Nitish Kumar  

(Search results - 96)
  • <p>sanjay kumar</p>

    News20, May 2020, 6:47 PM

    जानें क्यों नीतीश कुमार के करीबी प्रमुख सचिव स्वास्थ्य पर गिरी गाज, कोरोना के केस तो नहीं

     संजय कुमार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का करीबी माना जाता था। लेकिन राज्य  में प्रवासियों की संख्या बढ़ने के साथ ही कोरोना के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है। राज्य में कोरोना संक्रमण के मामले 16 सौ के स्तर पर पहुंच गए हैं।

  • <p>corona positive child</p>

    News16, May 2020, 1:45 PM

    जानें प्रवासियों के कारण बिहार में कितने फीसदी बढ़े कोरोना संक्रमण के मामले

    जानकारी के मुताबिक राज्य में 3 मई और 15 मई के बीच कोरोनवायरस के 501 नए मामले दर्ज किए गए, जिनमें से 391 मामले प्रवासियों से संबंधित हैं। राज्य के स्वास्थ्य सचिव लोकेश कुमार सिंह ने शुक्रवार को बताया कि नए मामलों में प्रवासियों की संख्या 78 प्रतिशत है। बिहार में पिछले 12 दिनों में 391 प्रवासियों में से 122 मामले ऐसे लोगों के हैं जो हाल ही दिल्ली से लौटे हैं।

  • <p>corona</p>

    News6, May 2020, 11:55 AM

    कैसे होगा कोरोना संकट कम, बिहार के अस्पतालों में 362 डॉक्टरों गायब

    राज्य में कोरोना का कहर जारी है और पिछले कुछ दिनों के दौरान राज्य में कोरोना के मामलों में इजाफा हुआ है।  वहीं राज्य में बाहर से प्रवासी मजदूर  भी आ रहे हैं। जिसके बाद राज्य में कोरोना के मामले बढ़ने आशंका है। लेकिन एक तरह जहां हजारों डाक्टर दिन रात कोरोना से लड़ रहे हैं वहीं राज्य के अस्पतालों में 362 डाक्टर गायब पाए गए हैं।  कोरोनावायरस के प्रकोप के बीच डॉक्टरों के गायब होने के बाद स्पष्टीकरण मांगा गया है।

  • <p>nitish kumar</p>

    News5, May 2020, 1:51 PM

    पीएम मोदी का फार्मूला अपनाएंगे सुशासन बाबू

    बिहार में कोरोना को लेकर राजनीति चरम है। विपक्षी दल लगातार नीतीश सरकार पर निशाना साध रहे हैं और सीएम नीतीश कुमार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठा रहे हैं। विपक्षी दलों का कहना है कि नीतीश कुमार को राज्य की जनता की चिंता नहीं है और इसलिए उन्होंने राज्य में प्रवासियों को लाने का फैसला नहीं किया। जबकि अन्य राज्य सरकार अन्य प्रदेशों से प्रवासियों को लेकर आयी है।

  • undefined

    News1, May 2020, 6:07 PM

    बिहार में कोरोना के 18 नए मामले, संक्रमितों की संख्या पहुंची 450

    बिहार में कोरोनावायरस ने 18 नए  मामले दर्ज किए गए हैं और इसके बाद संक्रमितों की संख्या 450 तक पहुंच गई है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने शुक्रवार को कहा कि बिहार में कोरोनावायरस के अठारह नए मामले सामने आए हैं। हालांकि राज्य में अभी तक कोरोना संक्रमण से दो लोगों की  मौत हुई है जबकि 82 लोग ठीक हो गए हैं और घरों के लिए डिस्चार्ज किए जा चुके हैं।

  • একই ছবি বিহারে। নীতিশ-লালুর জোট সরকার ভেঙে নীতিশ কুমারকেই মুখ্যমন্ত্রী রেখে সেখানেও সরকার গঠন করে বিজেপি।

