Pulses  

(Search results - 5)
  • Prices of pulses fall by 20 per cent, big relief for common man

    NewsNov 4, 2020, 10:10 PM IST

    दालों की कीमत में आई 20 फीसदी तक की गिरावट, आम आदमी को मिली बड़ी राहत

    जानकारी के मुताबिक अक्टूबर के महीने में मंहगाई तेज हो हो गई थी और दालों कीं कीमतों में लगातार इजाफा हो रहा था। लेकिन अब दालों की कीमत में गिरावट देखी जा रही है।

  • Relief expensive pulses will get relief, prices of pulses will be cheaper

    NewsOct 14, 2020, 9:12 PM IST

    राहत: महंगी दालों से मिलेगी निजात, सस्ती होंगी दालों की कीमत

    असल में महंगाई दर में इजाफा हुआ है और देश में खाद्य उत्पादों की कीमतों में लगातार इजाफा हो रहा है। देश में फिलहाल दालों की कीमतों में तेजी आई है। लिहाजा केन्द्र सरकार ने दाल का इंपोर्ट बढ़ाने का फैसला किया है।

  • Pakistani suffering in Niazi government, brought lentils for pulses

    NewsDec 25, 2019, 10:47 PM IST

    नियाजी की सरकार में पाकिस्तानी बेहाल, दाल रोटी के लिए पड़े लाले

    पाकिस्तान में इमरान खान की सरकार में अर्थव्यवस्था लगातार गिर रही है। पाकिस्तानी अर्थशास्त्री भी मानते हैं कि इमरान खान की सरकार के दौरान देश के हालत खराब हो रहे हैं। देश में महंगाई से लेकर बेरोजगारी लगातार बढ़ रही है। वहीं पाकिस्तान के पीएम जनता का ध्यान इन मुद्दों हटाने के लिए भारत का विरोध कर रहे हैं।

  • After onion and tomato, now the budget of Dal will spoil the kitchen

    NewsOct 4, 2019, 8:08 AM IST

    प्याज, टमाटर के बाद अब दाल बिगाड़ेगी रसोई का बजट

    बाजार के जानकारों का कहना है कि इस बार बारिश दालों के लिए अच्छी साबित नहीं हुई है। क्योंकिं दलहन उत्पादक राज्यों में बारिश के कारण फसलों पर असर पड़ा है। बारिश के कारण ही मध्यप्रदेश में उड़द की फसल को भारी नुकसान हुआ है। जिसके कारण कीमतों  में इजाफा होगा। वहीं बारिश के कारण दलहन की बुवाई भी कम हुई है। बारिश के कारण ही देश में पिछले एक हफ्ते के दौरान उड़द के दाम में 450-850 रुपये प्रति क्विंटल का इजाफा हुआ है। 

  • food inflation may cross seven percent mark due to low monsoon

    NewsJul 29, 2019, 8:19 PM IST

    मानसून करेगी आपकी जेब ढीली, महंगाई के लिए रहे तैयार

    इस बार फिर मानसून की बेरूखी आम जनता पर पढ़ सकती है। क्योंकि बारिश का असर सीधे तौर पर फसलों के उत्पादन पर पड़ने वाला है। कई राज्यों में बारिश के कारण खेतों में खड़ी फसल को नुकसान हो रहा है तो कहीं धान या अन्य मौसमी फसलों के लिए पानी नहीं मिल रहा है। जिसका सीधा असर उत्पादकता होगा। फिलहाल बाजार में बारिश के कारण सब्जियों के भाव आसमान छू रहे हैं।