शिवपाल को हार का सामना करना पड़ा। 

  • undefined

    NewsJan 15, 2020, 5:04 PM IST

    बबुआ अखिलेश ने बुआ मायावती को कहा ‘हैप्पी बर्थडे’

    बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती का आज 64वां जन्मदिन है और पार्टी उनका जन्मदिन मना रही है और उन्हें बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। लेकिन इसी बीच समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मायावती को जन्मदिन की बधाई दी है। 

  • NSG

    NewsJan 13, 2020, 8:11 AM IST

    मुलायम, माया को झटका देने की तैयारी में केन्द्र सरकार, घटेगा रूतबा

    केन्द्र सरकार ने कुछ दिन पहले ही गांधी परिवार से एसपीजी की सुरक्षा वापस ली है। वहीं अब केन्द्र सरकार ने वीआईपी सुरक्षा में बदलाव करने का फैसला किया है। वीआईपी की सुरक्षा में तैनात एनएसजी कमांडो को हटाकर उन्हें आंतकवाद विरोधी अभियानों के लिए लगाया जाएगा। 

  • undefined

    NewsNov 21, 2019, 8:25 AM IST

    यादव परिवार में 22 नवंबर को हो सकता है बड़ा ऐलान

    हालांकि किसी ने इस मामले को लेकर औपचारिक बयान नहीं दिया है। लेकिन लग रहा है कि यादव परिवार में लोगों ने इस एकता के लए कोशिशें शुरू कर दी हैं। कुछ समय पहले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बड़ा देकर सबके चौंका दिया था कि अगर कोई पार्टी में आना चाहता है तो उसका स्वागत है। सपा प्रमुख का ये इशारा शिवपाल सिंह की तरफ थे। लेकिन अब मुलायम सिंह और सपा को लेकर नरम हो रहे हैं। शिवपाल ने दो दिन पहले इटावा में कहा कि वह भी चाहते हैं कि परिवार में एकता हो।

  • undefined

    NewsNov 20, 2019, 7:00 AM IST

    जानें क्यों अखिलेश के लिए मुलायम हो रहे हैं शिवपाल

     शिववाल ने इटावा में बड़ा बयान देते हुए कहा कि वह वे सपा से गठबंधन को तैयार हैं। लिहाजा अब अखिलेश को भी इस बात के लिए तैयार हो जाना चाहिए। लेकिन यहां पर शिवपाल ये भी कहना नहीं भुले कि राज्य में सीएम अखिलेश यादव ही होंगे। शिवपाल ने कहा कि उन्होंने कभी नहीं कहा कि उन्हें प्रदेश का सीएम बनना है। बल्कि वह अखिलेश के लिए ही कहते थे कि उन्हें प्रदेश का सीएम होना चाहिए। लिहाजा प्रदेश का अगला सीएम अखिलेश ही होंगे। 

  • Story of Mulayam-Mayawati relation see through pictures

    NewsNov 8, 2019, 8:47 AM IST

    गेस्ट हाउस कांड को लेकर फिर 'मुलायम' हुईं माया

    इस साल लोकसभा चुनाव में करीब ढाई दशक के बाद मुलायम सिंह यादव और बसपा प्रमुख मायावती एक ही मंच पर दिखे। मायावती ने मुलायम सिंह के लिए मैनपुरी में वोट भी मांगे और मुलायम ने मायावती की जमकर तारीफ की। लोकसभा चुनाव से पहले गठबंधन बनाकर दोनों दलों इतिहास तो रचा लेकिन ये ज्यादा दिन नहीं चला। 

  • undefined

    NewsOct 30, 2019, 7:58 PM IST

    मुलायम से मिले योगी, शिवपाल मौजूद लेकिन अखिलेश रहे गायब

    अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की समाजवादी पार्टी के संरक्षक और पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव से मुलाकात काफी अहम मानी जा रही है। क्योंकि किसी दौर में मुलायम भी राम मंदिर बाबरी मस्जिद को लेकर विवादों में रहे और उन्होंने अयोध्या में कार सेवकों पर गोली चलाई थी और उसके बाद उन्होंने खुद को मुल्ला मुलायम सिंह कहना पसंद किया था। 

  • undefined

    NewsOct 1, 2019, 8:36 AM IST

    शिवपाल ने दिया अखिलेश को झटका, परिवार को लेकर हुए ‘मुलायम’

