Rampur  

(Search results - 100)
  • स्कर्ट वाली बाई-   साल 2019 की शुरुआत में लोकसभा चुनाव के चलते मेरठ से बीजेपी नेता जयकरण गुप्ता ने कहा था, ''कांग्रेस के नेता तो बड़ी जोर-जोर बोलते हैं, अच्छे दिन आए? उन्हें अच्छे दिन दिखाई नहीं देते, अरे स्कर्ट वाली बाई साड़ी पहनकर मंदिर में शीष लगाने लगी, गंगाजल से परहेज करने वाले लोग गंगाजल का आचमन करने लगे।'' उन्होंने इस बयान में किसी का नाम नहीं लिया था लेकिन इशारों में की गई उनकी यह टिप्पणी प्रियंका गांधी के ऊपर थी।

    News17, Feb 2020, 6:57 AM IST

    ....तो क्या टूटा जाएगा आजम खां के ड्रीम प्रोजेक्ट जौहर विश्वविद्यालय का 'सपना'

    सपा सांसद आजम खां किसी दौर में रामपुर में किसी सुल्तान से कम नहीं थे। रामपुर में उनके आदेश पर कोई काम नहीं होता था। लेकिन आज आजम खान का  ड्रीम प्रोजेक्ट मुश्किल में है और आजम खान उसे बचाने के लिए कोर्ट का चक्कर काट रहे हैं। असल में आजम खान ने रामपुर में जौहर ट्रस्ट की स्थापना की। इस ट्रस्ट को उन्होंने चैरिटी ट्रस्ट के जरिए पंजीकरण कराया और इसकी आड़ में उन्होंने जौहर विश्वविद्यालय की नींव रखी। 

  • undefined

    News14, Feb 2020, 8:49 AM IST

    आजम के बेटे को लगा बड़ा झटका, चुनाव आयोग ने कहा अब्दुला से वसूला जाए वेतन

    गौरतलब है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अब्दुल्ला आजम को अयोग्य करार दिया है और इसके साथ ही उनकी विधायकी को रद्द कर दिया है। हालांकि इसके खिलाफ अब्दुल्ला आजम खान ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। हालांकि उन्हें अभी तक राहत नहीं मिली है। अब ये सिद्ध हो चुका है कि अब्दुल्ला आजम खान ने चुनाव लड़ने के लिए फर्जी दस्तावेज का इस्तेमाल किया था और चुनाव लड़ा।

  • undefined

    News25, Jan 2020, 7:37 AM IST

    मुनादी के बाद भी कोर्ट में पेश नहीं हो रहा हैं आजम परिवार

    आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम खान दो जन्म प्रमाण मामले में फंसे हुए हैं। इस मामले में न सिर्फ अब्दुल्ला आजम खान बल्कि सपा सांसद आजम खान और उनकी विधायक पत्नी के खिलाफ भी मामला दर्ज है। कोर्ट इस मामले में आजम के परिवार को कोर्ट में पेश होने का आदेश दे चुका है। लेकिन अभी तक परिवार का कोई भी सदस्य कोर्ट में नहीं पहुंचा है।

  • undefined

    News24, Jan 2020, 10:44 AM IST

    आजम को झटके पे झटके, फिर खाली कराई जौहर यूनिवर्सिटी की जमीन

    गौरतलब है कि आजम खान के खिलाफ रामपुर में छह दर्जन से ज्यादा मुकदमें चल रहे हैं। इसमें कई मामले जमीन कब्जाने को लेकर हैं। यही नहीं सपा सरकार के दौरान जिस जौहर यूनिवर्सिटी को नियमों में ताक में रखकर बनाया गया। अब जिला प्रशासन उसी के खिलाफ कार्यवाही कर रहा है। 

  • स्कर्ट वाली बाई-   साल 2019 की शुरुआत में लोकसभा चुनाव के चलते मेरठ से बीजेपी नेता जयकरण गुप्ता ने कहा था, ''कांग्रेस के नेता तो बड़ी जोर-जोर बोलते हैं, अच्छे दिन आए? उन्हें अच्छे दिन दिखाई नहीं देते, अरे स्कर्ट वाली बाई साड़ी पहनकर मंदिर में शीष लगाने लगी, गंगाजल से परहेज करने वाले लोग गंगाजल का आचमन करने लगे।'' उन्होंने इस बयान में किसी का नाम नहीं लिया था लेकिन इशारों में की गई उनकी यह टिप्पणी प्रियंका गांधी के ऊपर थी।

