Sacrifice  

(Search results - 8)
  • undefined

    NewsMar 3, 2020, 12:46 PM IST

    होली में राशियों के अनुसार दें आहुति, करें शत्रु और दरिद्रता का नाश

    अगर आप घर की दरिद्रता को नाश करना चाहते हैं और अपने दिक्कतों को दूर करना चाहते हैं तो आपके पास होली के मौके पर एक मौका है। क्योंकि होलिका दहन के दिन आप अपनी समस्याओं का दहन कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे आप अपनी राशियों के अनुसार ही होलिका में  जरूरी सामाग्री की आहुति अर्पित करें। इस बार रंगों के महापर्व होली में होलिका दहन फाल्गुन शुक्ल पूर्णिमा पर नौ मार्च को पूर्वफाल्गुन नक्षत्र में है। सोमवार को प्रदोष काल से लेकर निशामुख रात्रि 11 बजकर 26 मिनट होलिका है। ज्योतिष के जानकार  आचार्य जिज्ञासु जी के द्वारा आप होलिका में आहुति देकर बीमारियों, दरिद्रता और शत्रुओं का नाश कर सकते हैं।

    आचार्य जिज्ञासु का कहना है कि होलिका की भस्म पवित्र होती है।  होली के दिन संध्या बेला में इसका टीका लगाने से सुख-समृद्धि और आयु में वृद्धि होती है। वहीं अगर आप कई परेशान हैं तो होलिका में आहुति जरूर दें। ऐसा कर आप अपने कष्टों को कम कर सकते हैं। वहीं दूसरी तरफ इस दिन नई फसल और खुशहाली की कामना भी की जाती है। कहा जाता है कि होलिका की आग में सेंक कर लाए गए धान्यों को खाने से काया हमेशा निरोगी बनी रही थी है और घर में कोई  भी स्थिति हो लेकिन माता अन्नपूर्णा की कृपा बनी रहती है।

    आचार्य जिज्ञासु के मुताबिक नौ मार्च को होलिका दहन का शुभ मुहूर्त प्रदोष काल से मध्यरात्रि तक है। होलिका दहन के दिन सुबह छह बजकर आठ मिनट से लेकर दोपहर 12:32 बजे तक भद्रा है इसीलिए होलिका दहन भद्रा के बाद किया जाएगा। शास्त्रों के मुताबिक भद्रा को विघ्नकारक माना गया है  और भद्रा में होलिका दहन करने से हानि और अशुभ फल मिलते हैं।
     

  • BSY

    NewsFeb 4, 2020, 7:22 AM IST

    कैबिनेट विस्तार पर लगी है विधायकों की नजर, बलिदान, पहचान और सम्मान से मिलेगी कुर्सी

    कैबिनेट विस्तार को लेकर राज्य की छह महीने पुरानी भाजपा सरकार में असंतोष की लहर चल रही है। राज्य में येदियुरप्पा ने सीएम बनने के वक्त 20 अगस्त, 2019 में 17 मंत्रियों को शामिल किया था। लेकिन राज्य में कांग्रेस और जेडी (एस) के  दल बदलुओं ने भाजपा का दामन थामा था और राज्य में कांग्रेस और जेडीएस की सरकार को सत्ता से बाहर किया था। 

  • BSY

    NewsFeb 1, 2020, 8:20 AM IST

    'बलिदान' की कीमत चाहते हैं कर्नाटक के भाजपा विधायक

    येदियुरप्पा साफ कह चुके हैं कि जीतने वाले विधायकों को ही कैबिनेट में शामिल किया जाएगा। असल में राज्य में कांग्रेस और जेडीएस की सरकार से 17 विधायकों ने समर्थन वापस लिया था। जबकि भाजपा ने विधानसभा उपचुनाव में 13विधायकों को टिकट दिया था। इसमें से भाजपा 11 सीटों को जीतने में कामयाब रही। वहीं माना जा रहा था कि इस साल के शुरूआत में बीएस येदियुरप्पा कैबिनेट का विस्तार करेंगे। लेकिन अभी  तक विस्तार नहीं हो सका है।

  • undefined

    NewsAug 10, 2019, 1:04 PM IST

    कुर्बानी के लिए तैयार हैं बाहुबली, दबंग, सुल्तान और सलमान

    अजमेरी नस्ल का बकरा दबंग बाजार की रौनक बना है। इस बार जॉगर्स पार्क स्थित बाजार के अलावा ठाकुरगंज के गोमती नदी के किनारे गऊघाट पर बकरा मंडी सजी है। यहां पर राजस्थान, बिहार और अन्य प्रदेशों से व्यापारी बकरे लेकर आए हैं। मंडी में इस बार देसी से लेकर अजमेरी, जमनापारी, बर्रबरी और तोतापरी नस्ल के बकरों की धूम है।

  • JDS can sacrifice chief minister post to save political existence in Karnataka

    NewsJul 8, 2019, 11:49 AM IST

    कर्नाटक में राजनैतिक अस्तित्व बचाने को जेडीएस देगी राजनैतिक बलि !

    राज्य में कांग्रेस के 11 विधायक और 3 जेडीएस के विधायकों द्वारा इस्तीफा देने के बाद राज्य में कुमारस्वामी सरकार अल्पमत में आ गयी है। कुमारस्वामी कल रात ही विदेश दौरे से लौटे हैं और विधायकों को एकजुट करने में लगे हुए हैं। राज्य में कांग्रेस भी अपने विधायकों को मनाने में लगी है।

  • Rahul and Rajiv Gandhi

    ViewsMay 7, 2019, 2:16 PM IST

    कैसे राजीव गांधी का कांग्रेस ने खुद बनाया मजाक: जानिए तीन अहम तथ्य

    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जैसे ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को निशाना बनाते हुए कहा कि "आपके पिताजी को आपके राग दरबारियों ने मिस्टर क्लीन बना दिया था। गाजे-बाजे के साथ मिस्टर क्लीन मिस्टर क्लीन चला था। लेकिन देखते ही देखते भ्रष्टाचारी नंबर वन के रूप में उनका जीवनकाल समाप्त हो गया।" कांग्रेस के नेता गुस्से से उबलने लगे और पीएम पर उनके हमले शुरु हो गए। लेकिन क्या कांग्रेस पार्टी को राजीव गांधी की शहादत को याद भी करने का अधिकार है?

  • बच्चे की बलि

    NewsApr 12, 2019, 5:19 PM IST

    मध्य प्रदेश के जबलपुर में बच्चे की बलि दिए जाने की आशंका

    जबलपुर में चार दिन से लापता बच्चे की लाश बोरे में मिली है। बच्चे के हाथ पैर तार से बंधे हुए थे और उसके सिर के बाल भी कटे हुए थे। इस बालक का शव गांव के ही एक खंडहर मकान में मिला है। ऐसा माना जा रहा है बालक की हत्या नरबलि की गई थी पुलिस इस आरोप की जांच कर रही है। 
     

  • प्रतीकात्मक तस्वीर

    NationJul 6, 2018, 11:27 AM IST

    घाटी के छावनी इलाके में गोल्फ़ मैदानों को आर्मीचीफ़ ने दिखाई लाल झंडी

    आर्मीचीफ़ जनरल विपिन रावत ने जन भावना का सम्मान करते हुए श्रीनगर के कैंटोन्मेंट इलाके में अधिकारियों के गोल्फ़ खेलने पर पाबंदी लगा दी है। सैन्यप्रमुख के मुताबिक जहां जवान आतंकवादियों से लड़ रहे हैं वहां कोई गोल्फ़ नहीं खेल सकता।