    प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने सपा और अखिलेश यादव के प्रति नरमी दिखाते हुए कहा कि सपा के लिए अभी भी समय है। उन्होंने कहा कि वह परिवार के लिए फैसला कर सकते हैं। लेकिन उनकी पार्टी का सपा में विलय नहीं बल्कि सपा के साथ चुनावी गठबंधन हो सकता है। शिवपाल ने कहा कि छह महीने पहले लोकसभा चुनाव के दौरान उन्होंने इसके लिए कोशिश भी की थी। लेकिन घर के ही षड़यंत्रकारियों ने ऐसा नहीं होने दिया।

  • undefined

    NewsSep 30, 2019, 10:33 AM IST

    रामगोपाल और आजम की बली लेकर शिवपाल को ‘बाहुबली’ घोषित कर सकेंगे अखिलेश!

    रविवार को ही सपा के विधानसभा में नेता रामगोविद चौधरी ने बयान दिया है कि अगर शिवपाल अपनी पार्टी का सपा में विलय करा लें तो उनकी विधानसभा की सदस्यता बरकरार रह सकती है। वहीं कुछ दिन पहले अखिलेश ने खुलेतौर पर बयान दिया था कि अगर कई पार्टी में आना चाहता है तो उसका स्वागत है। जब उनसे पूछ गया कि शिवपाल को भी पार्टी में लिया जा सकता है तो उन्होंने कहा कि सपा में लोकतंत्र है। ये नियम सबके लिए लागू है।

  • Akhilesh Yadav has refused ticket to Aperna Yadav, may fight Shivpal party symbol

    NewsSep 29, 2019, 10:14 AM IST

    फिर अखिलेश ने मुलायम को दिखाया ठेंगा, क्या बहू करेगी बगावत

    असल में कैंट सीट को भाजपा का गढ़ माना जाता है। हालांकि अभी तक भाजपा ने किसी को प्रत्याशी नहीं बनाया है। सपा ने यहां से मेजर आशीष चतुर्वेदी को टिकट दिया है। जबकि यहां से मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू टिकट पर दावेदारी कर रही थी। क्योंकि यहां पर 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में अपर्णा को मुलायम की सिफारिश पर अखिलेश यादव ने टिकट दिया था।

  • undefined

    NewsSep 20, 2019, 6:36 PM IST

    अखिलेश यादव के बदले सुर, चाचा शिवपाल की वापसी पर बोले सबके लिए खुले हैं दरवाजे

    आज लखनऊ में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल यादव की समाजवादी पार्टी में ढके-छिपे अंदाज में वापसी के संकेत दिए हैं। हालांकि अखिलेश ने साफ तौर पर किसी का नाम नहीं लिया लेकिन उन्होंने कहा कि अगर कोई पार्टी में आना चाहता है उसका स्वागत है। उन्होंने कहा समाजवादी विचार को भी नेता पार्टी में आना चाहता है तो उसके लिए दरवाजे हमेशा खुले हैं। 

  • undefined

    NewsSep 14, 2019, 3:51 PM IST

    योगी सरकार ने दिया मुलायम खानदान को झटका

    यूपी के प्रसिद्ध मुलायम खानदान का झटका देते हुए योगी आदित्यनाथ की सरकार ने उनसे लोहिया ट्रस्ट बिल्डिंग खाली करा ली है। राज्य के संपत्ति विभाग ने लखनऊ के पॉश इलाके  विक्रमादित्य मार्ग स्थित लोहिया ट्रस्ट के नाम से आवंटित बंगला खाली करा लिया है। इस ट्रस्ट के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव हैं, जबकि उनके छोटे भाई शिवपाल यादव इसके सचिव हैं। 
     

  • Shivpal Yadav target on akhilesh Yadav

    NewsSep 14, 2019, 8:19 AM IST

    बागी चाचा शिवपाल की विधायकी छिनेंगे अखिलेश

    सपा संरक्षक और शिवपाल सिंह के बड़े भाई मुलायम सिंह यादव परिवार में एकता की कोशिश करते रहते हैं। मुलायम  को उम्मीद थी कि अखिलेश यादव और शिवपाल एक साथ  हो जाएंगे। लेकिन फिलहाल इसकी उम्मीद नहीं दिखाई दे रही है। लोकसभा चुनाव में प्रसपा ने सपा को काफी नुकसान पहुंचाया था। खासतौर पर फिरोजबाद में जहां शिवपाल ने लोकसभा का चुनाव लड़ा था और यहां पर हालांकि शिवपाल चुनाव जीत न सके थे, लेकिन उन्होंने अक्षय यादव को हराने में अहम भूमिका निभाई।