राष्ट्रीय त्योहारों को खास बनाती है प्रधानमंत्री की पगड़ी

First Published 15, Aug 2019, 4:19 PM IST

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जब से पदभार संभाला है। तब से हर राष्ट्रीय पर्व पर सबकी निगाहें उनकी पगड़ी पर रहती है। जो कि हर बार एक नए रंग रुप में दिखाई देती है। प्रधानमंत्री ने भारतीय साफे या पगड़ी पहनने की परंपरा को नई पहचान दी है। 
 

इस बार स्वतंत्रता दिवस के जश्न के दौरान प्रधानमंत्री मोदी की पगड़ी बेहद खास रही। प्रधानमंत्री ने इस बार बंधेज की पगड़ी पहनी थी। इस कपड़े की रंगाई हाथ से की जाती है।

इस बार स्वतंत्रता दिवस के जश्न के दौरान प्रधानमंत्री मोदी की पगड़ी बेहद खास रही। प्रधानमंत्री ने इस बार बंधेज की पगड़ी पहनी थी। इस कपड़े की रंगाई हाथ से की जाती है।

यह तस्वीर साल 2017 की है। जब कत्थई और पीले रंग की प्रधानमंत्री की पगड़ी हर तरफ चर्चा का विषय बनी थी।

यह तस्वीर साल 2017 की है। जब कत्थई और पीले रंग की प्रधानमंत्री की पगड़ी हर तरफ चर्चा का विषय बनी थी।

साल 2014 में लाल किले से अपने पहले संबोधन के दौरान पीएम मोदी की पगड़ी कुछ इस तरह हवा में लहरा रही थी। प्रधानमंत्री चुनरी प्रिंट की पगड़ियां विशेष तौर पर पसंद करते हैं।

साल 2014 में लाल किले से अपने पहले संबोधन के दौरान पीएम मोदी की पगड़ी कुछ इस तरह हवा में लहरा रही थी। प्रधानमंत्री चुनरी प्रिंट की पगड़ियां विशेष तौर पर पसंद करते हैं।

2018 के गणतंत्र दिवस पर पीएम नो जो साफा पहना था, उसका रंग पीला, लाल और हरा था। उस समय पीएम मोदी के साफे की लंबाई गणतंत्र दिवस पर उनके द्वारा पहले पहने साफों से थोड़ी ज्यादा लंबी थी।

2018 के गणतंत्र दिवस पर पीएम नो जो साफा पहना था, उसका रंग पीला, लाल और हरा था। उस समय पीएम मोदी के साफे की लंबाई गणतंत्र दिवस पर उनके द्वारा पहले पहने साफों से थोड़ी ज्यादा लंबी थी।

साल 2016 में प्रधानमंत्री ने पीले रंग की पगड़ी पहनी थी।

साल 2016 में प्रधानमंत्री ने पीले रंग की पगड़ी पहनी थी।

वहीं साल 2017 में पीएम मोदी ने गणतंत्र दिवस की परेड के दौरान गुलाबी रंग का साफा पहना था।

वहीं साल 2017 में पीएम मोदी ने गणतंत्र दिवस की परेड के दौरान गुलाबी रंग का साफा पहना था।

जबकि साल 2015 में पीएम मोदी ने चुनरी प्रिंट वाली सतरंगी पगड़ी पहनी थी।

जबकि साल 2015 में पीएम मोदी ने चुनरी प्रिंट वाली सतरंगी पगड़ी पहनी थी।

loader