एडिलेड टेस्ट में पुजारा के शतक ने लाज बचाई, पहले दिन भारत के नौ विकेट 250 रन

First Published 6, Dec 2018, 5:17 PM IST
Cheteshwar Pujara-inspired India reach 250 for four at stumps on day one of Adelaide Test against Australia
Highlights

टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले दिन अपना स्‍कोर 9 विकेट खोकर 250 रन तक पहुंचाने में सफल रही। पुजारा के अलावा भारत का कोई भी बल्लेबाज ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों का सामना नहीं कर सका। पुजारा ने 246 गेंद में सात चौकों और दो छक्कों की मदद से 123 रन बनाए। 

मध्यक्रम के बल्लेबाज चेतेश्‍वर पुजारा की शतकीय पारी (123 रन) की बदौलत शुरुआत से लड़खड़ाती नजर आ रही भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले दिन अपना स्‍कोर 9 विकेट खोकर 250 रन तक पहुंचाने में सफल रही। पुजारा के अलावा भारत का कोई भी बल्लेबाज पहले टेस्ट के शुरूआती दिन ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों का सामना नहीं कर सका। 

ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर पहली बार टेस्ट श्रृंखला जीतने के इरादे से आई भारतीय टीम को पहले ही दिन अहसास हो गया कि यह चुनौती उसके लिये टेढ़ी खीर है। स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर की गैर मौजूदगी में कमजोर मानी जा रही आस्ट्रेलियाई टीम के गेंदबाजों ने दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजी क्रम की चूलें हिलाकर दिखा दिया कि उसे उसकी धरती पर हराना इतना कठिन क्यों है । 

एडिलेड ओवल की सपाट पिच पर भारत के लिएराहत का सबब पुजारा की शतकीय पारी रही जिन्होंने 246 गेंद में सात चौकों और दो छक्कों की मदद से 123 रन बनाए। वह दिन की आखिरी गेंद पर रन आउट हुए। अपना 16वां टेस्ट शतक जमाने वाले पुजारा ने एक छोर नहीं संभाला होता तो भारतीय टीम 200 रन तक भी नहीं पहुंच पाती। पुजारा ने इसके साथ ही टेस्ट क्रिकेट में 5000 रन भी पूरे कर लिए। 

ऑस्ट्रेलिया के लिए मिशेल स्टार्क, जोश हेजलवुड, पैट कमिंस और नाथन लियोन ने दो दो विकेट लिए। ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने तो अपना काम किया है लेकिन भारत के शीर्षक्रम के बल्लेबाजों ने भी गैर जिम्मेदाराना शाट खेलकर उनकी मदद करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। इसके अलावा आस्ट्रेलिया की फील्डिंग और कैचिंग जबर्दस्त रही, खासकर विराट कोहली का उस्मान ख्वाजा ने दर्शनीय कैच लपका। ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज इस कदर सटीक थे कि पूरे 87.5 ओवर में उन्होंने मात्र एक अतिरिक्त रन लेगबाय के रूप में दिया। 

भारत ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया । हनुमा विहारी को बाहर रखकर छठे बल्लेबाज के तौर पर रोहित शर्मा को टीम में जगह दी गई। ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिये मार्कस हैरिस ने टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया। 

भारत ने लंच तक चार विकेट 56 रन पर गंवा दिए थे। जोश हेजलवुड ने 28 रन देकर दो विकेट लिए और ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाजों ने नई कूकाबूरा गेंद से नियमित अंतराल पर विकेट चटकाए। पहले सत्र के 27 ओवर में भारतीय शीर्षक्रम क्रीज पर पैर जमा ही नहीं सका।

