ये हैं नरेन्द्र मोदी सरकार के 13 बाहुबली, इनपर है सारा दारोमदार

First Published 30, May 2019, 10:07 PM IST

नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से अपने दूसरे कार्यकाल की शपथ गुरुवार को ली। मोदी के साथ उम्मीद के मुताबिक अन्य लोगों ने मंत्री पद की शपथ ली। इनमें कई मंत्री ऐसे हैं जो पिछली मोदी सरकार में भी कैबिनेट में शामिल थे वहीं कुछ नए लोगों को सीधे टॉप मंत्रियों मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में अहम जिम्मेदारी दी गई है। इनमें भाजपा अध्यक्ष अमित शाह है तो पूर्व विदेश मंत्री सुब्रमण्यम जयशंकर भी हैं।  

राजनाथ सिंह:  राजनाथ सिंह ने इस बार लखनऊ से बीजेपी के टिकट पर चुनाव जीता। उन्होंने कांग्रेस के प्रमोद कृष्णम और सपा की पूनम सिन्हा को पराजित किया। राजनाथ सिंह पिछली सरकार में गृहमंत्री थे।

राजनाथ सिंह: राजनाथ सिंह ने इस बार लखनऊ से बीजेपी के टिकट पर चुनाव जीता। उन्होंने कांग्रेस के प्रमोद कृष्णम और सपा की पूनम सिन्हा को पराजित किया। राजनाथ सिंह पिछली सरकार में गृहमंत्री थे।

अमित शाह:  अमित शाह गुजरात के गांधीनगर से सांसद चुने गए हैं। वह बीजेपी के अध्यक्ष हैं। उन्हें पीएम नरेन्द्र मोदी का खासमखास माना जाता है। उन्होंने कांग्रेस के सी जे चावला को साढ़े पांच लाख वोटों से हराया है। इससे पहले अमित शाह राज्यसभा सांसद थे।

अमित शाह: अमित शाह गुजरात के गांधीनगर से सांसद चुने गए हैं। वह बीजेपी के अध्यक्ष हैं। उन्हें पीएम नरेन्द्र मोदी का खासमखास माना जाता है। उन्होंने कांग्रेस के सी जे चावला को साढ़े पांच लाख वोटों से हराया है। इससे पहले अमित शाह राज्यसभा सांसद थे।

नितिन गडकरी: नितिन गडकरी नागपुर से सांसद हैं। उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी नाना पटोले को मात दी। नितिन गडकरी ने पिछली सरकार में सड़क परिवहन और राजमार्ग, जल संसाधन जैसे अहम मंत्रालयों का कार्यभार संभाला।

नितिन गडकरी: नितिन गडकरी नागपुर से सांसद हैं। उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी नाना पटोले को मात दी। नितिन गडकरी ने पिछली सरकार में सड़क परिवहन और राजमार्ग, जल संसाधन जैसे अहम मंत्रालयों का कार्यभार संभाला।

सदानंद गौड़ा डीवी सदानंद गौड़ा कर्नाटक बीजेपी के बड़े नेता हैं। उन्होंने बेंगलुरु उत्तर सीट से कांग्रेस के कृष्णा गौड़ा को हराया है। वह पिछली सरकार में कानून और रेल जैसे अहम मंत्रालयों में राज्यमंत्री के तौर पर काम कर चुके हैं।

सदानंद गौड़ा डीवी सदानंद गौड़ा कर्नाटक बीजेपी के बड़े नेता हैं। उन्होंने बेंगलुरु उत्तर सीट से कांग्रेस के कृष्णा गौड़ा को हराया है। वह पिछली सरकार में कानून और रेल जैसे अहम मंत्रालयों में राज्यमंत्री के तौर पर काम कर चुके हैं।

निर्मला सीतारमण: निर्मला सीतारमण राज्यसभा सांसद हैं। वह पिछली सरकार में रक्षा मंत्री थीं। इससे पहले वह लंबे समय तक बीजेपी प्रवक्ता भी रही हैं। उन्होंने जेएनयू से एमए इकोनॉमिक्स की डिग्री हासिल की है।

निर्मला सीतारमण: निर्मला सीतारमण राज्यसभा सांसद हैं। वह पिछली सरकार में रक्षा मंत्री थीं। इससे पहले वह लंबे समय तक बीजेपी प्रवक्ता भी रही हैं। उन्होंने जेएनयू से एमए इकोनॉमिक्स की डिग्री हासिल की है।

रामविलास पासवान: लोकजनशक्ति पार्टी सुप्रीमो रामविलास पासवान बिहार से राज्यसभा सांसद हैं। उनकी पार्टी ने इस बार बिहार में 6 सीटें जीती हैं। वह पिछली बार भी एनडीए सरकार में खाद्य और आपूर्ति मंत्री थे।

