भारत बनाम साउथ अफ्रीका- जानिए यहाँ भारत की जीत के 5 हीरो !

First Published 6, Jun 2019, 12:23 AM IST

भारत ने वर्ल्डकप की शुरुआत आसान सी जीत के साथ की है। वहीँ दूसरी तरफ साऊथ अफ्रीका के लिए ये लगातार तीसरी हार है। अब उसे सेमीफाइनल्स में पहुँचने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी। आज के मैच में टॉस जीतकर साउथ अफ्रीका ने पहले बैटिंग करते हुए मात्र 50 ओवर में 9 विकेट खोकर 227 बनाये जिसका पीछा करते हुए भारत ने 4 विकेट खोकर 47.3 ओवर में ये मैच आसानी से जीत लिया।
इस मैच को आसान सी जीत में बदलने वाले 5 अहम खिलाड़ी कौन है देखिये यहाँ -

जसप्रीत बुमराह ने मैच को शुरुआत में ही भारत के पक्ष में मोड़ दिया था। उन्होंने पहले 6 ओवर में ही साउथ अफ्रीका के दोनों ओपनर बल्लेबाज़ों को चलता किया, जिससे साउथ अफ्रीका की टीम दबाव में आगयी। जसप्रीत बुमराह ने पूरे मैच में सटीक गेंदबाज़ी करते हुए अपने 10 ओवर में मात्र 35 रन देकर 2 खिलाड़ियों को आउट किया।

जसप्रीत बुमराह ने मैच को शुरुआत में ही भारत के पक्ष में मोड़ दिया था। उन्होंने पहले 6 ओवर में ही साउथ अफ्रीका के दोनों ओपनर बल्लेबाज़ों को चलता किया, जिससे साउथ अफ्रीका की टीम दबाव में आगयी। जसप्रीत बुमराह ने पूरे मैच में सटीक गेंदबाज़ी करते हुए अपने 10 ओवर में मात्र 35 रन देकर 2 खिलाड़ियों को आउट किया।

भुवनेश्वर कुमार जिन्हें भारतीय टीम का इकोनोमिकल बॉलर माना जाता है उन्होंने इस बात को आज एक बार फिरसे साबित कर दिया। उन्होंने शुरुवात से ही नपी-तुली गेंदबाज़ी की। उन्हें अपने पहले स्पेल में कोई विकेट तो नहीं मिला लेकिन उन्होंने दूसरे छोर से बल्लेबाज़ों पर दबाव बनाये रखा। हालाँकि उन्हें मैच के आखिर में दो सफलता भी मिली लेकिन उन्होंने पूरे मैच में बल्लेबाज़ों को रन बनाने का बिलकुल मौका नहीं दिया। उन्होंने अपने 10 ओवर में 44 रन देकर 2 विकेट लिए।

भुवनेश्वर कुमार जिन्हें भारतीय टीम का इकोनोमिकल बॉलर माना जाता है उन्होंने इस बात को आज एक बार फिरसे साबित कर दिया। उन्होंने शुरुवात से ही नपी-तुली गेंदबाज़ी की। उन्हें अपने पहले स्पेल में कोई विकेट तो नहीं मिला लेकिन उन्होंने दूसरे छोर से बल्लेबाज़ों पर दबाव बनाये रखा। हालाँकि उन्हें मैच के आखिर में दो सफलता भी मिली लेकिन उन्होंने पूरे मैच में बल्लेबाज़ों को रन बनाने का बिलकुल मौका नहीं दिया। उन्होंने अपने 10 ओवर में 44 रन देकर 2 विकेट लिए।

युजवेंद्र चहल ने आज जबरदस्त स्पिन गेंदबाज़ी करते हुए 4 खिलाड़ियों को आउट किया। जो दबाव पहले 10 ओवर में बुमराह और कुमार ने बनाया था उसको चहल ने न सिर्फ बरक़रार रखा बल्कि उसे और   बढ़ा दिया  दिया और एक के बाद एक साउथ अफ्रीका के 4 खिलाड़ियों को आउट किया । चहल की गेंदबाज़ी ने अफ्रीकन टीम की बल्लेबाज़ी की ऐसी कमर तोड़ी की पूरी टीम 50 में केवल 227 रन ही बना पायी।

युजवेंद्र चहल ने आज जबरदस्त स्पिन गेंदबाज़ी करते हुए 4 खिलाड़ियों को आउट किया। जो दबाव पहले 10 ओवर में बुमराह और कुमार ने बनाया था उसको चहल ने न सिर्फ बरक़रार रखा बल्कि उसे और बढ़ा दिया दिया और एक के बाद एक साउथ अफ्रीका के 4 खिलाड़ियों को आउट किया । चहल की गेंदबाज़ी ने अफ्रीकन टीम की बल्लेबाज़ी की ऐसी कमर तोड़ी की पूरी टीम 50 में केवल 227 रन ही बना पायी।

