Mulayam Singh Yadav  

(Search results - 67)
  • News21, Nov 2019, 8:25 AM IST

    यादव परिवार में 22 नवंबर को हो सकता है बड़ा ऐलान

    हालांकि किसी ने इस मामले को लेकर औपचारिक बयान नहीं दिया है। लेकिन लग रहा है कि यादव परिवार में लोगों ने इस एकता के लए कोशिशें शुरू कर दी हैं। कुछ समय पहले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बड़ा देकर सबके चौंका दिया था कि अगर कोई पार्टी में आना चाहता है तो उसका स्वागत है। सपा प्रमुख का ये इशारा शिवपाल सिंह की तरफ थे। लेकिन अब मुलायम सिंह और सपा को लेकर नरम हो रहे हैं। शिवपाल ने दो दिन पहले इटावा में कहा कि वह भी चाहते हैं कि परिवार में एकता हो।

  • News20, Nov 2019, 7:00 AM IST

    जानें क्यों अखिलेश के लिए मुलायम हो रहे हैं शिवपाल

     शिववाल ने इटावा में बड़ा बयान देते हुए कहा कि वह वे सपा से गठबंधन को तैयार हैं। लिहाजा अब अखिलेश को भी इस बात के लिए तैयार हो जाना चाहिए। लेकिन यहां पर शिवपाल ये भी कहना नहीं भुले कि राज्य में सीएम अखिलेश यादव ही होंगे। शिवपाल ने कहा कि उन्होंने कभी नहीं कहा कि उन्हें प्रदेश का सीएम बनना है। बल्कि वह अखिलेश के लिए ही कहते थे कि उन्हें प्रदेश का सीएम होना चाहिए। लिहाजा प्रदेश का अगला सीएम अखिलेश ही होंगे। 

  • Story of Mulayam-Mayawati relation see through pictures

    News8, Nov 2019, 8:47 AM IST

    गेस्ट हाउस कांड को लेकर फिर 'मुलायम' हुईं माया

    इस साल लोकसभा चुनाव में करीब ढाई दशक के बाद मुलायम सिंह यादव और बसपा प्रमुख मायावती एक ही मंच पर दिखे। मायावती ने मुलायम सिंह के लिए मैनपुरी में वोट भी मांगे और मुलायम ने मायावती की जमकर तारीफ की। लोकसभा चुनाव से पहले गठबंधन बनाकर दोनों दलों इतिहास तो रचा लेकिन ये ज्यादा दिन नहीं चला। 

  • News30, Oct 2019, 7:58 PM IST

    मुलायम से मिले योगी, शिवपाल मौजूद लेकिन अखिलेश रहे गायब

    अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की समाजवादी पार्टी के संरक्षक और पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव से मुलाकात काफी अहम मानी जा रही है। क्योंकि किसी दौर में मुलायम भी राम मंदिर बाबरी मस्जिद को लेकर विवादों में रहे और उन्होंने अयोध्या में कार सेवकों पर गोली चलाई थी और उसके बाद उन्होंने खुद को मुल्ला मुलायम सिंह कहना पसंद किया था। 

  • News1, Oct 2019, 8:36 AM IST

    शिवपाल ने दिया अखिलेश को झटका, परिवार को लेकर हुए ‘मुलायम’

    प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने सपा और अखिलेश यादव के प्रति नरमी दिखाते हुए कहा कि सपा के लिए अभी भी समय है। उन्होंने कहा कि वह परिवार के लिए फैसला कर सकते हैं। लेकिन उनकी पार्टी का सपा में विलय नहीं बल्कि सपा के साथ चुनावी गठबंधन हो सकता है। शिवपाल ने कहा कि छह महीने पहले लोकसभा चुनाव के दौरान उन्होंने इसके लिए कोशिश भी की थी। लेकिन घर के ही षड़यंत्रकारियों ने ऐसा नहीं होने दिया।

  • News30, Sep 2019, 10:33 AM IST

    रामगोपाल और आजम की बली लेकर शिवपाल को ‘बाहुबली’ घोषित कर सकेंगे अखिलेश!

