Vidisha  

(Search results - 5)
  • Sushma Swaraj condolance

    NewsAug 7, 2019, 8:14 AM IST

    लोधी रोड स्थित श्मशान घाट में होगा सुषमा का अंतिम संस्कार, भाजपा कार्यालय में भी कर सकेेंगे अंतिम दर्शन

    भारतीय जनता पार्टी के ओजस्वी वक्ताओं में शुमार सुषमा स्वराज को कल रात को एम्स में भर्ती कराया गया। जहां करीब एक घंटे तक डाक्टरों ने उन्हें बचाने की कोशिश की लेकिन नाकामयाब रहे। उन्हें हार्ट अटैक पड़ा था, जिसके बाद उन्हें सीधे एम्स ले जाया गया। उनकी मौत की खबर सुनकर केन्द्र सरकार के ज्यादातर मंत्री अस्पताल पहुंचे। आधी रात को दुखद खबर आने के बावजूद उनके चाहने वाले अंतिम दर्शन को व्याकुल हो रहे हैं।

  • আফগানিস্তানে তালিবানদের হাতে বন্দি কলকাতার এক মেয়েকেও উদ্ধার করেন,   কিডনির অসুখের জন্য ২০১৯-এর লোকসভা ভোটে দাঁড়াননি।

    NewsAug 7, 2019, 7:51 AM IST

    जब सुषमा स्वराज ने लड़ी ‘विदेशी बहू’ से लड़ाई, कहा था बन जाएंगी भिक्षुणी

    सुषमा स्वराज को भारतीय राजनीति के तेज-तर्रार वक्ताओं में गिना जाता है। उनके भाषणों ने विदेशों में पाकिस्तान को आतंकवाद के मुद्दे पर घेरा तो वहीं कई मुद्दों पर भाजपा की ढाल बनी। लेकिन उनके राजनीतिक जीवन में 1999 अहम बना। उन्हें 999 में उनके राजनीतिक जीवन में वह भी क्षण आया जब उन्हें विदेशी बहू से चुनावी लड़ाई पड़ी।

  • सुषमा स्वराज

    NewsAug 7, 2019, 6:46 AM IST

    खुशी के अपने आखिरी संदेश से पूरे देश को रुला गईं सुषमा स्वराज

    सुषमा स्वराज ने एम्स ले जाने से महज तीन घंटे पहले ही जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक के लोकसभा में पारित होने पर ट्वीट किया था। उन्होंने इस विधेयक के पारित होने पर प्रधानमंत्री का आभार जताया था। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, 'प्रधानमंत्री जी-आपका हार्दिक अभिनंदन। मैं अपने जीवन में इस दिन को देखने की प्रतीक्षा कर रही थी।' 

  • सुषमा स्वराज का राजनीतिक सफर

    NewsAug 7, 2019, 1:04 AM IST

    इंदिरा गांधी के बाद दूसरी महिला विदेश मंत्री रही सुषमा, महज 25 साल में बनीं हरियाणा में कैबिनेट मंत्री

    सुषमा स्वराज ने अपने राजनीतिक करियर शुरूआत आपातकाल के दौरान की थी। हालांकि वह पेशे से वकील थी। लेकिन उन्होंने राजनीति में लंबी पारी खेली। वह पहली बार 1977 में हरियाणा से विधायक चुनी गईं। महज 25 वर्ष की उम्र में वह तत्कालीन राज्य सरकार में कैबिनेट मंत्री बनी थी। वह 1977-1979 में हरियाणा में चौधरी देवी लाल की सरकार में श्रम मंत्री रही।

  • Sushma Swaraj's husband and other family members, along with Dr Harshvardhan, Piyush Goyal, Pralhad Joshi and Nitin Gadkari, are present at AIIMS.

    NewsAug 7, 2019, 12:25 AM IST

    अपने नेक कार्यो के लिए भारत ही नहीं दुनिया में याद की जाएंगी सुषमा स्वराज

    सुषमा स्वराज ऐसी पहली विदेश मंत्री रही जिन्होंने विदेशों में फंसे भारतीयों की स्वदेश वापसी कराई और सोशल मीडिया में आने वाली शिकायतों को तुरंत सुना और उसका निवारण किया। 
    विदेश मंत्री के तौर पर उनके कार्यों को भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया याद रखेगी। सुषमा स्वराज को मोदी सरकार की तेज तर्रार मंत्रियों में माना जाता था। उन्होंने अपने विदेश मंत्री के कार्यकाल के दौरान आतंकवाद के मुद्दे पर पूरे पाकिस्तान को दुनिया के सामने बेनकाब किया।