रोहित शर्मा भारतीय क्रिकेट टीम के "द हिटमैन" कहलाये जाने वाले बल्लेबाज़ ने एक बार फिर अपना जलवा आज के मैच में दिखाया। भारतीय टीम के दूसरे सलामी बल्लेबाज़ शिखर धवन के मात्र आठ रन पर आउट होते ही टीम पर दबाव आगया। उसके बाद कप्तान कोहली और के एल राहुल भी कुछ खास नहीं कर पाए और टीम पर दबाव बनता रहा। लेकिन रोहित शर्मा दूसरे छोर से डेट रहे और एक शानदार पारी खेली और मैच के आखरी तक मैदान में खड़े रहे। आज के  मैच में रोहित शर्मा ने शानदार शतक जड़ते हुए टीम को ये मैच आसानी से जीता दिया। उन्होंने 144 गेंदों का सामना करते हुए 13 चौकों और 2 छक्कों की मद्दद से 122 रनों की नाबाद पारी खेली। और इसी के साथ इस विश्व कप में वो भारत की तरफ से शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज़ रहे।

रोहित शर्मा भारतीय क्रिकेट टीम के "द हिटमैन" कहलाये जाने वाले बल्लेबाज़ ने एक बार फिर अपना जलवा आज के मैच में दिखाया। भारतीय टीम के दूसरे सलामी बल्लेबाज़ शिखर धवन के मात्र आठ रन पर आउट होते ही टीम पर दबाव आगया। उसके बाद कप्तान कोहली और के एल राहुल भी कुछ खास नहीं कर पाए और टीम पर दबाव बनता रहा। लेकिन रोहित शर्मा दूसरे छोर से डेट रहे और एक शानदार पारी खेली और मैच के आखरी तक मैदान में खड़े रहे। आज के मैच में रोहित शर्मा ने शानदार शतक जड़ते हुए टीम को ये मैच आसानी से जीता दिया। उन्होंने 144 गेंदों का सामना करते हुए 13 चौकों और 2 छक्कों की मद्दद से 122 रनों की नाबाद पारी खेली। और इसी के साथ इस विश्व कप में वो भारत की तरफ से शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज़ रहे।

महेंद्र सिंह धोनी ने ये बात साबित कर दी कि वो टीम के लिए अहम हिस्सा हैं। जिसतरह से वर्ल्ड कप से पहले उनके चयन  पर कई सवाल सवाल उठे थे लेकिन उन्होंने किसी की भी परवाह किये बिना हमेशा से ही अपने खेल के जरिये सबका मुँह बंद किया है। उनकी कप्तानी के अनुभव का फायदा मैदान में विराट कोहली को तो मिलता ही है साथ ही साथ उनके जैसा फुर्तीला और समझदार विकेट कीपर मौजूदा क्रिकेट में दूसरा कोई नहीं है। जितना उम्दा वो विकेट के पीछे कीपिंग करते हैं उसे भी ज़्यादा उम्दा वो गेंदबाज़ो को समय-समय पर गेंदबाज़ी के टिप्स देते हैं जो बिलकुल सटीक होते हैं। बैटिंग में भी वो मैच विनर कहलाते हैं। आज उन्होंने जिसतरह से विकेट के दूसरे छोर पर खड़े रहकर रोहित शर्मा का साथ दिया वो ये बात फिर से साबित करता है कि टीम में सीनियर प्लेयर का होना टीम के लिए रीढ़ की हड्डी का काम करता है। और आज उन्होंने रोहित का साथ निभाते हुए 46 गेंदों में 34 रन की अहम पारी खेली। जिसकी वजह से भारत 6 विकेट से ये मैच जीत पाया।

महेंद्र सिंह धोनी ने ये बात साबित कर दी कि वो टीम के लिए अहम हिस्सा हैं। जिसतरह से वर्ल्ड कप से पहले उनके चयन पर कई सवाल सवाल उठे थे लेकिन उन्होंने किसी की भी परवाह किये बिना हमेशा से ही अपने खेल के जरिये सबका मुँह बंद किया है। उनकी कप्तानी के अनुभव का फायदा मैदान में विराट कोहली को तो मिलता ही है साथ ही साथ उनके जैसा फुर्तीला और समझदार विकेट कीपर मौजूदा क्रिकेट में दूसरा कोई नहीं है। जितना उम्दा वो विकेट के पीछे कीपिंग करते हैं उसे भी ज़्यादा उम्दा वो गेंदबाज़ो को समय-समय पर गेंदबाज़ी के टिप्स देते हैं जो बिलकुल सटीक होते हैं। बैटिंग में भी वो मैच विनर कहलाते हैं। आज उन्होंने जिसतरह से विकेट के दूसरे छोर पर खड़े रहकर रोहित शर्मा का साथ दिया वो ये बात फिर से साबित करता है कि टीम में सीनियर प्लेयर का होना टीम के लिए रीढ़ की हड्डी का काम करता है। और आज उन्होंने रोहित का साथ निभाते हुए 46 गेंदों में 34 रन की अहम पारी खेली। जिसकी वजह से भारत 6 विकेट से ये मैच जीत पाया।

loader