Shiv Sena  

(Search results - 113)
  • undefined

    News17, Feb 2020, 6:36 AM IST

    शरद पवार और उद्धव ठाकरे के बीच चल रही तनातनी के बीच एनसीपी ने बुलाई अहम बैठक

    असल में ठाकरे और पवार के बीच तनातनी का सबसे बड़ा मुद्दा कोरेगांव है। जिसकी उद्धव ठाकरे सरकार जांच एनआईए को देने की अनुमति दे दी है। जिसको लेकर शरद पवार काफी नाराज बताए जा रहे हैं। असल में पिछले दिनों ही राज्य सरकार ने कहा था कि कोरेगांव की जांच राज्य की पुलिस करेगी।

  • उसने बताया कि वह लोकतंत्र के लिए उस विरोध प्रदर्शन में शामिल हुई थी। वहां, कई पोस्टर बन रहे थे। मैं कश्मीर से नहीं हूं। इसी दौरान मैंने सोचा कि हम यहां संविधानिक स्वतंत्रता के लिए इकट्ठा हुए हैं, तो 5 महीने से इंटरनेट बंद क्यों हैं। उन लोगों की आवाज उठाने के लिए मैंने ये पोस्टर उठाया।

    News13, Feb 2020, 11:03 AM IST

    राज्यसभा की सातवीं सीट के लिए महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना की बीच फिर होगी जंग

     राज्यसभा के सदस्य के लिए 37 विधायकों के समर्थन की आवश्यकता होती है। वहीं राज्य में भारतीय जनता पार्टी के 105 विधायक हैं और उसे नौ निर्दलीय विधायकों का समर्थन प्राप्त है। जबकि सत्तारूढ़ गठबंधन में, शिवसेना के 56 विधायक हैं,राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस के पास क्रमशः 54 और 44 विधायक हैं। जबकि 20 अन्य विधायकों में से कम से कम 15 विधायकों के राज्य के सत्तारूढ़ गठबंधन के पक्ष में जाने की उम्मीद की जा रही है। 
     

  • As a result, an average household of 5 individuals that eat two vegetarian Thalis a day, gained around Rs 10887, on average per year, while a non-vegetarian household gained Rs 11787, on average per year," according to Economic Survey.

    News12, Feb 2020, 6:12 AM IST

    महाराष्ट्र में शुरू हुई थाली पॉलीटिक्स, शिवसेना की 'शिवभजन' तो भाजपा ने शुरू की 'दीनदयाल'

    पिछले महीने 26 जनवरी को महाराष्ट्र की शिवसेना सरकार ने राज्य में 'शिवभोज थाली' की शुरूआत की थी। इस थाली का दाम दस रुपये रखा था। ताकि गरीब वर्ग के लोग इस थाली से पेट भर सकें। लेकिन अब राज्य सरकार की तर्ज पर भारतीय जनता पार्टी ने राज्य में दीन दयाल थाली को लॉच किया है। 

  • undefined

    News11, Feb 2020, 9:39 AM IST

    मराठा आरक्षण पर आज उद्धव सरकार की अहम बैठक

    महाराष्ट्र के मंत्री अशोक चव्हाण ने आज राज्य में मराठा आरक्षण के मुद्दे पर गठित कैबिनेट उप समिति की बैठक बुलाई है। चव्हाण महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे द्वारा गठित उप-समिति के प्रमुख हैं। इस कमेटी में कैबिनेट मंत्री एकनाथ शिंदे, बालासाहेब थोरात, विजय वडेट्टीवार और दिलीप वालसे पाटिल सदस्य हैं। मराठा आरक्षण कई वर्षों से महाराष्ट्र की राजनीति में एक विवादास्पद मुद्दा बना हुआ है।

