प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वतंत्रता दिवस भाषण की प्रमुख बातें

First Published 15, Aug 2019, 9:15 AM IST

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज लाल किले की प्राचीर से स्वतंत्रता दिवस पर पूरे देश को संबोधित किया। आईए आपको बताते हैं प्रधानमंत्री के भाषण की कुछ प्रमुख बातें-

देश में अब तीनों सेनाओं का एक प्रमुख होगा (आज मैं एक महत्वपूर्ण घोषणा करता हूं। चीफ ऑफ डिफेंस (सीडीएस) की घोषणा करता हूं। इससे तीनों सेवाओं को एक महत्वपूर्ण पद मिलेगा। सैन्य शक्तियों में सामंजस्य की जरूरत है। तीनों सेनाओं का एक प्रमुख होगा।) लाल किले की प्राचीर से पीएम मोदी

देश में अब तीनों सेनाओं का एक प्रमुख होगा (आज मैं एक महत्वपूर्ण घोषणा करता हूं। चीफ ऑफ डिफेंस (सीडीएस) की घोषणा करता हूं। इससे तीनों सेवाओं को एक महत्वपूर्ण पद मिलेगा। सैन्य शक्तियों में सामंजस्य की जरूरत है। तीनों सेनाओं का एक प्रमुख होगा।) लाल किले की प्राचीर से पीएम मोदी

मंहगाई को कंट्रोल करते हुए हम विकास दर को बढ़ाते हुए चले हैं। यह सरकार ने मंहगाई को कंट्रोल भी किया और आर्थिक विकास दर को भी बनाए रखा। जीएसटी जैसा कानून बनाना एक नया सपना पैदा करता है। हम सिर्फ बाजार न बनें, बल्कि दुनिया के बाजार में पहुंचें भी। देश के उत्पाद को दुनिया के बाजार तक पहुंचाना है। हमारी विविधता से दुनिया को परिचित कराना होगा- पीएम मोदी

मंहगाई को कंट्रोल करते हुए हम विकास दर को बढ़ाते हुए चले हैं। यह सरकार ने मंहगाई को कंट्रोल भी किया और आर्थिक विकास दर को भी बनाए रखा। जीएसटी जैसा कानून बनाना एक नया सपना पैदा करता है। हम सिर्फ बाजार न बनें, बल्कि दुनिया के बाजार में पहुंचें भी। देश के उत्पाद को दुनिया के बाजार तक पहुंचाना है। हमारी विविधता से दुनिया को परिचित कराना होगा- पीएम मोदी

5 ट्रिलियन इकॉनमी लोगों को मुश्किल लग सकती है, लेकिन काम नहीं करेंगे तो देश कैसे चलेगा आजादी के 70 सालों में देश 2 ट्रिलियन इकनॉमी तक पहुंचा। 5 साल में हम 2 से 3 ट्रिलियन इकॉनमी तक पहुंचे हैं। हमने ऊंचा लक्ष्य रखा है। हमारे हर जिले में दुनिया के एक-एक देश की ताकत है- पीएम मोदी

5 ट्रिलियन इकॉनमी लोगों को मुश्किल लग सकती है, लेकिन काम नहीं करेंगे तो देश कैसे चलेगा आजादी के 70 सालों में देश 2 ट्रिलियन इकनॉमी तक पहुंचा। 5 साल में हम 2 से 3 ट्रिलियन इकॉनमी तक पहुंचे हैं। हमने ऊंचा लक्ष्य रखा है। हमारे हर जिले में दुनिया के एक-एक देश की ताकत है- पीएम मोदी

आज नागरिक ट्रेन नहीं, वंदे मातरम एक्सप्रेस मांगते हैं। आज जनता बिजली के तार नहीं ये पूछती है कि 24 घंटे बिजली कब आएगी। आकांक्षी भारत के लिए जागरूकता सबसे बड़ी बात है। हम सब मिलकर देश के लिए सोचते हैं- पीएम मोदी

आज नागरिक ट्रेन नहीं, वंदे मातरम एक्सप्रेस मांगते हैं। आज जनता बिजली के तार नहीं ये पूछती है कि 24 घंटे बिजली कब आएगी। आकांक्षी भारत के लिए जागरूकता सबसे बड़ी बात है। हम सब मिलकर देश के लिए सोचते हैं- पीएम मोदी

35 ए को हटाने के लिए कोई प्रखर रूप से तो कोई मूक रूप से समर्थन देता रहा है। चुनाव के तराजू से तोलने वाले लोग 370 को लेकर कुछ ना कुछ कहते रहते हैं। जो लोग 370 के पक्ष में पूछ रहा है कि यदि ये आर्टिकल 370 इतना महत्वपूर्ण था तो 70 साल तक आप लोगों ने उसे इतना महत्वपूर्ण क्यों बनाया, अस्थायी क्यों बनाया? परमानेंट बना देते। इसका मतलब ये आप भी जानते थे कि जो काम हुआ है वो गलत है लेकिन आप उसे हटाना नहीं चाहते थे। मेरे लिए देश का भविष्य सबसे पहले है राजनितिक भविष्य कुछ नहीं है-  पीएम मोदी

35 ए को हटाने के लिए कोई प्रखर रूप से तो कोई मूक रूप से समर्थन देता रहा है। चुनाव के तराजू से तोलने वाले लोग 370 को लेकर कुछ ना कुछ कहते रहते हैं। जो लोग 370 के पक्ष में पूछ रहा है कि यदि ये आर्टिकल 370 इतना महत्वपूर्ण था तो 70 साल तक आप लोगों ने उसे इतना महत्वपूर्ण क्यों बनाया, अस्थायी क्यों बनाया? परमानेंट बना देते। इसका मतलब ये आप भी जानते थे कि जो काम हुआ है वो गलत है लेकिन आप उसे हटाना नहीं चाहते थे। मेरे लिए देश का भविष्य सबसे पहले है राजनितिक भविष्य कुछ नहीं है- पीएम मोदी

कोई नेता नहीं बल्कि जनता ने चुनाव लड़ा। तीन तलाक से मुस्लिम महिलाएं डरी हुईं थी। तीन तलाक का भय जीने नहीं देता था। हमारी सरकार ने तीन तलाक के खिलाफ कानू बनाया: पीएम मोदी

कोई नेता नहीं बल्कि जनता ने चुनाव लड़ा। तीन तलाक से मुस्लिम महिलाएं डरी हुईं थी। तीन तलाक का भय जीने नहीं देता था। हमारी सरकार ने तीन तलाक के खिलाफ कानू बनाया: पीएम मोदी

loader