राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के लिए शीला दीक्षित का बड़ा योगदान रहा

First Published 20, Jul 2019, 6:58 PM IST

दिवंगत शीला दीक्षित तीन बार दिल्ली की मुख्यमंत्री रह चुकी थीं। उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी को विकसित करने में बड़ा योगदान दिया। उन्होंने दिल्ली को वास्तव में देश की राजधानी होने लायक बनाकर तैयार किया। 
 

दिल्ली में मेट्रो लाने की योजना तो खुराना सरकार के दौरान बनाई गई थी। लेकिन दिल्ली मेट्रो का काम सुचारु रुप से कार्यान्वित कराने के लिए दिल्ली की तत्कालीन मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को हमेशा याद किया जाएगा।

दिल्ली में मेट्रो लाने की योजना तो खुराना सरकार के दौरान बनाई गई थी। लेकिन दिल्ली मेट्रो का काम सुचारु रुप से कार्यान्वित कराने के लिए दिल्ली की तत्कालीन मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को हमेशा याद किया जाएगा।

शीला दीक्षित ने ही अपने मुख्यमंत्रित्व काल में दिल्ली में कॉमनवेल्थ गेमों का सफलतापूर्वक आयोजन करवाया। इसके लिए भारत की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सराहना हुई थी।

शीला दीक्षित ने ही अपने मुख्यमंत्रित्व काल में दिल्ली में कॉमनवेल्थ गेमों का सफलतापूर्वक आयोजन करवाया। इसके लिए भारत की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सराहना हुई थी।

सामाजिक रुप से शीला दीक्षित महिलाओं को समाज में बराबरी का दर्जा दिलाने के हक में थीं। वह महिलाओं के स्वावलंबन की उदाहरण अपने आप में थीं। उन्होंने अपने पति के निधन के बाद अपने ससुर उमाशंकर दीक्षित को सहारा दिया और बेटे की जगह उनकी राजनीतिक विरासत को बखूबी संभाला।

सामाजिक रुप से शीला दीक्षित महिलाओं को समाज में बराबरी का दर्जा दिलाने के हक में थीं। वह महिलाओं के स्वावलंबन की उदाहरण अपने आप में थीं। उन्होंने अपने पति के निधन के बाद अपने ससुर उमाशंकर दीक्षित को सहारा दिया और बेटे की जगह उनकी राजनीतिक विरासत को बखूबी संभाला।

शीला दीक्षित ने रोजगारपरक शिक्षा की ओर विशेष ध्यान देते हुए दिल्ली को ट्रिपल आईआईटी का तोहफा दिया। जिसने दिल्ली को शैक्षणिक हब के रुप में विकसित होने में मदद दी।

शीला दीक्षित ने रोजगारपरक शिक्षा की ओर विशेष ध्यान देते हुए दिल्ली को ट्रिपल आईआईटी का तोहफा दिया। जिसने दिल्ली को शैक्षणिक हब के रुप में विकसित होने में मदद दी।

शीला दीक्षित ने दिल्ली के पर्यावरण को प्रदूषणमुक्त बनाने के लिए बड़ा कदम उठाया। उन्होंने दिल्ली की बस सेवा डीटीसी की सारी बसों को सीएनजी चालित करवा दिया। जिससे दिल्ली के प्रदूषण के स्तर में भारी कमी आई।

शीला दीक्षित ने दिल्ली के पर्यावरण को प्रदूषणमुक्त बनाने के लिए बड़ा कदम उठाया। उन्होंने दिल्ली की बस सेवा डीटीसी की सारी बसों को सीएनजी चालित करवा दिया। जिससे दिल्ली के प्रदूषण के स्तर में भारी कमी आई।

दिल्ली में जगह जगह दिखते हुए सीएनजी पंप शीला दीक्षित की ही देन हैं। बारी राज्यों में अभी भी सीएनजी बेहद मुश्किल से मिलती है। शीला दीक्षित के इस काम में भविष्य की झलक दिखाई देती है।

दिल्ली में जगह जगह दिखते हुए सीएनजी पंप शीला दीक्षित की ही देन हैं। बारी राज्यों में अभी भी सीएनजी बेहद मुश्किल से मिलती है। शीला दीक्षित के इस काम में भविष्य की झलक दिखाई देती है।

दिल्ली की सड़कों को जाम से मुक्ति दिलाने के लिए शीला दीक्षित ने दिल्ली में फ्लाईओवरों का जाल बिछवा दिया। उनके शासनकाल में कई पूरी दिल्ली में सैकड़ों की संख्या में फ्लाईओवर तैयार किए गए थे।

दिल्ली की सड़कों को जाम से मुक्ति दिलाने के लिए शीला दीक्षित ने दिल्ली में फ्लाईओवरों का जाल बिछवा दिया। उनके शासनकाल में कई पूरी दिल्ली में सैकड़ों की संख्या में फ्लाईओवर तैयार किए गए थे।

loader