प्रकट हो रहे हैं बाबा बर्फानी: सबसे पहले माय नेशन पर कीजिए दर्शन

First Published 1, May 2019, 2:22 PM IST

अमरनाथ यात्रा शुरू होने में अभी समय है। लेकिन बाबा बर्फानी का प्राकट्य शुरु हो चुका है।

हालांकि देश के सभी इलाकों में भीषण गर्मी पड़ रही है। लेकिन भगवान शिव के बर्फीले स्वरुप अमरनाथ पर इसका कोई असर नहीं दिख रहा है। उन्होंने भक्तों को दर्शन देने के लिए मूर्त स्वरुप धारण करना शुरु कर दिया है।

हालांकि देश के सभी इलाकों में भीषण गर्मी पड़ रही है। लेकिन भगवान शिव के बर्फीले स्वरुप अमरनाथ पर इसका कोई असर नहीं दिख रहा है। उन्होंने भक्तों को दर्शन देने के लिए मूर्त स्वरुप धारण करना शुरु कर दिया है।

कश्मीर में पवित्र अमरनाथ गुफा में हर साल भगवान शिव का बर्फानी स्वरुप शिवलिंग के रुप में प्रकट होता है। भोलेनाथ के इस अद्भुत स्वरुप का दर्शन करने के लिए लाखों भक्त वहां पहुंचते हैं।

कश्मीर में पवित्र अमरनाथ गुफा में हर साल भगवान शिव का बर्फानी स्वरुप शिवलिंग के रुप में प्रकट होता है। भोलेनाथ के इस अद्भुत स्वरुप का दर्शन करने के लिए लाखों भक्त वहां पहुंचते हैं।

भक्तों को पूरे साल बाबा बर्फानी का यह स्वरूप देखने के लिए इंतजार करना पड़ता है। लेकिन इस बार भगवान ने अपने प्रिय भक्तों पर समय से पहले ही कृपा बरसाने की ठान ली हैं। इसलिए वह समय से पहले ही प्रकट हो रहे हैं।

भक्तों को पूरे साल बाबा बर्फानी का यह स्वरूप देखने के लिए इंतजार करना पड़ता है। लेकिन इस बार भगवान ने अपने प्रिय भक्तों पर समय से पहले ही कृपा बरसाने की ठान ली हैं। इसलिए वह समय से पहले ही प्रकट हो रहे हैं।

भगवान शिव का बर्फीला विग्रह कुछ इस तरह अपना स्वरुप ग्रहण कर रहा है। माय नेशन के हाथ यह ताजा तस्वीरें लगी हैं। इसमें स्पष्ट देखा जा सकता है कि किस तरह अमरनाथ गुफा में पवित्र शिवलिंग अपना स्वरुप ले रहा है।

भगवान शिव का बर्फीला विग्रह कुछ इस तरह अपना स्वरुप ग्रहण कर रहा है। माय नेशन के हाथ यह ताजा तस्वीरें लगी हैं। इसमें स्पष्ट देखा जा सकता है कि किस तरह अमरनाथ गुफा में पवित्र शिवलिंग अपना स्वरुप ले रहा है।

हर साल लाखों की संख्या में भक्त भगवान अमरनाथ के दर्शन करने के लिए पवित्र गुफा में पहुंचते हैं। इस यात्रा पर कई बार आतंकियों ने हमला भी किया है। लेकिन अपनी जान की परवाह किए बिना भक्त यहां पहुंच ही जाते हैं। भक्तों की सुविधा के लिए माय नेशन ने भी आपको घर बैठे दर्शन कराने की ठानी है।

हर साल लाखों की संख्या में भक्त भगवान अमरनाथ के दर्शन करने के लिए पवित्र गुफा में पहुंचते हैं। इस यात्रा पर कई बार आतंकियों ने हमला भी किया है। लेकिन अपनी जान की परवाह किए बिना भक्त यहां पहुंच ही जाते हैं। भक्तों की सुविधा के लिए माय नेशन ने भी आपको घर बैठे दर्शन कराने की ठानी है।

अमरनाथ गुफा भारत में भगवान शिव के सबसे पवित्र धार्मिक स्थलों में से एक है। यह वही गुफा है जहां महादेव ने माता पार्वती को अमर कथा सुनाई थी। तब से अब तक यहां भक्तों को हमेशा भोलेनाथ की मौजूदगी का अहसास होता है।

अमरनाथ गुफा भारत में भगवान शिव के सबसे पवित्र धार्मिक स्थलों में से एक है। यह वही गुफा है जहां महादेव ने माता पार्वती को अमर कथा सुनाई थी। तब से अब तक यहां भक्तों को हमेशा भोलेनाथ की मौजूदगी का अहसास होता है।

मान्यता है कि यहां पर रहने वाले कुछ पक्षियों ने भी माता पार्वती के साथ अमरकथा का श्रवण किया था। जो कि अमर हो गए। यहां वह सभी पक्षी भी देखे जाते हैं।

मान्यता है कि यहां पर रहने वाले कुछ पक्षियों ने भी माता पार्वती के साथ अमरकथा का श्रवण किया था। जो कि अमर हो गए। यहां वह सभी पक्षी भी देखे जाते हैं।

अमरनाथ को तीर्थों का तीर्थ कहा जाता है। क्योंकि यहां भोलेनाथ और माता पार्वती सूक्ष्म रुप से सदैव विराजमान रहते हैं।

अमरनाथ को तीर्थों का तीर्थ कहा जाता है। क्योंकि यहां भोलेनाथ और माता पार्वती सूक्ष्म रुप से सदैव विराजमान रहते हैं।

loader