  • undefined

    News9, Feb 2020, 11:08 AM IST

    मुंबई में राज ठाकरें दिखाएंगे आज अपनी ताकत, शिवसेना के वोट बैंक में लगाएंगे सेंध

    मनसे ने राज्य में पार्टी का पहला अधिवेशन कर राज्य की सत्ताधारी शिवसेना को चुनौती थी और अब वह राज्य में आज पहली रैली करने जा रही है। मुंबई के आजाद मैदान पर होने वाली रैली में राज ठाकरे अपने कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। माना जा  रहा है कि इस रैली में करीब दो लाख से ज्यादा लोग हिस्सा लेंगे। इस रैली के लिए मनसे ने खास तैयारियां की है। इस रैली में शामिल होने के लिए भगवे रंग की टी शर्ट, टोपी और हाथ में बांधने वाली पट्टी तैयार की गई है। 

  • undefined

    News7, Feb 2020, 7:31 AM IST

    तो ऐसे राज्य की सत्ता से भाजपा को बाहर करेंगी शिवसेना,कांग्रेस और एनसीपी

    महाराष्ट्र में अभी तक भाजपा को तीन दल सत्ता से बाहर रखने में सफल रहे हैं। हालांकि एनसीपी और कांग्रेस पहले ही कह चुकी हैं कि मुस्लिम और अल्पसंख्यकों के कहने के पर उन्होंने शिवसेना का साथ सरकार बनाई। लेकिन यही दावे शिवसेना के लिए मुश्किलें खड़ा कर रहे हैं। क्योंकि खांटी हिंदुत्व की राजनीति करने वाले शिवसेना के कार्यकर्ता और नेता इस बात को मानने को तैयार नहीं है।

  • undefined

    News1, Feb 2020, 7:54 AM IST

    कांग्रेस बढ़ा रही है मुस्लिम आरक्षण का दबाव, चक्रव्यूह में फंसी शिवसेना

    महाराष्ट्र की उद्धव सरकार राज्य में आने वाले दिनों में मुस्लिमों को दे सकती है। क्योंकि कांग्रेस और शिवसेना के गठबंधन बनने से पहले कांग्रेस ने ये शर्त रखी थी। जिसे शिवसेना सरकार ने माना था। वहीं अब कांग्रेस का कहना है कि ये एजेंडे में है। वहीं दूसरी तरफ एनसीपी नेता नबाब मलिक का कहना है कि राज्य में ये मुस्लिमों के लिए बड़ा मुद्दा है।

  • Leaders active after hearing postponement in SC, Uddhav Thackeray to meet Fadnavis, Sharad and Ahmed Patel with legislators

    News31, Jan 2020, 7:54 AM IST

    शिवसेना गलती मानने को तैयार तो भाजपा कर सकती है समझौता

    पिछले साल नवंबर में  शिवसेना ने महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के साथ गठबंधन किया था। हालांकि शिवसेना ने भाजपा के साथ चुनाव लड़ा था। लेकिन मुख्यमंत्री के मुद्दे पर दोनों दलों में सहमति नहीं बनी और शिवसेना ने भाजपा के साथ  अपना तीन दशक पुराना गठबंधन तोड़ लिया था।
     

  • undefined

    News28, Jan 2020, 7:20 AM IST

    कांग्रेस नेताओं के बोल, शिवसेना की खोल रहे हैं पोल

    महाराष्ट्र में शिवसेना सरकार की मुश्किलें कांग्रेस पार्टी के नेता ही बढ़ा रहे हैं। हालांकि  कुछ दिन पहले उद्धव ठाकरे ने कहा था कि मंत्रियों के बयानों पर लगाम लगाने के लिए सरकार समन्वय समिति का गठन करेगी। इसमें ये तय किया जाएगा कि राज्य के मंत्रियों को किस तरह के बयानों से बचना चाहिए। लेकिन उसके बावजूद राज्य में शिवसेना की मुश्किलें सहयोगी दल ही बढ़ा रहा हैं। 

  • raj-uddhav

    News26, Jan 2020, 7:59 AM IST

    बुरी फंसी शिवसेना: मनसे के दबाव में भाजपा को समर्थन, पर अब कांग्रेस नाराज

    महाराष्ट्र में शिवसेना कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर सरकार चला रही है। शिवसेना कभी कट्टर हिंदुत्व की राजनीति करती थी। लेकिन राज्य में कांग्रेस के साथ सरकार बनाने के बाद शिवसेना नरम हिंदुत्व की राह पर है। लेकिन महज एक दिन में शिवसेना दावा कर रही है कि उनसे हिंदुत्व को नहीं छोड़ा है। असल में शिवसेना की दुविधा ये है कि वह इस मुद्दे को मनसे को नहीं देना चाहती है। जिसने दो दिन पहले ही अपने चाल और चरित्र को बदला है।

