भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 137 रन से हराया, सीरीज में 2-1 की बढ़त

https://static.asianetnews.com/images/authors/bff11d14-81b3-52a9-a94b-86431321f9f4.jpg
First Published 30, Dec 2018, 10:39 AM IST
India beat Australia by 137 runs in third test, retain Border-Gavaskar Trophy
Highlights

भारत के 399 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलिया की टीम लंच के बाद के सत्र में 261 रन पर ढेर हो गई। मैच में 86 रन देकर नौ विकेट चटकाने वाले  बुमराह  बने मैन ऑफ द मैच। 

भारत ने सात दशक में ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर पहली टेस्ट सीरीज जीतने की ओर मजबूत कदम बढ़ा दिया है। रविवार को तीसरे क्रिकेट टेस्ट के पांचवें और अंतिम दिन जीत की जरूरी औपचारिकता पूरी करते हुए ऑस्ट्रेलिया को 137 रन से हरा दिया। भारत के 399 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलिया की टीम लंच के बाद के सत्र में 261 रन पर ढेर हो गई। बारिश के कारण सुबह के सत्र में एक भी गेंद नहीं फेंकी जा सकी। इसके साथ ही टीम इंडिया ने बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी अपने पास बरकरार रखी। 

भारत ने चार मैचों की सीरीज में 2-1 की अजेय बढ़त बना ली है। अगर सिडनी में सीरीज बराबर भी हो जाती है तो बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी भारत के पास बरकरार रहेगी क्योंकि उसने 2017 में दोनों टीमों के बीच पिछली घरेलू सीरीज जीती थी। 

भारत ने अंतिम दिन सिर्फ 4 . 3 ओवर में बाकी बचे दो विकेट चटका दिए। जसप्रीत बुमराह (53 रन पर तीन विकेट) और इशांत शर्मा (40 रन पर दो विकेट) ने अंतिम दिन बाकी बचे दो विकेट चटकाकर भारत को 150वीं टेस्ट जीत दिलाई। बुमराह ने मैच में 86 रन देकर नौ विकेट चटकाए जिसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। रविंद्र जडेजा ने भी 82 रन देकर तीन जबकि मोहम्मद शमी ने 71 रन देकर दो विकेट चटकाए।

ऑस्ट्रेलिया ने दिन की शुरुआत आठ विकेट पर 258 रन से की। दूसरे सत्र में खेल शुरू होने पर बुमराह ने चौथे ओवर में कमिंस को दूसरी स्लिप में चेतेश्वर पुजारा के हाथों कैच कराया जबकि अगले ओवर में इशांत ने नाथन लियोन (07) को विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों कैच कराके भारत को जीत दिलाई। लियोन के रूप में पंत ने सीरीज में 20वां शिकार बनाया। वह किसी टेस्ट श्रृंखला में भारत की ओर से सबसे सफल विकेटकीपर बन गए हैं।

पंत ने नरेन तम्हाने और सैयद किरमानी का रिकॉर्ड तोड़ा। इन दोनों के ही नाम पर किसी श्रृंखला में सर्वाधिक 19-19 विकेट दर्ज थे। तम्हाने ने पाकिस्तान के खिलाफ 1954-55 में पांच मैचों की श्रृंखला जबकि किरमानी ने भी पाकिस्तान के खिलाफ ही 1979-80 में छह मैचों की सीरीज के दौरान यह उपलब्धि हासिल की थी।

विराट कोहली ने भारतीय कप्तान के रूप में 45वें मैच में टीम की अगुआई करते हुए 26वीं जीत दर्ज की। भारतीय कप्तान के रूप में उनके अधिक जीत अब सिर्फ महेंद्र सिंह धोनी के नाम पर दर्ज है जिनकी अगुआई में भारत ने 60 टेस्ट खेले और इनमें से टीम 27 मैचों में जीत दर्ज करने में सफल रही।

कोहली की कप्तानी में विदेशी सरजमीं पर यह भारत की 11वीं जीत है। इस जीत के साथ कोहली ने सौरव गांगुली के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली जिनकी अगुआई में भारत ने विदेशी सरजमीं पर इससे पहले सर्वाधिक 11 टेस्ट जीते थे।

भारत की 150वीं टेस्ट जीत

भारत 150 टेस्ट जीत के आंकड़े को छूने वाला पांचवां देश है। टीम ने अपने 532वें टेस्ट में 150वीं जीत दर्ज की। भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया (384), इंग्लैंड (364), वेस्टइंडीज (171) और दक्षिण अफ्रीका (162) यह उपलब्धि हासिल कर चुके हैं। ऑस्ट्रेलिया की यह टेस्ट क्रिकेट में 222वीं हार है और उससे अधिक हार सिर्फ इंग्लैंड (298) के नाम पर दर्ज हैं। भारत एमसीजी पर 37 बरस बाद जीत दर्ज करने में सफल रहा। इससे पहले टीम ने 1980-81 में सुनील गावस्कर की अगुआई में ग्रेग चैपल की टीम को एमसीजी पर हराया था।

आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे पैट कमिंस ने अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेलते हुए 63 रन बनाए। शॉन मार्श (44), ट्रेविस हेड (34), उस्मान ख्वाजा (33) और टिम पेन (26) अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलने में नाकाम रहे। मैच के अंतिम दिन सुबह के सत्र में बारिश के कारण एक भी गेंद नहीं फेंकी जा सकी। 
 

loader