भारत को मिले 8 लड़ाकू अपाचे हेलीकॉप्टर, जानिए क्या है इसकी खासियतें

First Published 3, Sep 2019, 3:12 PM IST

भारतीय वायुसेना की ताकत मे जबरदस्त इजाफा हो गया है। वायुसेना के बेड़े में आठ अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर शामिल हो गए हैं।  इससे भारतीय वायुसेना और भी घातक हो जाएगी। आईए आपको बताते हैं क्या है अपाचे की खासियतें-
 

अपाचे हेलीकॉप्टर को उड़ाने के लिए दो पायलटों का होना जरूरी है।

अपाचे हेलीकॉप्टर को उड़ाने के लिए दो पायलटों का होना जरूरी है।

अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर करीब 16 फुट ऊंचा और 18 फुट चौड़ा है।

अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर करीब 16 फुट ऊंचा और 18 फुट चौड़ा है।

भारतीय वायुसेना में अपाचे पहला ऐसा हेलीकॉप्‍टर है जो मुख्य रूप से हमला करने का काम करेगा।

भारतीय वायुसेना में अपाचे पहला ऐसा हेलीकॉप्‍टर है जो मुख्य रूप से हमला करने का काम करेगा।

अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर दुश्‍मन की किलेबंदी को भेदकर और उसकी सीमा में घुसकर हमला करने में सक्षम है।

अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर दुश्‍मन की किलेबंदी को भेदकर और उसकी सीमा में घुसकर हमला करने में सक्षम है।

यह हेलिकॉप्टर 300 किमी प्रति घंटा उड़ सकता है और एजीएम-114 हेलिफायर मिसाइल से लैस है।

यह हेलिकॉप्टर 300 किमी प्रति घंटा उड़ सकता है और एजीएम-114 हेलिफायर मिसाइल से लैस है।

ये अपाचे हेलीकॉप्टर्स दिन रात और किसी भी मौसम में ऑपरेशन कर सकते हैं।

ये अपाचे हेलीकॉप्टर्स दिन रात और किसी भी मौसम में ऑपरेशन कर सकते हैं।

अपाचे एक बार में पौने तीन घंटे तक उड़ सकता है।

अपाचे एक बार में पौने तीन घंटे तक उड़ सकता है।

अपाचे हेलीकॉप्टर को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि इसे रडार पर पकड़ना मुश्किल हो सकता है।

अपाचे हेलीकॉप्टर को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि इसे रडार पर पकड़ना मुश्किल हो सकता है।

हेलीकॉप्टर में लगे रायफल में एक बार में 30 एमएम की 1,200 गोलियां भरी जा सकती हैं।

हेलीकॉप्टर में लगे रायफल में एक बार में 30 एमएम की 1,200 गोलियां भरी जा सकती हैं।

अपाचे में 16 एंटी टैंक मिसाइल छोड़ने की क्षमता है।

अपाचे में 16 एंटी टैंक मिसाइल छोड़ने की क्षमता है।

अपाचे हेलीकॉप्टर करीब 300 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ़्तार से उड़ान भर सकता है और दुश्मन के इलाके में जाकर ये अपने टार्गेट को आसानी से खत्म कर सकता है।

अपाचे हेलीकॉप्टर करीब 300 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ़्तार से उड़ान भर सकता है और दुश्मन के इलाके में जाकर ये अपने टार्गेट को आसानी से खत्म कर सकता है।

इससे दुश्मन के आतंकियों के ट्रेनिंग कैंप  से टैंक तक तबाह किये जा सकते है. इसका निशाना अचूक माना जाता है

इससे दुश्मन के आतंकियों के ट्रेनिंग कैंप से टैंक तक तबाह किये जा सकते है. इसका निशाना अचूक माना जाता है

यह हेलिकॉप्टर 365 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से उड़ सकता है। इसमें एजीएम-114 हेलिफायर मिसाइल भी तैनात होती है।

यह हेलिकॉप्टर 365 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से उड़ सकता है। इसमें एजीएम-114 हेलिफायर मिसाइल भी तैनात होती है।

loader