कमलनाथ के गढ़ में प्रधानमंत्री ने कांग्रेस की खोली पोल

https://static.asianetnews.com/images/authors/37bebc63-c320-55ec-ad62-6b53455a14e9.png
First Published 18, Nov 2018, 5:29 PM IST
PM in chhindwada
Highlights

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कमलनाथ के गृह क्षेत्र छिंदवाड़ा में चुनाव प्रचार करने पहुंचे। उन्होंने कांग्रेस नेताओं को कन्फ्यूज और पूरी पार्टी को फ्यूज करार दिया। पीएम ने कांग्रेस पर विकास में फेल रहने का आरोप लगाया। 

मध्य प्रदेश में मतदान के लिए अब कुछ ही दिन बाकी रह गए हैं। यहां तीन जिलों की 13 विधानसभा सीटों को लिए प्रचार करने पीएम नरेन्द्र मोदी रविवार को छिंदवाड़ा पहुंचे। 
यह मध्य प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष कमलनाथ का गृहक्षेत्र है। यहां एक जनसभा करते हुए पीएम ने कमलनाथ के साथ साथ पूरी कांग्रेस पार्टी को निशाने पर लिया। 
पीएम मोदी ने साथ कहा कि कांग्रेस अपना संतुलन खो बैठी है। कांग्रेस के नेता कंफ्यूज हो गए हैं और पूरी की पूरी पार्टी फ्यूज हो गई है। 

पीएम ने कांग्रेस घोषणापत्र में गोशाला के मुद्दे पर कहा कि 'मध्य प्रदेश के घोषणा पत्र में तो कांग्रेस पार्टी गाय माता का गौरवगान कर रही है लेकिन केरल में खुले आम रास्ते पर कांग्रेस के लोग गाय के बछड़े का सर काटकर मांस खाते हुए अपनी तस्वीर निकालकर कहते हैं कि गो-मांस खाना हमारा अधिकार है। धोखा करना कांग्रेस पार्टी के स्वभाव में है इसलिए देश की जनता उन पर विश्वास करने वाली नहीं है।' 

पीएम ने आरोप लगाया कि देश की आजादी से अब तक कांग्रेस पार्टी ने झूठ बोलने की इतनी जबरदस्त प्रैक्टिस की है कि उनको अब झूठ बोलने में और झूठ फैलाने में महारत हासिल हो गया है।' 
पीएम मोदी ने कमलनाथ पर तंज कसते हुए कहा कि राज दरबारी ने राग दरबारी गाया लेकिन कुछ हुआ क्या? उन्होंने कहा, 'चोर-लुटेरों को गाजे-बाजे के साथ रखा गया, यह मैं नहीं बल्कि खुद उनका वीडियो कह रहा है। ऐसे लोगों के हाथों में न माताओं-बहनों की सुरक्षा दे सकते हैं, न प्रदेश के विकास की जिम्मेदारी दे सकते हैं।' 

अपने भाषण में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, 'किसानों के लिए माचा गोरा डैम इसमें कमलनाथजी जरा सा भी आपका सहयोग था क्या? मैं जरा इनसे पूछना चाहता हूं कि बड़े गाजे-बाजे के साथ यह राज दरबारी ने स्पाइस पार्क बनाया था क्या? गरम मसालों का पार्क बनाया था क्या। 2009 में इनके पार्क को ताले लग गए, उनके यार दोस्त मशीन उठाकर ले गए। ऐसे लोगों पर यकीन कर सकता है। प्लाईवुड की फैक्ट्री खोली गई थी, जो खंडहर हो गई। आरोप है कि रिश्तेदार मशीनरी भी उठाकर ले गए। करोड़ों रुपयों की जमीन मुफ्त ली गई। सब्सिडी ली गई।' 
मोदी ने कांग्रेस पार्टी को सपने बेचने वाले सौदागर करार दिया और कहा कि आपको सूत मिल का सपना दिखाया था, शेयर करने के नाम पर किसानों ने हजार-हजार रुपये रोका था लेकिन सूत मिल बनी क्या। ऊपर से नीचे तक मार लेना इनकी आदत में है। ऐसे दल इनका अब हिंदुस्तान में, मध्य प्रदेश में, छिंदवाड़ा में नहीं होने चाहिए यदि आपको अपना भविष्य सलामत रखना है।