    रविवार को ही सपा के विधानसभा में नेता रामगोविद चौधरी ने बयान दिया है कि अगर शिवपाल अपनी पार्टी का सपा में विलय करा लें तो उनकी विधानसभा की सदस्यता बरकरार रह सकती है। वहीं कुछ दिन पहले अखिलेश ने खुलेतौर पर बयान दिया था कि अगर कई पार्टी में आना चाहता है तो उसका स्वागत है। जब उनसे पूछ गया कि शिवपाल को भी पार्टी में लिया जा सकता है तो उन्होंने कहा कि सपा में लोकतंत्र है। ये नियम सबके लिए लागू है।

  • Akhilesh Yadav has refused ticket to Aperna Yadav, may fight Shivpal party symbol

    News29, Sep 2019, 10:14 AM IST

    फिर अखिलेश ने मुलायम को दिखाया ठेंगा, क्या बहू करेगी बगावत

    असल में कैंट सीट को भाजपा का गढ़ माना जाता है। हालांकि अभी तक भाजपा ने किसी को प्रत्याशी नहीं बनाया है। सपा ने यहां से मेजर आशीष चतुर्वेदी को टिकट दिया है। जबकि यहां से मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू टिकट पर दावेदारी कर रही थी। क्योंकि यहां पर 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में अपर्णा को मुलायम की सिफारिश पर अखिलेश यादव ने टिकट दिया था।

  • News20, Sep 2019, 6:36 PM IST

    अखिलेश यादव के बदले सुर, चाचा शिवपाल की वापसी पर बोले सबके लिए खुले हैं दरवाजे

    आज लखनऊ में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल यादव की समाजवादी पार्टी में ढके-छिपे अंदाज में वापसी के संकेत दिए हैं। हालांकि अखिलेश ने साफ तौर पर किसी का नाम नहीं लिया लेकिन उन्होंने कहा कि अगर कोई पार्टी में आना चाहता है उसका स्वागत है। उन्होंने कहा समाजवादी विचार को भी नेता पार्टी में आना चाहता है तो उसके लिए दरवाजे हमेशा खुले हैं। 

  • News14, Sep 2019, 3:51 PM IST

    योगी सरकार ने दिया मुलायम खानदान को झटका

    यूपी के प्रसिद्ध मुलायम खानदान का झटका देते हुए योगी आदित्यनाथ की सरकार ने उनसे लोहिया ट्रस्ट बिल्डिंग खाली करा ली है। राज्य के संपत्ति विभाग ने लखनऊ के पॉश इलाके  विक्रमादित्य मार्ग स्थित लोहिया ट्रस्ट के नाम से आवंटित बंगला खाली करा लिया है। इस ट्रस्ट के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव हैं, जबकि उनके छोटे भाई शिवपाल यादव इसके सचिव हैं। 
     

  • Shivpal Yadav target on akhilesh Yadav

    News14, Sep 2019, 8:19 AM IST

    बागी चाचा शिवपाल की विधायकी छिनेंगे अखिलेश

    सपा संरक्षक और शिवपाल सिंह के बड़े भाई मुलायम सिंह यादव परिवार में एकता की कोशिश करते रहते हैं। मुलायम  को उम्मीद थी कि अखिलेश यादव और शिवपाल एक साथ  हो जाएंगे। लेकिन फिलहाल इसकी उम्मीद नहीं दिखाई दे रही है। लोकसभा चुनाव में प्रसपा ने सपा को काफी नुकसान पहुंचाया था। खासतौर पर फिरोजबाद में जहां शिवपाल ने लोकसभा का चुनाव लड़ा था और यहां पर हालांकि शिवपाल चुनाव जीत न सके थे, लेकिन उन्होंने अक्षय यादव को हराने में अहम भूमिका निभाई।