    News27, Apr 2020, 9:31 PM

    प्रवासियों को लाने को लेकर नीतीश कुमार ने किए हाथ खड़े, विपक्ष को दिया मौका

    आज राज्य के मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम नरेंद्र मोदी की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हुई और इसमे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी  शामिल हुए। ज्यादातर राज्यों ने लॉकडाउन को समाप्त करने की वकालत की लेकिन  उनका कहना था कि लॉकडाउन में छूट शर्तों के साथ होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार दूसरे राज्यों से आ रहे लोगों को बिना क्वारनटाइन गांवों में प्रवेश की अनुमति नहीं देगी।

  • <p>tej pratap yadav</p>

    News26, Apr 2020, 7:04 PM

    चुनावी साल में कोरोना संकट के बीज बिहार में तेज प्रताप यादव कर रहे हैं 'सद्बुद्धि महायज्ञ', क्या है कारण

    असल में कोरोना संकट के बीच भी राज्य में सियायत गर्मीयी हुई है। राज्य में सत्ताधारी जनता दल यूनाइटेड और राजद के बीच में प्रवासी मजदूरों और कोटा में फंसे बच्चों को लेकर वादविवाद शुरू गया है। नीतीश कुमार अभी  प्रवासी मजदूरों और छात्रों को लेकर कोई फैसला नहीं कर सकें हैं जबकि अन्य सरकारें कोटा से छात्रों को उनके घरों तक पहुंचा चुके हैं।

  • <p style="text-align: justify;">बसों की जगह-जगह चेकिंग भी हो रही है। चेकिंग के दौरान यात्रियों की थर्मल स्कैननिंग हो रही है। इस दौरान खत्म हो जा रही है।(फाइल फोटो)</p>

    News25, Apr 2020, 2:04 PM

    चुनावी साल में नीतीश कुमार के लिए कोटा बना गले की फांस

    बिहार के हजारों छात्र अभी भी कोटा में फंसे हुए हैं। जिसको लेकर बिहार में राजनीति  गर्मायी हुई है। बिहार सरकार ने गुरुवार को ही कहा कि वहां फंसे हुए छात्रों की दुर्दशा को लेकर सरकार संवेदनशील है। लेकिन लॉकडाउन के बीच उन्हें वापस लाना ही नहीं। लिहाजा अब राज्य में विपक्षी दल इसे मुद्दा बना रहे हैं। विपक्षी दलों का कहना है कि कई राज्य कोटा से अपने छात्रों को निकाल चुके हैं तो बिहार सरकार क्यों नियमों का हवाला दे रही है।

  • drone

    News20, Apr 2020, 9:36 PM

    कोरोना का कहर: बिहार में ड्रोन कर रहे हैं निगरानी

    राज्य में अभी तक कोरोना वायरस के मामले आए हैं। राज्य में अभी तक 96 मामले  दर्ज किए गए हैं। राज्य के पांच जिलों में ही 76 मामले सामने आए हैं।  वहीं कई जिलों में मामले नहीं है। लिहाजा राज्य सरकार ने  जनता को राहत देते हुए लॉकडाउन में छूट देने का फैसला किया है। 

  • <p style="text-align: justify;">बसों की जगह-जगह चेकिंग भी हो रही है। चेकिंग के दौरान यात्रियों की थर्मल स्कैननिंग हो रही है। इस दौरान खत्म हो जा रही है।(फाइल फोटो)</p>

    News18, Apr 2020, 6:05 PM

    'कोटा' बना कोरोनावायरस की सियासत का अखाड़ा

    असल में कोटा में हजारों की तादाद में वहां पर कोचिंगों में पढ़ने वाले बच्चे फंसे हुए हैं। लॉकडाउन के कारण वह घर नहीं जा सके और अब इसके बढ़ जाने के कारण उनकी मुश्किलें बढ़ी हुई हैं। कोटा इंजीनियरिंग और मेडिकल की तैयारी करने का गढ़ माना जाता है और वहां पर कई राज्यों के हजारों की संख्या में बच्चे फंसे हुए हैं। लिहाजा यूपी की योगी सरकार ने वहां से बच्चों को निकालने के लिए वहां पर दो सौ बसों को भेजने का फैसला किया।