 
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, 'चोर-लुटेरे गाजे-बाजे के साथ रखे गए, यह मैं नहीं बल्कि उनका खुद का विडियो कह रहा है। ऐसे लोगों के हाथों में न माताओं-बहनों की सुरक्षा दे सकते हैं, ऐसे लोगों की विदाई होना बहुत आवश्यक है। आपके आशीर्वाद से छिंदवाड़ा को आगे ले जाने के इरादे से आया हूं। नामदार से पूछना चाहता हूं कि चौराहे पर जाकर घिसीपिटी कैसेट बजा रहे हो। चार पीढ़ी का हिसाब दो मैं चार साल की पाई-पाई का हिसाब देता हूं। 55 साल कांग्रेस के और 15 साल भारतीय जनता पार्टी के तराजू में तौल लो।' 

पीएम ने बिना नाम लिए राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि 'नामदार के पिताजी ने कहा था कि दिल्ली से एक रुपया निकलता है तो गांव जाते-जाते 15 पैसा हो जाता है, देखा इनका जादू। यह मैंने नहीं बल्कि नामदार के पिताजी ने कहा था। राजीव गांधी ने कहा था। जब राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे तो पंचायत से पार्लियामेंट तक किसी का झंडा नजर नहीं आता था। जब हर जगह कांग्रेस के लोग राज कर रहे थे तो 15 पैसा रह जाता था। जवाब दो कि कौन सा पंजा था जिससे 15 पैसा ही बचता था। लूटने की व्यवस्था थी।' 

कांग्रेसियों द्वारा खुद को गाली दिए जाने पर पीएम ने कहा कि 'पता है मोदी को ये अनाप-शनाप भाषा में क्यों संबोधित करते हैं क्योंकि उन्हें पता है कि इनकी पूरी समस्या की वजह ही मोदी है। जांच की, आधार जोड़ा, जनधन खाता खोला पता चला कि जिनका नामोनिशान नहीं है, उनके नाम पर विधवा पेंशन जा रही थी, जो बेटी अभी तक पैदा नहीं हुई वह कांग्रेस के राज में विधवा भी हो जाती थी और पेंशन भी चली जाती थी। जो बच्चा पैदा नहीं हुआ उसके नाम पर मध्याह्न भोजन भी बंट जाता था....। दिल्ली में जब ईमानदार सरकार बैठी है तो देश के 90 हजार करोड़ रुपये जो इस गलत तरह से चोरी कर लिया जाता था उसे मोदी सरकार ने रोक लिया, जिनका 90 हजार करोड़ रुपया गया वह नाराज होगा कि नहीं होगा। यह नाराजगी और गुस्सा इसी बात का है। 90 हजार करोड़ रुपये सालाना गरीबों के हक का पैसा लूट लिया जाता था। हमने इसे रोका इसलिए मोदी को ऐसा बोला जाता है।' 

'क्या-क्या बोलते हैं, डिक्शनरी में जितनी गालियां हैं...हिंदी की डिक्शनरी निकाल लीजिए, अंग्रेजी की डिक्शनरी निकाल लीजिए चायवाले को गाली, पकौड़ेवाले को गाली, सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर गाली, देश की सेना के अध्यक्ष को गाली, देश के चौकीदार को गाली। आपा खो बैठे हैं भाई। फिर कहते हैं कन्फ्यूज हो गए है, आप कन्फ्यूज हो गए हैं और आपकी पार्टी फ्यूज हो गई है। ये किसानों को मूर्ख बनाने निकले हैं। पचास-पचपन साल राज किया किसान को पानी पहुंचाना आपका जिम्मा था यही नहीं। मध्य प्रदेश में जब से शिवराज सरकार आई तो किसान को पानी पहुंच रहा है। इन्होंने इंसान की हेल्थ कार्ड तो छोड़िए हमने धरती माता की सेहत के लिए सॉइल हेल्थ कार्ड बनाया।' 

मध्य प्रदेश में 28 नवंबर को मतदान होने वाला है। इसे देखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लगातार चुनाव प्रचार में जुटे हुए हैं। मध्य प्रदेश में कांग्रेस की 15 साल से सरकार बनी हुई है। 

 

loader