  • News9, Sep 2019, 1:03 PM IST

    आजम के समर्थन में रद्द हुआ अखिलेश का दौरा, योगी सरकार ने नहीं दी रामपुर जाने की अनुमति

    आज लखनऊ में प्रेस कांफ्रेस कर अखिलेश यादव ने इसकी जानकारी मीडिया में दी वह अपने रामपुर में होने वाले प्रदर्शन को रद्द कर रहे हैं। क्योंकि प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की सरकार ने उन्हें इसकी अनुमति नहीं दी है। अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य सरकार सपा सांसद पर पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर मुकदमे दर्ज कर रही है।

  • Know why now Akhilesh will investigate the allegations against Azam Khan

    News7, Sep 2019, 4:09 PM IST

    आजम खान और उपचुनाव की मजबूरी में फंसे अखिलेश

    जानकारी के मुताबिक  9 सिंतबर को आजम खान के समर्थन में अखिलेश यादव रामपुर में प्रदर्शन करेंगे। इसके लिए रामपुर के आसपास से जिलों के कार्यकर्ताओं से पार्टी ने रामपुर में एकत्रित होने को कहा है। ऐसा पहली बार हो रहा है जब अखिलेश यादव पूरी तरह से आजम के समर्थन में उतर रहे हैं। जबकि पिछले कुछ समय से अखिलेश ने आजम खान से दूरी बनाकर रखी थी। 

  • sp will first decide Yadav family seats while other candidate will get next

    News7, Sep 2019, 1:19 PM IST

    मुलायम परिवार में फिर होने वाली है बगावत!

    अखिलेश की अपर्णा से नाराजगी को इसी बात से समझा जा सकता है कि जब अपर्णा ने संभल सीट से लोकसभा का टिकट मांगा तो अखिलेश ने शफीकुर रहमान बर्क को पार्टी का टिकट दिया। गौरतलब है कि 2016 में यादव परिवार में विवाद हुआ था और मुलायम से छोटे भाई शिवपाल सिंह ने अपने अलग पार्टी बनाई थी तो पार्टी की लांचिंग पर अपर्णा मुलायम सिंह के साथ शिवपाल के मंच पर दिखी थी। जिसके बाद अखिलेश उनसे नाराज चल रहे हैं।

  • Mulayam Singh yadav disappeared from star campaigner list of Samajwadi party

    News4, Sep 2019, 11:45 AM IST

    आजम पर अखिलेश की खामोशी और मुलायम का हल्ला बोल, क्या हैं इसके राजनैतिक मायने

    असल में रामपुर जिला प्रशासन ने जमीन पर कब्जा करने के मामले में भू-माफिया घोषित किया है। यही नहीं आजम खां के खिलाफ करीब छह दर्जन मुकदमे दर्ज होने के बाद समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव को आजम खां के समर्थन में उतरना पड़ा है। हालांकि पिछले दिनों सपा ने रामपुर में विरोध प्रदर्शन किया था। लेकिन फिलहाल आजम के मुद्दे पर पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव खामोश हैं। 

  • Will SP follow the path of Congress, Akhilesh will leave the throne and hand over the command of the party to Mulayam

    News3, Sep 2019, 12:24 PM IST

    मझधार में फंसे अखिलेश के पुत्रमोह में दो साल बाद पत्रकारों से रूबरू होंगे ‘नेताजी’

    असल में समाजवादी पार्टी अपने अस्तित्व के बाद सबसे मुश्किल दौर में खड़ी है। पार्टी के दिग्गज नेता पार्टी से किनारा कर रहे हैं। मुलायम सिंह यादव ने अस्सी के दशक के अंतिम सालों में सपा का गठन किया था और उसके बाद पार्टी चार पर सत्ता में रही। लेकिन आज पार्टी की स्थिति ये है कि उसके लोकसभा में पांच सदस्य हैं और राज्य विधानसभा में 47 विधायक।