    News23, Jan 2020, 10:18 AM IST

    आजम खान को झटका, फिलहाल राहत की उम्मीद कम

    योगी सरकार का मानना है कि पूर्व की सपा सरकार में अफसरों की मेहरबानी और नियमों को ताक पर रखकर जमीन दी गई थी। इन किसानों ने आरोप लगाया था कि प्रशासन और पुलिस ने दबाव डालकर जमीन की रजिस्ट्री जौहर विश्वविद्यालय के नाम करवाई थी। इस मामले में तत्कालीन सीओ सीट के खिलाफ भी किसानों ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

  • undefined

    News25, Dec 2019, 7:46 AM IST

    आजम खान की बढ़ी मुश्किलें, रामपुर हिंसा में शामिल था करीबी, 150 दंगाई की हुई पहचान

    नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में रामपुर में जमकर हिंसा और तोड़फोड़ हुई थी। इस हिंसा में एक युवक की मौत हो गई थी। रामपुर की हिंसा में पुलिस ने अभी तक 150 दंगाईयों की पहचान की है। जिन्होंने सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया और कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया।

  • FIR lodged against azam khan's son for forgery

    News18, Dec 2019, 6:27 AM IST

    खतरे में विधायकी: सुप्रीम कोर्ट पहुंचे अब्दुल्ला आजम

    असल में सोमवार को इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने रामपुर के ज्वार विधानसभा क्षेत्र से विधायक अब्दुल्ला आजम खान की विधायक को रद्द करने फैसला किया किया था। हालांकि कोर्ट ने इस पर कोई फैसला नहीं सुनाया। अब्दुल्ला आजम खान के खिलाफ बीएसपी उम्मीदवार नवाब काजिम अली खान ने याचिका दाखिल की थी। उन्होंने कोर्ट में दलील दी थी कि अब्दुल्ला आजम की विधायकी रद्द की जाए क्योंकि उन्होंने चुनाव लड़ने के लिए गलत प्रमाण पत्रों का सहारा लिया है और उनका चुनाव शून्य घोषित किया था।

  • undefined

    News17, Dec 2019, 6:46 AM IST

    आजम खान को लगा पहला बड़ा झटका, जाएगी बेटे की विधायकी

    रामपुर से सांसद आजम खान के बेटे और ज्वार सीट से समाजवादी पार्टी के विधायक अब्दुल्ला आजम खान को इलाहबाद हाईकोर्ट ने आज बड़ा झटका दिया है। अब ये तय हो गया है कि कोर्ट के आदेश के बाद उनकी विधायकी रद्द हो जाएगी। हालांकि अब्दुल्ला आजम खान के पास सुप्रीम कोर्ट भी जाने का मौका है।

  • undefined

    News3, Dec 2019, 9:58 AM IST

    फिर फर्जी जन्म प्रमाण पत्र मामले में आजम, पत्नी और बेटे की बढ़ी मुश्किलें

    कई दिनों की खामोशी के बाद आजम खान एक बार फिर मीडिया की सुर्खियों में हैं। इस बार आजम अपने बेटे के फर्जी जन्म प्रमाण पत्र के मामले में सुर्खियों में हैं। असल में आरोप और उनके बेटे और पततत्नी पर आरोप है कि उन्होंने अपने बेटे विधायक अब्दुल्ला आजम खान के दो जन्म प्रमाण पत्र बनाए हैं। इसमें एक पत्र लखनऊ और दूसरा रामपुर नगर पालिका से बनाया है। अब्दुल्ला आजम खान रामपुर से विधायक भी है। आरोप है कि  आजम खान ने अपने बेटे की आयु को कम करने के लिए दो जन्म प्रमाण पत्र बनाए हैं।

