पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्या केस में राम रहीम दोषी करार

https://static.asianetnews.com/images/authors/bff11d14-81b3-52a9-a94b-86431321f9f4.jpg
First Published 11, Jan 2019, 11:05 AM IST
decision on journalist murder case today in Ram Rahim
Highlights

सीबीआई कोर्ट ने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत सिंह राम रहीम को दोषी करार दिया है। राम रहीम के साथ तीन और आरोपी दोषी करार दिए गए हैं। इस मामले में 17 जनवरी को सजा ऐलान होगा। 

पंचकुला--डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम के खिलाफ चल रहे पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के मामले में आज पंचकुला की स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने फैसला सुना दिया है।

 सीबीआई कोर्ट ने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत सिंह राम रहीम को दोषी करार दिया है। राम रहीम के साथ तीन और आरोपी दोषी करार दिए गए हैं।

इस मामले में 17 जनवरी को सजा ऐलान होगा। रेप के मामले रोहतक की सुनारिया जेल में बंद डेरा प्रमुख गुरमीत सिंह राम रहीम की पेशी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हुई। पिछली बार हुई हिंसा को देखते हुए पुलिस ने पहले से तैयार थी।

सुनारिया जेल और विशेष सीबीआई अदालत के बाहर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। पंजाब और हरियाणा पुलिस ने अलर्ट जारी किया है।

पहले पुलिस गुरमीत सिंह राम रहीम की कोर्ट में पेशी को लेकर परेशान थी। बाद में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही इस मामले में उसे पेश करने का आदेश जारी किया गया।

पुलिस को डर था कि अगर गुरमीत सिंह राम रहीम को पंचकुला की स्पेशल सीबीआई कोर्ट में पेश किया गया तो ऐसे में कानून-व्यवस्था बिगड़ सकती है। डेरा समर्थक बेकाबू हो सकते हैं। इसी के चलते हरियाणा सरकार ने पंचकुला की स्पेशल सीबीआई कोर्ट में अपील की थी। जिसे कोर्ट ने मान लिया।

पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड 16 साल पुराना है। दरअसल, 2002 में पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। वो लगातार अपने समाचार पत्र में डेरे में होने वाले अनर्थ से जुड़ी ख़बरों को छाप रहे थे। पत्रकार के परिवार ने इस संबंध में मामला दर्ज कराया था।

उनकी याचिका पर अदालत ने इस हत्याकांड की जांच नवंबर 2003 को सीबीआई के हवाले कर दी थी। 2007 में सीबीआई ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करते हुए डेरा मुखी गुरमीत सिंह राम रहीम को हत्या की साजिश रचने का आरोपी माना था।
 

loader