रामविलास पासवान: लोकजनशक्ति पार्टी सुप्रीमो रामविलास पासवान बिहार से राज्यसभा सांसद हैं। उनकी पार्टी ने इस बार बिहार में 6 सीटें जीती हैं। वह पिछली बार भी एनडीए सरकार में खाद्य और आपूर्ति मंत्री थे।

नरेन्द्र सिंह तोमर: नरेन्द्र सिंह तोमर मध्य प्रदेश के मुरैना से लोकसभा सांसद चुने गए हैं। वह पिछली सराकर में ग्रामीण विकास, पंचायती राज, स्वच्छता और पेयजल मंत्री थे।

नरेन्द्र सिंह तोमर: नरेन्द्र सिंह तोमर मध्य प्रदेश के मुरैना से लोकसभा सांसद चुने गए हैं। वह पिछली सराकर में ग्रामीण विकास, पंचायती राज, स्वच्छता और पेयजल मंत्री थे।

रवि शंकर प्रसाद: रविशंकर प्रसाद, पेशे से पत्रकार और पहली मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री को एक बार फिर नरेन्द्र मोदी कैबिनेट में शामिल किया गया. पिछली सरकार में रविशंकर कानून मंत्री के अहम पद पर थे।

रवि शंकर प्रसाद: रविशंकर प्रसाद, पेशे से पत्रकार और पहली मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री को एक बार फिर नरेन्द्र मोदी कैबिनेट में शामिल किया गया. पिछली सरकार में रविशंकर कानून मंत्री के अहम पद पर थे।

हरसिमरत सिंह कौर: पंजाब से शिरोमणि अकाली दल की नेता हरसिमरत कौर बादल, सुखबीर सिंह बादल की पत्नी है। पहली मोदी सरकार में हरसिमरत फूड प्रोसेसिंग मंत्रालय की जिम्मेदारी निभा रही थीं।

हरसिमरत सिंह कौर: पंजाब से शिरोमणि अकाली दल की नेता हरसिमरत कौर बादल, सुखबीर सिंह बादल की पत्नी है। पहली मोदी सरकार में हरसिमरत फूड प्रोसेसिंग मंत्रालय की जिम्मेदारी निभा रही थीं।

थावर चंद गहलौत: मध्यप्रदेश से आने वाले थावर चंद गहलौत पहली मोदी सरकार में सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय की जिम्मेदारी निभा रहे थे।

थावर चंद गहलौत: मध्यप्रदेश से आने वाले थावर चंद गहलौत पहली मोदी सरकार में सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय की जिम्मेदारी निभा रहे थे।

एस जयशंकर: एस जयशंकर मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान 2015 से 2018 तक विदेश सचिव की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। नौकरी से रिटायरमेंट के बाद जयशंकर टाटा समूह के साथ बतौर ग्लोबल कंसल्टेंट काम कर रहे थे। इन्हें मोदी सरकार में बतौर कैबिनेट मंत्री जगह दी गई है।

एस जयशंकर: एस जयशंकर मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान 2015 से 2018 तक विदेश सचिव की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। नौकरी से रिटायरमेंट के बाद जयशंकर टाटा समूह के साथ बतौर ग्लोबल कंसल्टेंट काम कर रहे थे। इन्हें मोदी सरकार में बतौर कैबिनेट मंत्री जगह दी गई है।

अर्जुन मुंडा: झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा को मोदी कैबिनेट में जगह दी गई। मुंडा झारखंड के खूंटी लोकसभा क्षेत्र से चुनाव जीत कर आए हैं और राज्य के विकास में अर्जुन मुंडा का अहम योगदान रहा है। खासबात है कि मुंडा 35 साल की कम उम्र में राज्य  के मुख्यमंत्री बने थे।

अर्जुन मुंडा: झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा को मोदी कैबिनेट में जगह दी गई। मुंडा झारखंड के खूंटी लोकसभा क्षेत्र से चुनाव जीत कर आए हैं और राज्य के विकास में अर्जुन मुंडा का अहम योगदान रहा है। खासबात है कि मुंडा 35 साल की कम उम्र में राज्य के मुख्यमंत्री बने थे।

स्मृति ईरानी: लोकसभा चुनाव के एक दिलचस्प मुकाबले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को चुनाव हराने वाली स्मृति ईरानी पहली मोदी सरकार में भी कद्दावर मंत्री रही हैं। एक बार फिर ईरानी को मोदी सरकार के टॉप मंत्रियों में शामिल किया गया है।

स्मृति ईरानी: लोकसभा चुनाव के एक दिलचस्प मुकाबले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को चुनाव हराने वाली स्मृति ईरानी पहली मोदी सरकार में भी कद्दावर मंत्री रही हैं। एक बार फिर ईरानी को मोदी सरकार के टॉप मंत्रियों में शामिल किया गया है।

loader