  • Raj Thackeray

    News25, Jan 2020, 11:08 AM IST

    मनसे के तेवर देख बढ़ी शिवसेना की धड़कनें, कहा पाकिस्तानी और बांग्लादेशियों को निकालो

    शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में पाकिस्तानी और बांग्लादेशी मुसलमानों को देश से बाहर निकालने का लेख लिखा है। लिहाजा इस बात को आसानी से समझा जा सकता है कि दो दिन पहले मनसे के अधिवेशन में जिस तरह के हिंदुत्व के एजेंडे पर चलने का संकल्प लिया था। लेकिन अब शिवसेना दावा कर रही है वह भी हिंदुत्व के एजेंडे पर काम रही है और वह भटकी नहीं है। जबकि सरकार गठन के वक्त कांग्रेस ने शिवसेना से साफ कहा था कि उसे अपना कट्टटर हिंदुत्व का चेहरा बदलाना होगा। जिस पर शिवसेना ने रजामंदी दी थी।

  • undefined

    News24, Jan 2020, 8:08 AM IST

    ऐसे तो शिवसेना की हिंदुत्व की राजनीति हो जाएगी खत्म, कांग्रेस के बाद शरद पवार का बड़ा खुलासा

    एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि अल्पसंख्यक समुदायों के प्रतिनिधियों ने उनसे कहा था कि अगर एनसीपी राज्य में शिवसेना के साथ हाथ मिलाती है तो उन्हें कोई आपत्ति नहीं होगी। क्योंकि अल्पसंख्यक भाजपा को सत्ता से दूर रखना चाहते थे। लिहाजा एनसीपी ने शिवसेना के साथ सरकार बनाई।

  • undefined

    News23, Jan 2020, 2:23 PM IST

    सावरकर,भगवा और हिंदुत्व, शिवसेना को मात देने की तैयारी में राज!

    शिवसेना के संस्थापक बालासाहेब ठाकरे की जयंती के मौके पर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने अपने अधिवेशन की शुरूआत की। इस सम्मेलन में राज ठाकरे ने नया भगवा झंडा लॉन्च किया। वहीं उन्होंने हिंदुत्व और सावरकर की भी फोटो लगाई। जिससे इसका बात का अर्थ आसानी से समझा जा सकता है कि राज ठाकरे की पार्टी बदलने वाली है।

  • sanjay raut

    News19, Jan 2020, 8:43 AM IST

    सावरकर को लेकर महाराष्ट्र में घमासान, शिवसेना और कांग्रेस में जुबानी जंग शुरू

    संजय राउत ने सीधे तौर पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि जिस व्यक्ति को वीर सावरकर को समझना है, उसे दो दिन अंडमान की जेल में रहना चाहिए। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही राहुल गांधी ने कहा कि वह राहुल सावरकर नहीं हो सकते हैं। जिसके बाद शिवसेना और कांग्रेस में जुबानी जंग शुरू हो गई थी। लेकिन अब संजय राउत के इस बयान के कांग्रेस ने भी शिवसेना के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

  • sharadh pawar in press confer

    News18, Jan 2020, 8:13 AM IST

    जानें क्यों भिड़े शिवसेना सांसद संजय राउत और एनसीपी चीफ पवार

    कभी इंदिरा गांधी के करीबी माने जाने वाले एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने साफतौर पर कहा कि शिवसेना सांसद संजय राउत को इस तरह का बयान नहीं देना चाहिए था। जिसका कोई आधार न हो। वहीं अपने बयान के बाद राउत ने इसे वापस ले लिया था और इसका दोष मीडिया को दिया था। हालांकि राउत के बयान के बाद राजनीति शुरू हो गई थी और वहीं कांग्रेस भी बैकफुट पर आ गई थी।