  • undefined

    News22, Nov 2019, 10:27 AM IST

    उपचुनाव जीतते ही बढ़ गई हैं आजम खान की पत्नी की मुश्किलें

    जानकारी के मुताबिक जिलाधिकारी के आदेश के बाद रामपुर में विधायक, तंजीम फातिम, उसके पति सांसद आजम खान और उनके बेटे विधायक अब्दुल्लाह आजम खान के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है। हालांकि आजम खान और उनके परिवार पर ये कोई पहला मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है। इससे पहले भी रामपुर में आजम  खान और उनके परिवार पर 80 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हो चुके हैं।

  • undefined

    News25, Oct 2019, 6:20 AM IST

    किला बचाकर आजम हुए सपा में मजबूत, घर में ही रही सीट

    असल में इस सीट पर चुनाव आजम खान के रामपुर से सांसद चुने के बाद हुआ था। ये सीट आजम खान का किला मानी जाती है। अभी तक आजम खान इस सीट पर नौ बार विधायक रह चुके थे। लेकिन एक बार फिर ये सीट उनके घर में ही गई। पार्टी ने इस सीट पर आजम खान की पत्नी तंजीम फातिमा को उतारा था। असल में आजम इस सीट को घर में रखना चाहते थे। 

  • undefined

    News18, Oct 2019, 7:32 PM IST

    प्रचार न करने के फैसले के बाद रामपुर में आजम की पत्नी का चुनाव प्रचार करेंगे, क्या हैं इसके मायने

    सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव रामपुर विधानसभा सीट में हो रहे उपचुनाव में प्रचार करेंगे। अखिलेश यादव चुनाव प्रचार के अंतिम दिन यानी शनिवार को रामपुर पहुंचेंगे और वहां जनसभा करेंगे। वह रामपुर में आजम खान की पत्नी के लिए वोट मांगेगे। फिलहाल अखिलेश यादव के इस फैसले के बाद राजनीतिक मायने निकाले जाने लगे हैं। क्योंकि अखिलेश यादव ने पहले फैसला किया था कि वह उपचुनाव के लिए चुनाव प्रचार नहीं करेंगे। उसके बाद अचानक रामपुर में चुनाव प्रचार करना, किसी के समझ नहीं आ रहा है।

  • undefined

    News18, Oct 2019, 7:56 AM IST

    जानें क्यों भाजपा महिला नेता कहा आजम को मिल रही है औरतों के आंसुओं की सजा

     समाजवादी पार्टी के नेता और सांसद आजम खान द्वारा छोड़ी गई विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव हो रहे हैं। इस चुनाव में पार्टी ने आजम की पत्नी और राज्यसभा सांसद तंजीन फातिमा को टिकट दिया है। लेकिन अब इस सीट पर मुकाबला दिलचस्प हो गया है। क्योंकि ये सीट अब आजम की प्रतिष्ठा का विषय बन गई है।

  • undefined

    News17, Oct 2019, 9:22 AM IST

    रामपुर उपचुनाव: आजम का तीन दशक पुराना किला ढहाने की कोशिश में भाजपा

    आजम खान के लोकसभा सदस्य चुने जाने के बाद रामपुर से उपचुनाव हो रहा है। सपा ने आजम की सांसद पत्नी  तंज़ीन फातिमा को टिकट दिया है। इसके भी कई कारण हैं। क्योंकि फातिमा का राज्यसभा का कार्यकाल अगले साल नवंबर तक है। उसके बावजूद वह रामपुर की इस सीट से अपनी किस्मत विधानसभा के लिए आजमा रही हैं। असल में आजम को डर था कि अगर ये सीट किसी बाहरी व्यक्ति को दी गई तो उनके समर्थक नाराज हो सकते हैं।

  • पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

    News15, Oct 2019, 9:32 AM IST

    अस्तित्व के लिए जूझ रही है सपा, लेकिन अखिलेश नहीं करेंगे उपचुनाव में प्रचार

    फिलहाल सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यूपी विधामसभा उपचुनाव में पार्टी प्रत्याशियों के पक्ष में प्रचार नहीं करने का फैसला किया है। हालांकि इसके कारण क्या हैं। ये कोई सपा नेता बताने को तैयार नहीं हैं। असल में कुछ नेताओं का ये कहना है कि पार्टी की स्थिति कई सीटों में काफी खराब है। जिसके कारण अखिलेश यादव ने प्रचार न करने का फैसला किया है।