देश

undefined
क्या चीन के साथ छोड़ने के बाद बढ़ेंगी पाकिस्तान की मुश्किलें?

क्या चीन के साथ छोड़ने के बाद बढ़ेंगी पाकिस्तान की मुश्किलें?

नमस्कार स्वागत है आपका माय नेशन में, मेरा नाम है अमल चौधरी और आज हम बात करेंगे एफएटीएफ के उस फैसले की जिसमें पाकिस्तान को फिलहाल उसकी ग्रे लिस्ट में रखने का फैसला किया गया है. आतंकवाद के खिलाफ ठोस कार्रवाई न करने वाले पाकिस्तान का साथ उसके सदाबहार दोस्त चीन ने भी छोड़ दिया है। पेरिस में चल रही फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) की मीटिंग में चीन ने भारत, अमेरिका, सऊदी अरब और यूरोपीय देशों का साथ दिया। इन सभी देशों ने एक सुर में पाकिस्तान से कहा कि उसे टेरर फंडिंग और आतंकी सरगनाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी ही होगी। यह जानकारी मीडिया रिपोर्ट्स में सामने आई। अब यह तय हो चुका है कि पाकिस्तान एफएटीएफ की ग्रे लिस्ट में ही रहेगा। इसकी औपचारिक घोषणा आज यानी गुरुवार को की जा सकती है।

undefined
Will Pakistan go to FATFs Black list
undefined
US President Donald Trump is scheduled to come to India on 24th February
Kamalnath withdraw Security from rss Headquarter, Digvijay Singh Request To CM to Restore it
undefined
What the world government is doing to stop coronavirus
Former Prime Minister Manmohan Singh shows his finger marked with indelible ink after casting his vote at a polling station during the Delhi Assembly election, in New Delhi on Saturday.
undefined
undefined
Tejaswi will prepare to make Akhilesh and Lalu soft!
undefined
Cyber criminals from Indore were taking your hard earned money from banks
undefined
Amit Shah admits that BJP leaders made mistakes during Delhi Elections
undefined
One year to Pulwama terror attack
undefined
Will the rates of medicine in India will increase due to coronavirus
undefined
Mumbai attack mastermind Hafiz Saeed  jailed by Pakistan court
undefined
undefined
A man kills himself after he thinks he is infected with coronavirus in Andhra Pradesh
undefined
Pakistan scientist Pervez Hoodbhoy criticises Muhammad Ali Jinnah
undefined
Arvind Kejriwal Aam Aadmi Party wins Delhi Elections 2020
आम आदमी पार्टी को दिल्ली विधानसभा चुनाव में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए किशोर ने AAP को "गारंटी कार्ड" योजना का आइडिया दिया। जिसमें जनता के लिए ढेरों मूलभूत चीजों को मुफ्त मुहैया करवाने का वादा किया गया है।
undefined
Suspects of coronavirus admitted in RML hospital in Delhi
undefined
undefined
Supreme Court gives a major verdict on SC ST Act
undefined
How Bangladesh U-19 Cricketers Fought With Indian Players After The Final
The Citizenship Amendment Bill passed by both the Houses of Parliament, followed by the President’s approval, led to extensive protests across the country. The Bill, now an Act, proposes to grant Indian citizenship to Hindu, Buddhist, Jain, Sikh and Christian minorities who took refuge in India after facing persecution in Bangladesh, Pakistan and Afghanistan.
Supreme Court  said,Reservation for promotion is not a fundamental right of anyone kps
undefined