इंटेलिजेंस इनपुट के मुताबिक बेहद क्रूर आतंकवादी समूहों में से एक बोको हरम ने 9 आतंकवादियों को उत्तरी नाइजीरिया के जंगलों में भारत में स्कूली बच्चों को चपेट में लेने के लिए तैयार किया है। खुफिया चेतावनी इस बात की भी जारी की गई है कि सैनिक प्रतिष्ठानों को निशाना बनाकर उरी और पठानकोट जैसे आतंकवादी हमले दुहराए जा सकते हैं। बोको हरम ने आतंकवादियों को बकायदा इस बात की ट्रेनिंग दी है। वो आईएसआई और जैश-ए-मोहम्मद के साथ मिलकर भारत में नापाक मंसूबों को अंजाम देने की तैयारी में हैं, अलर्ट इस बात को लेकर भी जारी किया गया है।
बोको हरम अपनी शैतानी करतूतों के कारण पूरे विश्व में कुख्यात है। इसी आतंकवादी संगठन ने नाइजीरिया के चिबोक से 2014 में 276 स्कूली बच्चियों का अपहरण कर लिया था, जिनमें से 100 के करीब छात्राएं अभी भी मिसिंग हैं। यूनिसेफ के मुताबिक खतरनाक आतंकवादियों के गिरोह बोको हरम ने 2013 से अब तक हजार से ज्यादा बच्चों को अगवा किया है और 2 हजार से ज्यादा स्कूली शिक्षकों की हत्या कर दी है।
ताजा जानकारी के मुताबिक आईएसआई की शह पर जैश के आतंकवादी पीओके और पाकिस्तान के आतंकी ट्रेनिंग कैंपो के बजाय उत्तरी और पूर्वोत्तर नाइजीरिया में ट्रेनिंग ले रहे हैं। उन्हें बकायदा शिफ्ट में ट्रेनिंग दी जा रही है। इंटेलिजेंस एजेंसियों के पास इसकी पुख्ता जानकारी है।
भारत सरकार के लिए चिंता की बात ये है कि ये आतंकी ग्रुप देश को निशाना बनाना चाहता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक पिछले दो सालों में ये खतरनाक आतंकी संगठन 10 हजार से ज्यादा लोगों की जान ले चुका है और 300 आतंकवादी हमलों को अंजाम दे चुका है। नाइजीरिया में इन आतंकवादियों ने मिलिट्री ठिकानों को निशाना बनाया है, इनको सुरक्षबलों से लड़ने की ट्रेनिंग दी गई है। इसके अलावा इनके निशाने पर स्कूली छात्र होते हैं।
सरकारी एजेंसियों की एक संवाद के मुताबिक, देश के खुफिया तंत्र ने संबंधित मंत्रालयों को बोको हरम के संभावित खतरे के प्रति अलर्ट किया है। चेतावनी देश की राजधानी दिल्ली और मुंबई के सैन्य ठिकानों और स्कूलों को लेकर दी गई है।
जानकारी के मुताबिक नाइजीरिया में बोको हरम के ट्रेनिंग कैंपो से ट्रेनिंग पाकर कुल 9 आतंकवादी पाकिस्तान पहुंच चुके हैं। इनमें से सात आतंकवादियों का ताल्लुक आकंवादी संगठन आईएसआईएस से है। ये भारत में घुसने की फिराक में हैं। इनके निशाने पर दिल्ली और मुंबई है। ये मछुआरों के रूप में समुद्र के रास्ते भारत में दाखिल हो सकते हैं। दिल्ली में जिन जगहों को इनके खतरे से अलर्ट रहने को कहा गया है, उनमें बीकानेर हाउस, सुपरमार्केट और एयरपोर्ट शामिल हैं।