बालाकोट हवाई हमलाः एयर चीफ बोले, हमने टॉरगेट हिट किया, हमले के बाद लाशें नहीं गिनते

https://static.asianetnews.com/images/authors/bff11d14-81b3-52a9-a94b-86431321f9f4.jpg
First Published 4, Mar 2019, 1:56 PM IST
IAF doesn't count human casualties, counts targets hit says Air Chief Marshal BS Dhanoa on Balakot air strike
Highlights

वायुसेना के प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने यह भी साफ कर दिया कि विंग कमांडर अभिनंदन का फिर से लड़ाकू विमान उड़ाना उनकी मेडिकल फिटनेस पर निर्भर करता है। 

पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े ट्रेनिंग कैंप पर हवाई हमलों को लेकर विपक्षी पार्टियों द्वारा उठाए जा रहे सवालों के बीच वायुसेना ने साफ कर दिया है कि भारतीय लड़ाकू विमानों ने सटीक निशानों पर लक्ष्य गिराए हैं। इस हमले के बाद पहली प्रेस वार्ता के दौरान वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने साफ किया कि एयरफोर्स ने सफलतापूर्वक लक्ष्य भेदा। इसके साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि पाकिस्तानी एफ-16 विमानों को खदेड़ने के लिए मिग-21 बाइसन का इस्तेमाल क्यों किया गया। एयर चीफ मार्शल धनोआ ने यह भी साफ कर दिया कि विंग कमांडर अभिनंदन का फिर से लड़ाकू विमान उड़ाना उनकी फिटनेस पर निर्भर करता है। 

जब वायुसेना प्रमुख धनोआ से सवाल किया गया कि पाकिस्तान अब भी बालाकोट में आतंकी ठिकानों को निशाना बनाए जाने की बात खारिज कर रहा है, तो उन्होंने कहा कि, 'अगर हमने टॉरगेट हिट करने का प्लान बनाया था, तो हमने यह पूरा किया है।' हवाई हमले में आतंवादियों की मौत से जुड़े सवाल पर एयरचीफ मार्शल ने कहा, 'हम टॉरगेट हिट करते हैं, शवों को नहीं गिनते। हम सिर्फ यह देखते हैं कि टॉरगेट हिट किया है नहीं और हमने टॉरगेट को हिट किया है।' 

जब उनसे पूछा गया कि एफ-16 से हुए हमले को नाकाम करने के लिए मिग-21 बाइसन का इस्तेमाल क्यों किया गया, तो उन्होंने कहा, 'क्यों नहीं करेंगे...मैं चल रहे ऑपरेशन के बारे में टिप्पणी नहीं कर सकता। ...ऑपरेशन अब भी जारी है।' धनोआ ने कहा कि मिग 21 बाइसन अपग्रेड विमान है और हम अपने सभी उपलब्ध विमानों का इस्तेमाल करेंगे। उन्होंने कहा, 'मिग-21 बाइसन एक अच्छा विमान है, उसे अपग्रेड किया गया है। वह बेहतर रडार, हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइलों और बेहतर हथियार प्रणाली से लैस है। उसे अपग्रेड कर 3.5 जनरेशन का कर दिया गया है...हम अपने पास मौजूद सभी विमानों का इस्तेमाल करेंगे।' उन्होंने कहा कि किसी ऑपरेशन में आप योजना बनाते हैं कि कैसे करेंगे, लेकिन दुश्मन की कार्रवाई का जवाब देते समय जो विमान उपलब्ध होता है, उसी का इस्तेमाल किया जाता है। 

जब उनसे पूछा गया कि विंग कमांडर अभिनंदन फिर से कब लड़ाकू विमान उड़ा सकेंगे? इस पर वायुसेना प्रमुख ने कहा, यह उनकी मेडिकल फिटनेस पर निर्भर करता है। एक बार जब मेडिकल फिटनेस मिल जाएगी...वह विमान उड़ा सकेंगे। 
 

loader