  • कौन हैं मोहम्मद साद : तब्लीगी जमात प्रमुख मोहम्मद साद पहली बार विवादों में नहीं है। इससे पहले उनके खिलाफ दारुल उलूम देवबंद से फतवा जारी हो चुका है। 1965 में दिल्ली में जन्मे साद की पहचान मुस्लिम धर्मगुरु के तौर पर होती है। उनका पारिवारिक संबंध तब्लीगी जमात के संस्थापक मौलान इलियास कांधलवी से है। साद ने अपनी पढ़ाई 1987 में मदरसा कशफुल उलूम, हजरत निजामुद्दीन और सहारनपुर से पूरी की। 1990 में उनकी शादी सहारनपुर के मजाहिर उलूम के प्रिसिंपल की बेटी से हुई।

    News1, Apr 2020, 1:50 PM

    कोरोना का कहर: बिहार के 81 लोगों ने लिया था मकरज के कार्यक्रम में हिस्सा, 30 की हुई पहचान

    बिहार सरकार ने कहा कि राज्य के 81 लोग ने दिल्ली में निजामुद्दीन मरकज में भाग लिया था। अभी तक राज्य सरकार ने 30 लोगों की पहचान की है, जिन्होंने निजामुद्दीन मरकज में मण्डली का हिस्सा था। मरकज फिलहाल विवादों में देश के हर राज्य में दिल्ली में हिस्सा लेने वालों लोगों की पहचान की जा रही है।

  • जिसके कारण सामान एक ट्रक में भरा है और घर के बाहर कई दिन से रखा है।

    News7, Mar 2020, 7:02 AM

    जानें क्यों लालू ने जदयू नेता को बनाया पार्टी का सचिव

    हालांकि पार्टी की नई कार्यकारिणी की चर्चा इस लिए भी हो रही है कि क्योंकि बिहार के माफिया डॉन और पार्टी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के करीबी माने जाने वाले शहाबुद्दीन को कार्यकारिणी से बाहर कर दिया गया है। वही राबड़ी देवी को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया है। राबड़ी तीसरी उपाध्यक्ष नियुक्त की गई हैं। जबकि पहले पार्टी में दो उपाध्यक्ष हुआ करते थे।

  • prashant kishore

    News3, Mar 2020, 12:31 PM

    आखिर अपने 'गुरु' नीतीश कुमार पर ही क्यों निशाना साध रहे हैं पीके

    अब पीके नीतीश कुमार के 15 साल के सुशासन पर निशाना साध रहे हैं। उन्होंने कहा कि सुशासन के 15 साल बाद भी बिहार सबसे पिछड़ा और गरीब राज्य क्यों है?। जबकि प्रशांत किशोर ने ही पिछले विधानसभा चुनाव नीतीश कुमार के सुशासन को प्रचारित किया था और राज्य में जदयू की सरकार बनाने में अहम भूमिका निभाई थी।

  • prashant

    News1, Mar 2020, 2:10 PM

    राजग हटाओ के मिशन पर काम कर रहे हैं पीके

    फिलहाल प्रशांत किशोर बिहार में युवाओं को जोड़ने के लिए काम कर रहे हैं। इसके लिए उन्होंने अभियान चलाया हुआ है। उनके कई गुट युवाओं को विभिन्न माध्यमों से युवाओं को जोड़ने के लिए काम कर रहे हैं। हालांकि पार्टी से निष्कासन के बाद माना जा रहा था कि पीके किसी दल में शामिल होंगे। लेकिन उन्होंने अभी तक किसी भी दल का हाथ नहीं थामा है।

  • undefined

    News23, Feb 2020, 1:50 PM

    बिहार में तेजस्वी की बेरोजगारी विरोध यात्रा पर फिर शुरू हुआ पोस्टर वॉर

    राज्य में काफी अरसे से राजद और सत्ताधारी जदयू के बीच में पोस्टर वॉर चल रहा है। कभी राजद की तरफ से राजधानी और राज्य में पोस्टर लगाए जाते हैं। जिसमें राजद शासनकाल को बेहतर जबकि जदयू के शासन काल को खराब बताया जाता है। वहीं जदयू अपने शासनकाल को सबसे अच्छा बताती है और राजद के शासन काल को घोटाले का दौर बताती है।