सलामी बल्लेबाज केएल राहुल (दो) के पास ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की रफ्तार का कोई जवाब नहीं था। वह दूसरे ओवर में गैर जिम्मेदाराना शाट खेलकर तीसरी स्लिप में हेजलवुड को कैच दे बैठे। मुरली विजय (11) बेहतर दिख रहे थे लेकिन रनगति बढाने के प्रयास में विकेट गंवा बैठे। सातवें ओवर में विजय ने स्टार्क को कवर ड्राइव लगाने की कोशिश की लेकिन चूके और विकेट के पीछे टिम पेन को कैच दे दिया।

इसके बाद कप्तान विराट कोहली क्रीज पर आए जो आत्मविश्वास से भरे दिखे। वह भी हालांकि कोई कमाल नहीं कर पाए और पैट कमिंस की गेंद पर उस्मान ख्वाजा ने अपनी बायीं ओर डाइव लगाकर उनका शानदार कैच लपका। 

उस समय भारत का स्कोर 11 ओवर में तीन विकेट पर 19 रन था । पुजारा और अजिंक्य रहाणे (13) ने 59 गेंदों में 22 रन जोड़े। रहाणे को नाथन लियोन को खेलने में काफी दिक्कत हुई जो ड्रिंक्स ब्रेक के बाद गेंदबाजी के लिए आए। रहाणे ने लियोन को उसके दूसरे ओवर में लांग आन पर छक्का लगाया। 

रहाणे 21वें ओवर में हेजलवुड का शिकार हुए । पुजारा और रोहित ने भारत को 25वें ओवर में 50 रन के पार पहुंचाया। एक समय पर भारत का स्कोर 38 ओवर में पांच विकेट पर 86 रन था। 

लंच के बाद पुजारा और रोहित शर्मा ने अच्छी शुरूआत की और पांचवें विकेट के लिए 45 रन जोड़े। पुजारा एक छोर पर दृढ होकर बल्लेबाजी कर रहे थे जबकि रोहित दूसरी ओर आक्रामक लग रहे थे। रोहित ने पैट कमिंस को दो छक्के भी लगाए। इसके बाद नाथन लियोन को 38वें ओवर की दूसरी गेंद पर छक्का जड़ा। गेंद मार्कस हैरिस के हाथ में थी लेकिन वह सीमा को लांघ गए थे लिहाजा अंपायर ने दोनों हाथ ऊपर उठा दिए। 

इसके बाद भी रोहित ने सबक नहीं लेते हुए अगली ही गेंद पर फिर ऊंचा शाट खेला और डीप में लपके गए। ऋषभ पंत भी आक्रामक तेवर लेकर ही उतरे थे और कुछ गेंद खेलकर ही दो चौके और एक छक्का जड़ डाला। पुजारा ने उन्हें संयम के साथ खेलने की ताकीद की। दोनों ने छठे विकेट के लिये 41 रन जोड़कर भारत को 41वें ओवर में 100 रन के पार पहुंचाया। पंत सहज नहीं लग रहे थे और चाय के ठीक पहले लियोन की गेंद पर विकेट के पीछे कैच देकर आउट हुए। 

इसके बाद पुजारा और अश्विन (25) ने सातवें विकेट के लिये 62 रन की साझेदारी करके टीम को 200 रन के पास पहुंचाया। अश्विन के आउट होने के बाद ईशांत शर्मा क्रीज पर आए और चार रन बनाकर कमिंस का शिकार हुए। इस बीच पुजारा ने 84वें ओवर में हेजलवुड को एक चौका और एक छक्का लगाकर अपने हाथ खोले। अगले ओवर में स्टार्क की गेंद पर दो रन लेकर उन्होंने अपना शतक पूरा किया।

उन्होंने 87वें ओवर में कमिंस को भी एक चौका और एक छक्का लगाया लेकिन अगले ओवर की आखिरी गेंद पर तेजी से रन लेने के प्रयास में अपना विकेट गंवा बैठे। वह मिडआन पर शाट खेलकर दूसरा रन लेने के लिए भागे लेकिन कमिंस के सटीक सीधे थ्रो पर रन आउट हो गए। 
 

loader